धरनास्‍थल से गरजे पूर्व मंत्री भाटी, कहा- सरकार गोचर भूमि पर अपनी नियत साफ रखें, मंसूबे कामयाब होने नहीं देंगे

Devi singh Bhati Ka Dharna
Devi singh Bhati Ka Dharna

बीकानेर Abhayindia.com राज्य सरकार द्वारा गोचर, औरण व चारागाह भूमि पर हुए कब्जों को नियमित कर पट्टे जारी करने के निर्णय के खिलाफ जननेता व पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी का तीसरे दिन भी धरना जारी रहा। धरने पर विभिन्न समाज के मौजिज लोगों ने भाटी से भेंट कर अपना समर्थन जताया।

Devi Singh Bhati-pujari baba
Devi Singh Bhati-pujari baba

भाटी के प्रवक्ता सुनील बांठिया ने बताया कि आज धरना स्थल पर पहुंचने वालों में जुगल किशोर ओझा उर्फ पुजारी बाबा सहित साधु संतों व जिले से आये गौप्रेमी थे। धरना स्थल पर द्वारा गौ धन की जमीन को बचाने के लिए किए जा रहे प्रयासों को सभी के लिए अनुकरणीय बाबा ने इस काम में तन मन धन से भाटी के साथ रहने की बात कहीं। वहीं, क्षेत्रीय पार्षद सुधा आचार्य धरने पर बैठकर भाटी से जगह जगह गोचर , औरण आदि को जो सरकार द्वारा कब्जाया जा रहा है उस पर चर्चा कर सभी पशुप्रेमियों को साथ लेकर अंकुश लगाने पर चर्चा की।

धरना स्थल आज पुनः महामण्डलेश्वर सरजूदास महात्यागी, रामझरोखा, सुजानदेसर अपने अनुयायी संतों के साथ पहुंच कर भाटी के कार्य की सराहना करते हुए उन्हें आशीर्वाद दिया। इस अवसर पर देवी सिंह भाटी ने उपस्थित जन समुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा कि सरकारों ने समय रहते टाऊन प्लानिंग नहीं की अब जब आबादी बढ़ रही है तो गोचर, चारागाह व औरण की जमीनों पर अपनी नियत खराब कर रही हैं। हमारे होते हम सरकार के इन मंसूबों को कामयाब नहीं होने देंगे।

धरना स्थल पर तीसरे दिन ज्योतिषाचार्य पं. राजेन्द्र किराडू के नेतृत्व में दिनभर धार्मिक अनुष्ठान के साथ सरकार को सदबुद्धि मिले उसके लिए सुंदरकाण्ड पाठ का चलता रहा। पाठ के बाद पूर्व मंत्री भाटी ने रामायण की आरती करवाई। आरती में सरजूदास महाराज, संत बालकदास महाराज उपस्थित थे। पं. किराडू ने कहा कि भारतीय संस्कृति में गाय का अलग ही महत्व है उसके चारागाहों पर राज्य सरकार जो नीति अपनाकर बेचने का कार्य कर रही जो नीति अशोभनीय है, परम् पिता परमेश्वर से यही प्रार्थना है कि राज्य सरकार को सदबुद्धि दें। भारतीय साहित्य अकादमी नई दिल्ली के दलित चिन्तक बुलाकीदास देवड़ा ने भी धरना स्थल पर पहुंच कर भाटी द्वारा विरासत की गौचर, औरण व चारागाह को बचाने के लिए किए जा रहे इस कार्य की भूरिभूरि प्रशंसा की।

धरना स्थल पर पहुंचने वालों का अंशुमानसिंह भाटी ने अभिवादन कर गौ सेवा के कार्य सहयोग करने के लिए आभार जताया। आज धरना स्थल पर पहुंचने वालों में जयसिंह भाटी अध्यक्ष सरपंच एसोसियेशन, खींवसिंह भाटी पूर्व चैयरमेन मण्डी बज्जू, सत्यनारायण व्यास पूर्व अध्यक्ष पेंशनर्स समाज, राजुसिंह भलूरी, बजरतन किराडू, मदनसिंह राठौड़, गजेसिंह देवड़ा सरपंच सांखला बस्ती, मोहनलाल पिलानिया, लक्ष्मणसिंह नोखड़ा, भागीरथ मूंड पूर्व जिलाध्यक्ष भाजपा युवा मोर्चा , विजय उपाध्याय पूर्व भाजपा मण्डल अध्यक्ष, झंवर गहलोत, सुरजप्रकाश राव, एक्युप्रेशर विशेषज्ञ रवि शर्मा, पूर्व पार्षद शम्भु गहलोत, राजा सेवग, देवीसिंह भाटी मोडिया, मोतीलाल पालीवाल सांखला बस्ती, सहीराम पलाना, एडवोकेट गिरिराज सिंह भाटी, चन्दनसिंह राजपुरोहित, मक्खलाल सांखला, चांदरतन सांखला पूर्व मंत्री भाजपा जिला संगठन, मोतीलाल हर्ष, दिनेश ओझा आदि ने दिन भर धरना स्थल पर मौजूद रहे।

पूर्व मंत्री भाटी ने एक बार फिर चढ़ाई बांहें, अबकी बार दी धरने के अलावा भूख हड़ताल की चेतावनी…

तलवारबाजी-फायरिंग के मामले में अब तक 8 आरोपी गिरफ्तार, दुकान को किया…

राजस्‍थान : 8 दिन में 8 गुना बढ़ गए कोरोना के एक्टिव केस, सबसे ज्‍यादा जयपुर में, बीकानेर में…