नहीं रहे ट्रेजेडी किंग दिलीप कुमार, उनसे जुड़ी ये बातें जानकर रह जाएंगे आप हैरान…

Dilip Kumar
Dilip Kumar

नई दिल्‍ली Abhayindia.com भारतीय सिनेमा के ट्रेजेडी किंग कहे जाने वाले दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार का आज सुबह निधन हो गया है। वे 98 साल के थे। सांस लेने में दिक्कत होने पर 29 जून को उन्‍हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दिलीप कुमार की निधन की खबर सुनते ही बॉलीवुड इंडस्ट्री को बड़ा सदमा लगा है। सेलेब्स सोशल मीडिया के जरिए अपने इस महान अभिनेता को श्रद्धांजलि दे रहे हैं। दिलीप कुमार के डॉक्टर जलील पारकर ने मीडिया से कहा, ‘दिलीप साहब उम्र से जुड़ी दिक्कतों का सामना कर रहे थे।

आपको बता दें कि बीते साल दिलीप कुमार के दो छोटे भाइयों का इंतकाल हो गया था। 21 अगस्त को 88 साल के असलम का और फिर 2 सितंबर को 90 साल के अहसान चल बसे। इसके चलते सायरा बानो और दिलीप कुमार ने 11 अक्टूबर को अपनी शादी की 54वीं सालगिरह का जश्न नहीं मनाया था।

पांच दशक और 54 फिल्में

दिलीप कुमार ने पांच दशक के अपने करियर के दौरान केवल 54 फिल्मों में ही काम किया। उनके बारे में एक बात और कही जाती है कि उन्होंने अपने करियर में कई फिल्मों को ठुकरा दिया था, क्योंकि उनका मानना था कि फिल्में कम हों, लेकिन बेहतर हों। कई लोग बताते हैं कि उन्हें इस बात का मलाल रहा था कि वे फिल्म ‘प्यासा’और ‘दीवार’में काम नहीं कर पाए।

उनकी हिट फिल्मों में ‘ज्वार भाटा’ (1944), ‘अंदाज’ (1949), ‘आन’ (1952), ‘देवदास’ (1955), ‘आजाद’ (1955), ‘मुगल-ए-आजम’ (1960), ‘गंगा जमुना’ (1961), ‘क्रान्ति’ (1981), ‘कर्मा’ (1986) और ‘सौदागर’ (1991) शामिल हैं।

दिलीप कुमार का जन्म 11 दिसंबर 1922 को ब्रिटिश इंडिया के पेशावर (अब पाकिस्तान में) में हुआ था। उन्होंने अपनी पढ़ाई नासिक में की थी। करीब 22 साल की उम्र में ही दिलीप कुमार को पहली फिल्म मिल गई थी।

पीएम मोदी ने जताई संवेदना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोशल मीडिया के जरिए कहा है कि दिलीप कुमार जी सिनेमा लेजेंड के तौर पर हमेशा याद रहेंगे। उनका जाना हमारी सांस्कृतिक दुनिया के लिए नुकसान है। प्रधानमंत्री ने दिलीप कुमार की पत्नी सायरा बनो से भी फोन पर बात करके शोक संवेदना व्यक्त की है।

राजस्‍थान : सरकार ने ट्रांसफर-पोस्टिंग पर लगाया बैन हटाया

जयपुर Abhayindia.com लंबे अरसे के बाद गहलोत सरकार ने ट्रांसफर-पोस्टिंग पर लगाया गया बैन हटा दिया है। ट्रांसफर से बैन 14 जुलाई से 14 अगस्त तक हटाया जाएगा।

संयुक्‍त सचिव प्रियंका गोस्‍वामी की ओर से जारी आदेश के अनुसार, सरकार ने ट्रांसफर के लिए कर्मचारियों से अब ऑनलाइन आवेदन मांगे है। इसके लिए उन्‍हें आवेदन प्रशासनिक सुधार विभाग की वेबसाइट पर करना होगा। यह आदेश सभी निगमों, मंडलों, स्‍वायत्‍तशाषी संस्‍थाओं पर भी लागू होगा। आपको बता दें कि सरकार ने 30 सितम्बर 2019 को ट्रांसफरों पर बैन लगाया था।

आठ राज्‍यों में नए राज्‍यपाल नियुक्‍त, गहलोत कर्नाटक के बने राज्‍यपाल  

नई दिल्‍ली Abhayindia.com राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने मंगलवार को 8 राज्यों में नए राज्यपाल बनाए हैं। इन राज्यपालों में एक केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत भी शामिल हैं। गहलोत को कर्नाटक का राज्यपाल बनाया गया है। इसके अलावा मिजोरम से लेकर झारखंड तक आठ राज्यों में नए राज्यपालों की नियुक्ति की गई है। जबकि, हरि बाबू कंभमपति को मिजोरम, मंगूभाई छगनभाई पटेल को मध्य प्रदेश का राज्यपाल और राजेंद्र विश्वनाथ अर्लेकर को हिमाचल प्रदेश का राज्यपाल नियुक्त किया है।

मिजोरम के राज्यपाल पीएस श्रीधरन पिल्लई को गोवा के राज्यपाल, हरियाणा के राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य को त्रिपुरा के राज्यपाल, त्रिपुरा के राज्यपाल रमेश बैस को झारखंड के राज्यपाल और हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय को हरियाणा के राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया।

गहलोत को इसलिए बनाया राज्‍यपाल…

थांवरचंद गहलोत की उम्र 73 साल हो चुकी है। मोदी मंत्रिमंडल में पहले से ही 75 साल की उम्र की बंदिश है। इसके चलते आगामी राज्यों के चुनाव से पहले मोदी कैबिनेट में ज्यादा से ज्यादा नए चेहरों को जगह देकर सारी समीकरण बैठाना चाहते हैं। इसलिए गहलोत को राज्यपाल बनाकर कैबिनेट से छुट्टी की गई है।

गहलोत सरकार ने 7 जुलाई को बुलाई मंत्रिपरिषद की बैठक, इसमें ये हो सकते हैं फैसले…

जयपुर Abhayindia.com प्रदेश में गहलोत सरकार ने 7 जुलाई को शाम पांच बजे मंत्रिपरिषद समूह की बैठक बुलाई है। मुख्यमंत्री आवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होने वाली इस वर्चुअल बैठक का मंत्रिमंडल सचिवालय की ओर से हालांकि कोई आधिकारिक तौर पर एजेंडा जारी नहीं किया गया है, लेकिन माना यह जा रहा है कि इस बैठक में कई अहम फैसले हो सकते हैं। इसमें खासतौर से विधानसभा के मानसून सत्र बुलाने के अलावा कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए तैयारियों की चर्चा हो सकती है।

जानकारी के अनुसार, इस बैठक में डेल्टा प्लस वैरिएंट और कोरोना की संभावित तीसरी लहर की तैयारियों को लेकर सीएम गहलोत मंत्रियों के सुझाव लेंगे और तैयारियों को लेकर क्या-क्या कदम उठाए जा सकते हैं इस पर चर्चा करेंगे। साथ ही वैक्सीनेशन की कमी को लेकर भी चर्चा होगी। आपको बता दें कि राज्‍य में वैक्सीन की कमी को लेकर सीएम गहलोत लगातार केंद्र सरकार से वैक्सीन उपलब्ध करवाने की मांग कर रहे हैं।

बीकानेर : मेडिसिन विंग प्रदेश के लिए होगी उपयोगी, ओम बिरला ने दिया शुभकामना संदेश…

बीकानेर : जिले में कोरोना से विधवा हुई महिलाओं के बैंक खातों में जमा हुई राशि, 1 करोड़ 29 लाख से…

कोविड और ब्लैक फंगस के उपचार में अस्पतालों द्वारा योजना के लाभार्थियों से लिए रुपए होंगे रिफंड, राजस्थान सरकार ने जारी किये निर्देश

अजय माकन के जयपुर दौरे के साथ ही सियासी सरगर्मियां हुई तेज, राजनीतिक नियुक्तियों को लेकर…

आरटीई पुनर्भरण की आड़ में सरकारी खजाने में सेंध लगाने की कोशिश! इस संघ ने सिस्‍टम को चेताया…

रोडवेज : बीकानेर होकर चलेगी यह लग्जरी बस, पिलानी मार्ग पर होगी संचालित…

बीकानेर : दो दिन बंद रहेगा दाल मिल कारोबार, स्टॉक सीमा का कर रहे विरोध…

राजस्थान : तकनीकी विश्वविद्यालयों एवं पॉलिटेक्निक महाविद्यालयों में सत्र 2020-21 की परीक्षाओं के संबंध में सामान्य निर्देश जारी

खेल : टोक्यो ओलिम्पिक के लिए भारतीय हॉकी टीम ने कसी कमर, 1980 से है पदक का इंतजार, 23 जुलाई से टोक्यो में प्रस्तावित है…