सहकारी समितियों की वर्ष 2018-19 की ऑडिट के लिए 31 मई तक ऑडिटर नियुक्त करना जरूरी

बीकानेर abhayindia.com राजस्थान सहकारी सोसायटी अधिनियम 2001 व नियम 2003 के प्रावधानों के अनुसार सभी सहकारी समितियों को वर्ष 2018-19 की ऑडिट के लिए 31 मई  तक रजिस्ट्रारसहकारी समितियांराजस्थान द्वारा गठित ऑडिटर्स के तीन पेनलकिसी चार्टर्ड एकाऊटेंट या किसी चार्टर्ड एकाऊटेंट फर्म को नियुक्त कर या सहकारी विभाग के निरीक्षकों के पेनल को विकल्प में से चुनकर इसकी सूचना जिले के रजिस्ट्रार यानि विशेष लेखा परीक्षक को उपलब्ध करवाना आवश्यक हैसाथ ही प्रत्येक सोसायटी का ऑडिट  30 सितम्बर 2019 तक पूर्ण कर ऑडिट रिपोर्ट की एक प्रति आम सभा द्वारा अनुपालना सहित जिले के  उप रजिस्ट्रार एवं विशेष लेखा परीक्षक को उपलब्ध करवाना आवश्यक है।

क्षेत्रीय अंकेक्षण अधिकारी राजेश टाक ने बताया कि समिति 31 मई तक ऑडिटर की नियुक्ति कर इसकी सूचना संबंधित जिले के विशेष लेखा परीक्षक  को उपलब्ध नहीं करवायेगीउस समिति की ऑडिट के लिए जिले के विशेष लेखा परीक्षक द्वारा ऑडिटर की नियुक्ति अपने स्तर से उक्त तीनों पेनल में से किसी की भी कर दी जाएगी।

टाक ने बताया कि अगर कोई  समिति 30 सितम्बर 2019 तक ऑडिट पूर्ण कर नहीं करवाती है तो उसके विरूद्ध राजस्थान सोसायटी अधिनियम 2001 की धारा 28 के अन्तर्गत जिले के उप रजिस्ट्रार द्वारा समिति के संचालक मण्डल को भंग करने की कार्रवाई की जा सकेगी और ऐसे संचालक मण्डल के सदस्य अगले 6 वर्षों तक किसी भी सहकारी सोसायटी का चुनाव नहीं लड़ पाएंगे।

बीकानेर में लगेगा विहिप-बजरंग दल का 7 दिवसीय शौर्य प्रशिक्षण वर्ग, 150 बजरंगी….

‘ख़बर अपडेट’ ने रचा नया कीर्तिमान, YouTube से Silver Play Button पाने वाला चैनल….