रेलवे भर्ती परीक्षा को लेकर अलर्ट जारी, अभ्यर्थी किसी भी प्रकार के बहकावे और झांसे में न आये…

Alert
Alert

जयपुर Abhayindia.com रेलवे में भर्ती परीक्षा का चौथा चरण प्रक्रियाधीन है। रेलवे भर्ती परीक्षाओं को लेकर अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर विभिन्न तरह की सूचनाएं आती रहती है, जिसमें अभ्यर्थियों को रेलवे में नौकरी प्रदान करने के प्रलोभन और दलालों के माध्यम से आसानी से रेलवे की भर्ती परीक्षा पास करवाने जैसी खबरें भी सम्मिलित है। इन गलत और भ्रामक खबरों के चलते रेलवे भर्ती परीक्षा देने वाले अभ्यर्थी और उनके अभिभावकों के समक्ष भ्रम की स्थिति बन जाती है।इसे देखते हुए रेलवे ने अभ्‍यथर्यियों को अलर्ट रहने को कहा है।

उत्‍तर पश्चिम रेलवे के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण के अनुसार, रेलवे भर्ती बोर्ड (आरआरबी) ने सीईएन आरआरसी 01/2019 -लेवल 1 (पूर्ववर्ती समूह डी) भर्ती के लिए कंप्यूटर आधारित परीक्षा आयोजित करने के लिए एक प्रतिष्ठित कंपनी को नियुक्त किया है जिसमें 1.1 करोड़ से अधिक उम्मीदवार उपस्थित हो रहे हैं। 12 क्षेत्रीय रेलवे पर कंप्यूटर आधारित परीक्षा के तीन चरण पहले ही पूरे किए जा चुके हैं। चौथा चरण भीे प्रारम्भ हो गया है। किसी भी प्रकार की अनियमितता को रोकने और समाप्त करने के लिए सिस्टम में विभिन्न तकनीकी सुरक्षा उपाय और सुरक्षा प्रणाली उपलब्ध करवाई गई हैं।

उन्‍होंने बताया कि उम्मीदवारों को केंद्र का आवंटन कम्प्यूटर लॉजिक के माध्यम से रेंडम रूप से किया जाता है। साथ ही, एक बार जब उम्मीदवार परीक्षा केंद्र पर रिपोर्ट करते हैं और अपना पंजीकरण कराते हैं, तो कंप्यूटर लैब और सीटों का आवंटन भी रेंडम रूप से किया जाता है। प्रश्न पत्र अत्यधिक एन्क्रिप्टेड रूप में है, और उम्मीदवार के अलावा कोई भी प्रश्न पत्र नहीं खोल सकता है। उम्मीदवारों को उपलब्ध कराए गए प्रश्न पत्र में प्रश्नों के क्रम को भी प्रश्न के लिए उपलब्ध चार विकल्पों के साथ रेंडम रूप में होता है। परीक्षा केंद्र में प्रत्येक उम्मीदवार के पास एक अलग प्रश्न पत्र होता है। इसलिए यदि कोई दावा करता है कि वह किसी उम्मीदवार को उत्तर कुंजी प्रदान कर सकता है तो यह पूरी तरह से गलत, आधारहीन और भ्रामक है।
इसके साथ ही परीक्षा केन्द्रों पर आने वाले अभ्यर्थियों को रेलवे भर्ती परीक्षा में प्रवेश आधार (Aadhar) आधारित बायोमैट्रिक्स पर दिया जाता है तथा सभी परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरों का प्रावधान होता है। इस स्थिति में मूल अभ्यर्थी के स्थान पर दूसरे अभ्यर्थियों का केन्द्र पर प्रवेश की कोई संभावना नहीं होती है।
रेलवे में भर्ती परीक्षाएं पूरी तरह से पारदर्शी है एवं इसमें किसी हस्तक्षेप नहीं रहता है। रेलवे परीक्षा देने वाले अभ्यर्थी किसी भी प्रकार के झांसे या बहकावे में ना आए और ना ही किसी दलाल से संपर्क करें। रेलवे द्वारा किसी भी व्यक्ति/दलाल के माध्यम से संपर्क कर नौकरी देने का झांसा देने वाले व्यक्तियों अथवा इस प्रकार की गतिविधियों से रेलवे की छवि धूमिल करने वाले व्यक्तियों के विरूद्व कानूनी/पुलिस कार्यवाही की जाती है तथा लिप्त व्यक्तियों को रेलवे की भर्ती परीक्षाओं से वंचित किया जाता है। रेलवे में भर्ती संबंधित सभी जानकारी अधिकृत वेबसाइट पर उपलब्ध रहती है।