वसुंधरा का भ्रम निकाल दिया, अब मोदी की बारी : गहलोत

Ashok Gahlot
Ashok Gahlot

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज) लोकसभा चुनावों का बिगुल बजने के बाद शुक्रवार को जिले के श्रीडूंगरगढ़ में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोशीले अंदाज में कहा कि विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने राजस्थान में वसुंधरा का भ्रम निकाल दिया, लोकसभा चुनावों में अब प्रधानमंत्री मोदी की बारी है। उन्होने कहा कि झूठे वादों की खोखली नींव पर खड़ी केन्द्र मोदी सरकार का ढाँचा अब ज्यादा दिन नहीं रहेगा। 

कस्बे की कृषि उपज मंडी प्रांगण में हुई सभा में सीधे रूप से पीएम मोदी पर फोकस रखते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र को खत्म करने में जुटी देश की मोदी सरकार संविधान के लिये भी खतरा बन गई है। सेना के सर्जिकल स्ट्राईक को अपनी उपलब्धि गिनाने में जुटे पीएम मोदी और उनके मंत्री इस बात से अनभिज्ञ है कि मोदी सरकार से ज्यादा इंदिरा गांधी के राज में सर्जिकल स्ट्राईक हुई थी। इंदिराजी ने कूटनीति और सैन्य दम पर बंगलादेश बनवा दिया था। कांग्रेस राज में पाकिस्तान के खिलाफ भारत की यह सबसे बड़ी उपलब्धि थी, लेकिन कांग्रेस ने कभी इसका प्रचार नहीं किया। करीब तीस मिनट के संबोधन में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कांग्रेस नेताओं को एकजुटता से लोकसभा चुनावों की तैयारियों में जुटने का आव्हान किया। 

सभा को संबोधित करते हुए उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि विधानसभा चुनावों में यहां भाजपा को  सत्ता से बाहर कर चुकी प्रदेश की जनता अब कांगे्रस के साथ मिलकर भाजपा को केन्द्र की सत्ता से बाहर का रास्ता दिखायेगी। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस ने जो कहा वो करके दिखाया हैचाहे किसानों की ऋण माफी हो, बेरोजगारी भत्ता हो या प्रदेश में सुशासन, कोंग्रेस ने सत्ता संभालते ही राजस्थान की जनता से किये हर वादे को निभाया है। 

सभा को चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा, ऊर्जा एवं जलदाय मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला, जिला प्रभारी मंत्री सालेह मोहम्मद, प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने भी संबोधित किया। इनके सह प्रभारी काजी निजामुदीन, उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी, खाजूवाला विधायक गोविन्द राम मेघवाल, खाजूवाला प्रधान सरिता मेघवाल समेत बीकानेर कांग्रेस के अनेक नेता मंच पर मौजूद रहे। 

स्वागत के लिए उमड़ पड़े कांग्रेस नेता

श्रीडूंगरगढ़ में चुनावी सभा को संबोधित करने के लिये हैलिकॉप्टर से पहुंचे सीएम अशोक गहलोत, डिप्टी सीएम सचिन पायलट और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा का स्वागत करने के लिये मौके पर कांग्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं की भीड़ उमड़ पड़ी। स्वागत करने वालों में पूर्व राज्यमंत्री विरेन्द्र बेनीवाल, शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल गहलोत, देहात कांग्रेस अध्यक्ष महेन्द्र सेन गहलोत, पूर्व न्यास चैयरमेन मकसूद अहमद, प्रदेश  कोंग्रेस प्रवक्ता गजेन्द्रसिंह सांखला समेत बड़ी तादाद में कांग्रेस नेता शामिल थे।

मंच पर दिखा सियासी रंग 

चुनावी सभा के मंच पर सीएम अशोक गहलोत, डिप्टी सीएम सचिन पायलट, चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा और अविनाश पांडे ने अपनी अपनी लॉबी के नेताओं से गुफ्तगू की। उन्हें अपने नजदीक रखा, ऐसे में मंच पर मौजदू कई कांग्रेस नेता खुद को उपेक्षित सा महसूस करते रहे। गहलोत, पायलट पाण्डे द्वारा मंच पर खाजूवाला विधायक गोविन्द राम मेघवाल और प्रधान सरिता मेघवाल को ज्यादा तरजीह देना भी चर्चा का विषय रहा। पहले चर्चा थी कि लोकसभा चुनाव के दावेदार को लेकर कोई ऐलान होगा लेकिन बैठक में कांग्रेस नेताओं ने कोई पत्ते नहीं खोले।

खफा हुई महिला कांग्रेस नेता ने दिखाई नाराजगी

चुनावी सभा के मंच पर दिग्गज कांग्रेस नेताओं के साथ बीकानेर के कई नेता भी मौजूद रहे, लेकिन प्रदेश महिला कांग्रेस की महासचिव सुषमा बारूपाल को मंच पर नहीं बुलाया गया। इससे खफा हुई सुषमा ने कहा कि कांग्रेस में महिलाओं को अपमान के घूंट पीने पड़ रहे है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के छुटभय्ये नेता मंच पर अपनी मौजूदगी दिखा रहे है, लेकिन प्रदेश महासचिव स्तर की पदाधिकारी को कोई तरजीह नहीं दी जा रही। सुषमा ने कहा कि मैंने अपनी भावनाओं से अवगत करवा दिया है।

बीकानेर प्रेस क्लब : सदस्यता अभियान के अंतिम दिन ऐसी रही गहमागहमी…

इस्तीफे की दहलीज तक पहुंची भाटी-मेघवाल की जंग, जानिये क्या है मामला…