अचल संपत्तियों को लेकर गहलोत सरकार ने कर्मचारियों को दिया एक और मौका

Ashok Gehlot (File Photo)
Ashok Gehlot (File Photo)

जयपुर Abhayindia.com प्रदेश की गहलोत सरकार ने अपनी अचल संपत्तियों का विवरण 31 अगस्त तक अपलोड नहीं करने वाले राज्य कर्मचारियों को एक और मौका दिया है। अचल संपत्तियों का ब्यौरा देने के लिए सरकार ने अब 30 सितंबर तक तारीख बढ़ा दी है। आपको बता दें कि गहलोत सरकार ने पारदर्शिता लाने के लिए 30 जून को प्रदेश के 8 लाख कर्मचारियों को 31 अगस्त तक राज का सॉफ्टवेयर पर ऑनलाइन अचल संपत्ति का ब्यौरा पेश करने के निर्देश दिए थे। इसके साथ ही हिदायत भी दी थी कि अचल संपत्ति का विवरण नहीं देने वाले कार्मिकों का वार्षिक इंक्रीमेंट और प्रमोशन प्रभावित हो सकता है।

जानकारी के मुताबिक, कर्मचारियों को 1 जनवरी 2021 की स्थिति में अपनी अचल संपत्ति का ब्यौरा पेश करना था। यह आदेश सरकार के सभी नियंत्रित बोर्ड, निगम, स्वायत्तशासी संस्थाओं, राजकीय उपक्रमों पर पर भी लागू हुए थे। आपको यह भी बता दें कि इससे पहले पूर्ववर्ती वसुंधरा सरकार में केवल राजपत्रित अधिकारियों को ही अपनी अचल संपत्ति का ब्यौरा देना होता था लेकिन राज्य में सत्ता परिवर्तन के बाद गहलोत सरकार ने सभी राज्य कर्मचारियों को अचल संपत्ति का विवरण देने के दायरे में ला दिया।

 

सीएम गहलोत को सता रही यह चिंता, अधिकारियों को दिए निर्देश…

जयपुर Abhayindia.com प्रदेश के कई जिलों में अल्प वर्षा के चलते फसलों को भारी नुकसान हुआ है। इसे लेकर मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत ने चिंता जताई है। उन्होंने कहा है कि फसलों को हुए नुकसान को लेकर राज्‍य सरकार गंभीर है। उन्‍होंने निर्देश दिए हैं कि राजस्व विभाग, कृषि विभाग तथा इंश्योरेंस कंपनी संयुक्त रूप से सर्वे कर किसानों को हुए नुकसान का आंकलन करे। इसके आधार पर प्रभावित किसानों को राहत देने के लिए फसल बीमा योजना के तहत मुआवजे की कार्यवाही की जाए। गहलोत ने अल्पवर्षा वाले जिलों में पेयजल, चारा डिपो, पशु शिविर आदि के लिए अभी से समस्त अग्रिम तैयारियां सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए हैं। मुख्यमंत्री के निर्देश पर मुख्य सचिव निरंजन आर्य ने मंगलवार को जिला कलेक्टरों से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से चर्चा कर वर्षा की कमी के कारण फसलों में खराबे की स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि जिन स्थानों पर खराबा हुआ है, वहां सर्वे एवं गिरदावरी की कार्यवाही जल्द से जल्द पूरी करवाकर रिपोर्ट भिजवाएं ताकि किसानों को शीघ्र राहत दी जा सके।

आपको बता दें कि सीएम गहलोत एंजियोप्लास्टी के बाद अपने निवास पर स्वास्थय लाभ ले रहे हैं। चिकित्सकों ने उन्हें कुछ दिन के लिए आराम की सलाह दी है। इस बीच वे आवश्यक कार्यों के सिलसिले में आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे हैं।

इन ज़िलों में औसत से कम हुई बारिश

सिरोही, बांसवाड़ा, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, श्रीगंगानगर, जालौर, झुंझुनूं, जोधपुर, पाली, राजसमंद एवं उदयपुर में औसत से कम वर्षा हुई है।

विधायक गोदारा का ऊर्जा मंत्री पर हमला, कहा- खुद कांग्रेस विधायक कहते हैं इनसे कुछ भी मैनेज नहीं हो रहा…

पानी-बिजली के मामले में ऊर्जा मंत्री डॉ. कल्‍ला पूरी तरह फेल : सुमित गोदारा

शिक्षा : मृतक आश्रितों को मिली नौकरी, विभाग ने 72 को किया जिला आवंटन…

पायलट के जन्‍म दिन पर शक्ति प्रदर्शन की तैयारी, हर जिले में…

देवकिशन, किरण और सत्‍यदेव को मिलेंगे साहित्‍य पुरस्‍कार

सीएम गहलोत को सता रही यह चिंता, अधिकारियों को दिए निर्देश…

खान मंत्री प्रमोद जैन भाया शुक्रवार को बीकानेर आएंगे

राजस्‍थान : टीम वसुंधरा राजे का दफ्तर खुला, और तेज हो गई ये चर्चाएं…

राजस्‍थान : मंत्रिमंडल विस्‍तार पर फिर लगा ब्रेक, अब आई ये नई तारीख…