Hometrendingकोरोना : गुरुवार को बीकानेर में रही राहत, सेम्पल हुए 718, रिपोर्ट...

कोरोना : गुरुवार को बीकानेर में रही राहत, सेम्पल हुए 718, रिपोर्ट रही शून्य…

बीकानेर Abhayindia.com जिले में कोरोना दम तोड़ रहा है। गुरुवार को सुबह-शाम की रिपोर्ट में एक भी नया संक्रमित नहीं आया है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार जिले में अभी भी 15 एक्टिव केस है, जो क्वारेन्टइन है। सीएमएचओ डॉ.ओपी चाहर के अनुसार गुरुवार को 718 सेम्पल हुए थे, इसमें मरीजों की संख्या शून्य रही। इसके बावजूद भी सावधानी बनाए रखनी जरूरी है।

Marward Hospital ( Dr. Meenashi)

22 जुलाई की दैनिक रिपोर्ट…

कुल सेम्पल-718
पॉजिटिव- 00
रीकवर- 00
कुल एक्टिव केस- 15
कोविड-केयर सेंटर- 00
हॉस्पिटल- 00
होम क्वारेन्टइन- 15
मृत्यु 00
कन्टेन्टमेंट जोन- 01
माइक्रो कंटेनमेंट-00

शिक्षा : निजी विद्यालयों की क्रमोन्नति के लिए ऑन लाइन आवेदन 26 जुलाई से, प्राइवेट स्कूल पोर्टल कर सकेंगे

बीकानेर Abhayindia.com प्रदेश की गैर सरकारी क्षेत्र में संचालित विद्यालयों की प्राथमिक, उच्च प्राथमिक स्तर की नवीन मान्यता, प्राथमिक से उच्च प्राथमिक स्तर की क्रमोन्नति के लिए शिक्षा विभाग ने ऑन लाइन आवेदन मांगे हैं। माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने इस संबंध में गुरुवार को आदेश जारी किए हैं। इसके अनुसार नई मान्यता के साथ ही प्राथमिक से उच्च प्राथमिक, माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक स्तर पर क्रमोन्नति एवं परिवर्तन आदि की स्वीकृति के लिए इच्छुक संस्थाओं से हाल ही में जयपुर में हुई बैठक के क्रम में ऑन लाइन आवेदन मांगे गए है।

इसमें संस्था की ओर से २६ जुलाई से २६ अगस्त तक निर्धारित प्रपत्र में ऑन लाइन आवेदन पत्र राजस्थान सरकार के शिक्षा विभाग की वेबसाईट, प्राइवेट स्कूल पोर्टल में विद्यालय लॉगइन के द्वारा ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। विद्यालय की ओर से लॉक आवेदन में किसी प्रकार का संशोधन आवेदन के पांच दिन के भीतर करना होगा। निर्धारित शुल्क ई-ग्रास के माध्यम से जमा करानी होगी।

बीकानेर : सीईएससी की वेबसाइट से ऑनलाइन बिजली बिल भरें उपभोक्ता, बीकेईएसएल की अपील

बीकानेरAbhayindia.com बीकेईएसएल ने शहर के उपभोक्ताओं से सीईएससी राजस्थान की अधिकृत वेबसाइट  cescrajasthan.co.in के माध्यम से ही ऑनलाइन बिजली का बिल भरने की सलाह दी है। बीकेईएसएल के सीओओ शान्तनू भट्टाचार्य ने बताया कि गुगल सर्च के माध्यम से बीकेईएसएल की वेबसाइट से बिजली का बिल भरने में उपभोक्ताओं को परेशानी हो रही है। ऐसे में उपभोक्ताओं को सीईएससी राजस्थान की अधिकृत वेबसाइट पर बीकेईएसएल को क्लिक कर सम्बंधित जानकारी देने के साथ बिजली का बिल भरने की अपील की जाती है।

भट्टाचार्य ने बताया कि उपभोक्ता सीईएससी राजस्थान राजविद्युत एप के माध्यम से भी अपने बिजली बिल का भुगतान कर सकते है। इसके अलावा अन्य पेमेंट गेटवे फोन पे, पेटीएम, गुगल पे, अमेजन पे आदि के माध्यम से भी अपने बिजली बिल का भुगतान सकते है।

बीकानेर : थमे रहे निजी बसों के पहिए, क्या है इनकी मांगें बात रहे समुन्द्र सिंह राठौड़, देखें वीडियो..

बीकानेर Abhayindia.com टैक्स माफी सहित मांगों को लेकर गुरुवार को प्रदेशव्यापी आह्वान पर निजी बसों के पहिए थमे रहे। बस ऑपरेटरों ने एक दिन की सांकेतिक हड़ताल रखकर विरोध जताया। इस दौरान करीब बीकानेर जिले में करीब

Preview YouTube video बीकानेर में निजी बसों की रही हड़ताल, क्या है इनकी मांगें, बता रहे हैं समुंद्र सिंह राठौड़

एक हजार निजी बसों का संचालन नहीं हुआ। इसको लेकर अभय इंडिया ने बीकानेर बस ऑपरेटर एसोसिएशन के अध्यक्ष समुन्द्र सिंह राठौड़ से बातचीत की। इस दौरान उन्होंने बताया कि सरकार ने एक साल का सभी प्रकार के वाणिज्य वाहनों का टैक्स सरकार माफ करें। वहीं निजी बसों का किराया सात साल में अभी तक नहीं बढ़ाया।

सरकार को चाहिए कि वो किराए में 40 प्रतिशत वृद्धि करें। किराया सरकार ही बढ़ा सकती है राठौड़ ने बताया कि निजी बसों के संचालन में जो कामगार तबका है उनके लिए राहत के कदम सरकार को उठाने चाहिए। राठौड़ ने कहा कि बसों संचालन ठप रहने से आर्थिक नुकसान तो होगा ही, वहीं इससे करीब 50 हजार यात्री प्रभावित हुए है। राठौड़ ने कहा कि सरकार निजी बस ऑपरेटरों की लंबित मांगों का निस्तारण करें। ताकि राहत मिल सके।

नई दिल्‍ली/जयपुर Abhayindia.com राजस्‍थान में गहलोत-पायलट गुटों के बीच बीते करीब एक साल से चल रही सियासी खींचतान आने वाले दिनों में खत्‍म हो सकती है। बताया जा रहा है कि पायलट गुट की बगावत के बाद सुलह के वक्त तय हुए मसलों पर कांग्रेस आलाकमान के स्तर पर काम शुरू हो गया है। पायलट समर्थकों की मांगों पर विचार करने के लिए गठित की गई सुलह कमेटी ने अपनी सिफारिशें पार्टी आलाकमान को सौंप दी है। पार्टी सूत्रों की मानें तो अब जल्द ही सचिन पायलट के समर्थकों को सत्ता और संगठन में भागीदारी मिल सकती है।

इस बीच सुलह कमेटी की सिफारिशों पर पूर्व उपमुख्‍यमंत्री सचिन पायलट ने कहा है कि कमेटी ने बैठकें की है, हमने जो बातें और सुझाव रखे थे। वे 2023 में फिर से सरकार बनाने की रणनीति से जुड़े थे। जिन पार्टी कार्यकर्ताओं के खून पसीने से सरकार बनी है उन्हें पद भले न मिले, लेकिन सम्मान मिले। यह सुनिश्चित होना चाहिए। उम्मीद है इन बातों पर एक्शन होगा।

आपको बता दें कि सचिन पायलट गुट की बीते साल वापसी करवाने में प्रियंका गांधी की बड़ी भूमिका बताई जा रही है। सुलह कमेटी ​की रिपोर्ट नहीं आने पर इस बार भी प्रियंका गांधी ने हस्तक्षेप किया। इसके बाद कमेटी ने काम की स्पीड बढ़ाई और अब सिफारिशें हाईकमान को दे दीं। माना जा रहा है कि अब मंत्रिमंडल विस्तार, राजनीतिक नियुक्तियों और संगठनात्मक नियुक्तियों पर जल्द काम शुरू हो सकेगा। पायलट गुट लंबे समय से इनकी मांग कर रहा है।

दैनिक भास्‍कर ग्रुप पर इनकम टैक्‍स विभाग का छापा, भास्‍कर ने कहा- निडर पत्रकारिता…

दैनिक भास्‍कर ग्रुप पर इनकम टैक्‍स विभाग का छापा

जयपुर Abhayindia.com दैनिक भास्कर ग्रुप पर सरकार ने दबिश डाली है। भास्कर समूह के कई दफ्तरों पर गुरुवार तड़के इनकम टैक्स विभाग ने छापा मारा है। विभाग की टीमें दिल्ली, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान स्थित कार्यालयों पर पहुंची हैं और कार्रवाई जारी है। आपको बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भास्‍कर ने देश के सामने सरकारी खामियों की असल तस्वीर सामने रखी थी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, आईटी टीम ने भास्कर में काम करने वाले कई लोगों के घरों पर भी रेड की है। दफ्तरों में मौजूद कर्मचारियों के मोबाइल जब्त कर लिए गए हैं और उन्हें बाहर नहीं जाने दिया जा रहा है। नाइट शिफ्ट के लोगों को भी दफ्तर से बाहर जाने से रोक दिया गया है। रेड में शामिल अधिकारियों का कहना है कि वो इनके प्रोसेस का हिस्सा है और पंचनामा होने के बाद इन्हें जाने दिया जा रहा है। डिजिटल की नाइट टीम दोपहर साढ़े बारह बजे रिलीज की गई। भोपाल और अहमदाबाद समेत जहां-जहां छापेमारी हुई है वहां भास्कर की डिजिटल विंग में कई महिला कर्मचारी भी काम पर मौजूद हैं। टीम के आला अधिकारियों ने अब तक इस कार्रवाई का कोई कारण साफ नहीं किया है। इधर, भास्‍कर का दावा है कि दूसरी लहर के दौरान 6 महीने तक भास्कर ने देश और कोरोना प्रभावित प्रमुख राज्यों में असल हालात को पूरे दमखम के साथ देश के सामने रखा है। गंगा में लाशें बहाए जाने का मामला हो या फिर कोरोना से होने वाली मौतों को छिपाने का खेल, भास्कर ने निडर पत्रकारिता दिखाई और जनता के सामने सच ही रखा।

विपक्ष ने जोर-शोर से उठाया मुद्दा

इधर, मानसून सत्र में दैनिक भास्कर ग्रुप पर सरकारी दबिश का मुद्दा विपक्ष ने जोर-शोर से उठाया है। विपक्षी सदस्यों ने राज्यसभा में भास्कर ग्रुप पर इनकम टैक्स विभाग के छापों का विरोध किया और नारेबाजी की। इसके बाद सदन दोपहर 2 बजे तक स्थगित कर दिया गया। इसके बाद कार्यवाही शुरू हुई, लेकिन भारी हंगामे की वजह से सदन कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया। लोकसभा में भी हंगामा हुआ, यहां फोन टैपिंग और जासूसी का मुद्दा भी उठा। इसके बाद लोकसभा को 4 बजे तक स्थगित कर दिया गया।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पत्रकारों और मीडिया हाउस पर हमले को लोकतंत्र को कुचलने की कोशिश करार दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना के दौरान भास्कर ने मोदी सरकार की लापरवाही को निडरता से दिखाया। कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि ये देश के सच को निर्भीकता से उजागर कर रहे मीडिया समूह को दबाने की कोशिश है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि छापे मीडिया को डराने का प्रयास हैं।

भास्कर अखबार और भारत समाचार न्यूज चैनलों के दफ्तरों पर आयकर विभाग की छापामारी की कार्यवाही की राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आलोचना की। यह मीडिया की आवाज कुचलने का काम है। गहलोत ने अपने ट्वीट में कहा कि इनकम टैक्स का छापा मीडिया को दबाने का एक प्रयास है। मोदी सरकार अपनी रत्ती भर आलोचना भी बर्दाश्त नहीं कर सकती है। यह भाजपा की फासीवादी मानसिकता है जो लोकतंत्र में सच्चाई का आईना देखना भी पसंद नहीं करती है।

बीकानेर में बिना बताए घर से निकली दो ब‍हनें पांच घंटे बाद मिली

बीकानेर में बिना बताए घर से निकली दो ब‍हनें पांच घंटे बाद मिली

बीकानेर Abhayindia.com बीकानेर में मुरलीधर व्‍यास कॉलोनी निवासी दो बहनें आज सुबह घरवालों को बिना बताए निकल गई। इससे घरवाले परेशान हो गए और उन्‍होंने पुलिस की मदद से दोनों बहनों की खोजबीन शुरू कर दी। करीब पांच घंटे बाद दोनों बहनें गुंजन (15) और चांदनी (13) श्रीडूंगरगढ के रेलवे स्‍टेशन के पास मिल गई। दोनों बहनों को घरवालों के सुपुर्द कर दिया गया है। इनके मामा आनंद कुमार रामावत ने बताया कि दोनों बहनें आज सुबह करीब सात बजे निकली थी। एक बच्‍ची के पास मोबाइल फोन भी था, जो लगातार बंद आ रहा था। बाद में उसका मोबाइल चालू होने पर उनसे बातचीत हुई तो पता चला कि वे दोनों श्रीडूंगरगढ रेलवे स्‍टेशन के पास सकुशल हालत में है। दोनों बहनें घर से क्‍यों निकली इसका अभी पता नहीं लग सका है।

राजस्‍थान में तबादलों के मानसून के बीच 11 IAS के तबादले व पदस्‍थापन

जयपुर Abhayindia.com प्रदेश में चल रहे तबादलों के दौर के बीच आज राज्य सरकार ने 11 आईएएस के तबादले व पदस्थापन किए हैं। सूची में प्रशिक्षण समाप्ति के बाद 7 आईएएस अफसरों को जिलों के अलग-अलग उपखंड में उपखंड अधिकारी के पद पर पहली पोस्टिंग दी गई है। कार्मिक विभाग ने दौसा और भरतपुर जिला परिषद के सीईओ और बूंदी उपखंड अधिकारी को एपीओ कर दिया गया है। कार्मिक विभाग की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि निकाय उपचुनाव व पंचायती राज संस्थाओं के निर्वाचन से जुडे अधिकारी आचार संहिता समाप्त होने के बाद ही नई जगह पर कार्यभार ग्रहण कर सकेंगे।

देखें तबादला सूची…

इनका यहां हुआ तबादला

प्रताप सिंह : मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिल परिषद एवं पदेन मुख्य परियोजना अधिकारी माडा, दौसा

सुशील कुमार : मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद एवं पदेन मुख्य परियोजना अधिकारी म्हाडा भरतपुर

रोहिताश्व सिंह तोमर : मुख्य कार्यकारी अधिकारी (बीड़ा) अलवर

अमित यादव : सहायक सीईओ स्टेट हैल्थ एश्योरेंस एजेंसी, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग

इन आईएएस को मिली पहली पोस्टिंग

कनिष्क कटारिया : एसडीओ—रामगंज मंडी कोटा

राहुल जैन : एसडीओ चौंमू जयपुर

सलोनी खेमका : एसडीओ बडगांव उदयपुर

रिषभ मंडल : एसडीओ सुमेरपुर पाली

गिरधर : भवानीमंडी—झालावाड

धिगदे स्नेहिल नाना : एसडीओ झाडोल उदयपुर

ललित गोयल : एसडीओ बूंदी

इनको किया एपीओ…

लक्ष्मीकांत बालोत : सीईओ जिला परिषद दौसा

राजेन्द्र सिंह चारण : सीईओ जिला परिषद भरतपुर

कैलाश चंद गुर्जर : एसडीओ बूंदी

सीएम गहलोत की अध्‍यक्षता में होगी कैबिनेट बैठक, इन पर होगा विचार…

जयपुर Abhayindia.com मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत की अध्‍यक्षता में कैबिनेट की बैठक कल शाम पांच बजे सीएमआर में बुलाई गई है। कैबिनेट की बैठक के बाद शाम 5.30 बजे मंत्रिपरिषद की बैठक होगी। इस बैठक में आगामी विधानसभा सत्र के साथ ही अनलॉक में छूट को लेकर विचार-विमर्श के साथ ही स्कूल शुरू करने को लेकर भी सरकार सभी पहलुओं को देखेगी। आपको बता दें कि राज्‍य सरकार अभी नौवीं से 12वीं कक्षा तक स्कूल खोलने पर विचार कर रही हैं, लेकिन अभी 18 साल से कम आयु वालों के लिए वैक्सीन नहीं है इसलिए इस पर मंथन किया जाएगा।

बीकानेर : शिक्षकों को संस्थान के खिलाफ उकसाना भारी पड़ा, कुलपति ने प्राचार्य को पद से हटाया…

बीकानेर Abhayindia.com तकनीकी विश्वविद्यालय के संघटक महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. यदुनाथ सिंह को शिक्षकों और कर्मचारियों को संस्थान के हितों के खिलाफ उकसाना भारी पड़ा। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अम्बरीष विद्यार्थी ने प्राचार्य यदुनाथ सिंह को उनके पद से हटा दिया है। जारी किए गए आदेश के अनुसार प्राचार्य ने व्यवस्था की अनुपालना सुनिश्चित नहीं की, प्रशासनिक व वित्तीय कार्यों के निष्पादन में अपेक्षित प्रतिबद्धता, समयबद्धता एवं शुचिता के विरुद्ध कार्य करने किया है। इसको देखते हुए विश्वविद्यालय अधिनियम के तहत तुरंत प्रभाव से प्राचार्य को हटाया गया है। आगामी नियुक्ति नहीं होने तक प्राचार्य और निदेशक का कार्य भार कुलपति स्वयं संभालेंगे। साथ ही प्राचार्य डॉ. सिंह को शिक्षण संबंधित कार्यों के अतिरिक्त विश्वविद्यालय की ओर से आवंटित प्रभार, कार्यों से भी मुक्त कर दिया गया है।

बीकानेर : शिक्षा मंत्री पर आरएएस परीक्षा में निजी रिश्तेदारों को अनुचित लाभ देने का आरोप

बीकानेर Abhayindia.com राज्य लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित राज्य प्रशासनिक सेवा परीक्षा के परिणामों पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी के नेता और एडवोकेट सुरेन्द्र सिंह शेखावत ने इन परिणामों में शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा पर गंभीर आरोप लगाए हैं। शेखावत ने यहा जारी एक बयान में आरोप लगाया है कि कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के पुत्र अविनाश डोटासरा की पत्नी, साले और साली को आरएएस परीक्षा के साक्षात्कार में एक समान 80-80 अंक देकर अनुचित तरीके से लाभ पहुंचाया गया है। इस प्रकार राज्य लोक सेवा आयोग ने प्रदेश के बेरोजगार योग्य अभ्यर्थियों के हक पर कुठाराघात किया है।

शेखावत ने राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा जारी अंक तालिका को जारी करते हुए यह बताया है कि अविनाश डोटासरा की पत्नी, उनकी साली और साले तीनों के ही लिखित परीक्षा में प्राप्तांक 50 प्रतिशत से कम है जबकि तीनों को ही साक्षात्कार में एक समान 80-80 अंक देकर अवांछित लाभ पहुंचाया गया है। शेखावत के अनुसार यह दुर्लभ संयोग नहीं हो सकता, जबकि राज्य लोक सेवा आयोग की परीक्षा को टॉप करने वाली मुक्ता राव को साक्षात्कार में 77 अंक ही दिए गए हैं। इसी तरह राज्य मेरिट में चौथी रेंक प्राप्त करने वाले निखिल को साक्षात्कार में मात्र 67 अंक दिए गए है।

विश्वसीयता पर सवाल?

शेखावत ने आरोप लगाया है कि इससे राज्य लोक सेवा आयोग की विश्वसनीयता पर सवालिया निशान खड़ कर दिया है। शेखावत ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद डोटासरा पर आरोप लगाया है कि उन्होंने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अपने निजी रिश्तेदारों को सत्ता के दबाव में अनुचित लाभ दिलाया है।

मंत्री पद से दें इस्तीफा…

भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह शेखावत ने इस पूरे मामले को पद के दुरुपयोग का मामला मानते हुए राज्य के शिक्षा मंत्री से इस्तीफे की मांग की है। शेखावत ने कहा है कि मुख्यमंत्री इस पूरे मामले की जांच कराए और मंत्री को पद से हटाए, ताकि राज्य लोक सेवा आयोग की विश्वसनीयता को बचाया जा सके।

बीकानेर : तीसरी लहर को लेकर कितना सतर्क है विभाग? बता रहे हैं सीएमएचओ डॉ.ओपी चाहर, देखें वीडियो

बीकानेर Abhayindia.com कोरोना की तीसरी लहर को लेकर स्वास्थ्य विभाग कितना सतर्क है? किस तरह की व्यवस्थाएं की जा रही है? इन सवालों को लेकर अभय इंडिया ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ओ. पी. चाहर से खास बातचीत की। डॉ. चाहर ने बताया कि तीसरी लहर की संभावनाओं को लेकर विभाग पूरी तरह से मुस्तैद है। बताया जा रहा है कि इसका प्रभाव बच्चों पर अधिक हो सकता है, इसेे देखते हुए पूरी सतर्कता बरती जा रही है। स्टाफ को प्रशिक्षित किया जा रहा है। केन्‍द्रों पर ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर लगाए जा चुके है। सात ऑक्सीजन प्लांट तैयार हो चुके हैं।

डॉ. चाहर ने बताया कि मौसम परिवर्तन के साथ ही बारिश जनित रोगों की संभावनाओं को लेकर भी स्वास्थ्य विभाग सतर्क है। मलेरिया, डेंगू बुखार के लक्षण वाले रोगियों की स्लाईड लेने के लिए कहा गया है। सीएमएचओ ने बताया कि घर-घर सर्वे शुरू कराया गया है। जहां पर बारिश का पानी एकत्रित है वहां टेमीफॉस व एमएलओ डालने के लिए निर्देश दिया गया है। संस्थाओं पर स्थित हैचरीज को मरम्मत कर गम्बुशिया डालने को कहा गया है। सीएमएचओ ने बताया कि फिलहाल मलेरिया, डेंगू सहित अन्य बीमारियों के कोई रोगी सामने नहीं आए है। एक साल में मलेरिया एक रोगी ही सामने आया था। इसके बावजूद विभाग पूरी तरह से सतर्कता बरत रहा है।

टीकों की उपलब्धता…

जिले में टीकाकरण की स्थिति के सवाल पर सीएमएचओ ने बताया कि टीकों की उपलब्धता में परेशानी आ रही है, लेकिन जितनी उपलब्धता होती है उसी के आधार पर टीकाकरण किया जा रहा है।

दीवार पर बवाल : पूर्व मंत्री भाटी ने कहा- चाहे गोली चला लो, लेकिन दीवार तो बनेगी…

बीकानेर Abhayindia.com बीकानेर शहर से सटती शरह नत्‍थाणिया गोचर भूमि पर बन रही दीवार के निर्माण को रोकने के लिए आज दोपहर में इलाके के गिरदावर व पटवारी मौके पर पहुंच गए। इस दौरान एकबारगी बवाल सा मच गया। इसकी भनक लगते ही पूर्व मंत्री देवीसिंह भाटी और सैकड़ों की संख्‍या में गोचरप्रेमी मौके पर जुट गए। पूर्व मंत्री भाटी ने मौके पर पहुंचे सरकारी नुमाइंदों को खूब खरी-खरी सुना डाली। भाटी ने कहा कि गोचर में अवैध कॉलोनी कट गई, श्‍मशान बन गए, बेतहाशा अतिक्रमण हो गए, तब कोई यहां मौका देखने नहीं आया। आज गायों की सुरक्षा के लिए दीवार बन रही है तो इसमें रोड़ा डालने आ गए। ऐसा नहीं चलेगा। यदि आपको काम ही करना है तो पहले अतिक्रमण हटाओ और हमें निशानदेही दो। अन्‍यथा दीवार के निर्माण का काम तो ऐसे ही चलता रहेगा। पूर्व मंत्री भाटी ने अभय इंडिया से बातचीत में कहा है कि पिछले एक महीने से यहां दीवार के निर्माण का काम चल रहा है। सारे मीडिया और शहरवासियों को यह बात पता है, लेकिन प्रशासन को अब इसकी याद आई है। यहां वे काम रूकवाने के लिए आए थे, लेकिन बाद में हमने समझाइश की तो वे यह कहकर चले गए कि हम तो मौका देखने आए थे। भाटी ने तल्‍ख अंदाज में कहा कि दीवार का निर्माण तो जारी रहेगा, चाहे गोली चला दो या मुकदमे दर्ज करा दो, हम गोचर से टस से मस नहीं होंगे। उन्‍होंने कहा कि गायों को संरक्षित करने का जो बीड़ा शहरवासियों और यहां के गौसेवकों ने उठाया है उसे पूरा करके ही दम लेंगे। उन्‍होंने सवाल करते हुए कहा कि जब गोचर में अवैध कॉलोनियां बस गई, श्‍मशान और मंदिर बन गए तब किसी यहां झांककर भी देखा क्‍या? अब यहां पुनीत कार्य हो रहा है तो इसमें खलल डालने की कोशिश हो रही है, लेकिन गौसेवी अपना काम नहीं रोकेंगे।

बीकानेर के कांग्रेस नेता का बयान- जी-हुजूरी करने वालों को नहीं मिले मौका…

बीकानेर Abhayindia.com प्रदेश में सत्‍ता और संगठन में भागीदारी के लिए चल रही कवायद के बीच बीकानेर में भी कई नेता सक्रिय हो गए हैं। राजनी‍तिक नियुक्तियों को लेकर ये नेता जयपुर से दिल्‍ली तक चक्‍कर लगा रहे हैं। इस बीच, कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता गुलाम मुस्‍तफा (बाबू भाई) ने राजस्‍थान प्रभारी अजय माकन से दिल्‍ली में मुलाकात करते हुए सत्‍ता और संगठन में उचित भागीदारी देने की मांग रखी। मुस्‍तफा ने इस दौरान कहा कि नेताओं की जी-हुजूरी करने वाले मौकापरस्तों यहाँ तक कि संघी विचारधारा रखने वाले लोगों को बार-बार अवसर देने से जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं के मन मे हताशा आई है। मुस्तफा ने कहा कि पार्टी की मजबूती के लिये वर्षों से कार्य करने वाले कैडरबेस कार्यकर्ताओं को  सत्ता व संगठन में उचित भागीदारी देनी चाहिए। मुस्तफा ने कहा कि पिछले 25 वर्षों से सत्ता और संगठन में पार्टी प्रत्याशी के रूप मे हारे अथवा जीते नेताओं के समर्थकों को ही रिपिट करने से पार्टी सैकिंड लाईन के नेता, कार्यकर्ता हताश होकर घर बैठ जाते हैं अथवा राह बदलने को मजबूर होते हैं। कैडरबेस कार्यकर्ता स्थानीय नेताओं के कोपभाजन का शिकार होने के डर से नेतृत्व के समक्ष सच्चाई नहीं रख पाते हैं।

कुंआरों को विवाह के लिए करना होगा 119 दिन इंतजार, देवउठनी एकादशी से शुरू होंगे मांगलिक कार्यक्रम…

इस बार चातुर्मास काल आषाढ़ शुक्ल एकादशी (20 जुलाई) से शुरू होकर कार्तिक शुक्ल एकादशी (15 नवम्बर) तक होगा। ऐसी मान्‍यता है कि चातुर्मास शुरू होते ही भगवान विष्णु सृष्टि संचालन का कार्य भगवान शिव को सौंपकर खुद क्षीर सागर में योग निद्रा के लिए चले जाते हैं। चातुर्मास में शिव आराधना का विशेष महत्व है। सावन का महीना चातुर्मास में ही आता है। चातुर्मास के साथ ही मांगलिक कार्य विवाह, यज्ञोपवीत संस्कार, मुंडन संस्कार, दीक्षाग्रहण, नवीन गृहप्रवेश आदि शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। हालांकि, इन दिनों में खरीदारी, लेन-देन, निवेश, नौकरी और बिजनेस जैसे नए कामों की शुरुआत के लिए शुभ मुहूर्त रहेंगे।

आपको यह भी बता दें कि चातुर्मास के चलते विवाह समारोह भी नहीं होंगे, ऐसे में कुंआरों को करीब 119 दिनों तक यानी देवउठनी एकादशी तिथि तक इंतजार करना होगा। देवशयनी एकादशी 20 जुलाई और देव उठनी एकादशी 14 नवंबर को है। देवउठनी एकादशी के साथ ही शुभ कार्यों के मार्ग खुल जाएंगे। विवाह का पहला मुहूर्त 15 नवंबर को है।

अजय माकन के रिट्वीट से गर्माई राजस्‍थान की राजनीति, कोई अपने दम पर राज्‍य में…

जयपुर Abhayindia.com राजस्‍थान में गहलोत-पायलट के बीच चल रहे सियासी विवाद के बीच पंजाब में आखिरकार नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष बना दिया गया है। इसके साथ ही अब राजस्‍थान में भी हलचल तेज हो गई है। दरअसल, यह हलचल प्रदेश प्रभारी अजय माकन एक रिट्वीट के चलते हुई है। इसके बाद यह कयास यह भी लगाया जाने लगा है कि राजस्थान में सचिन पायलट को फिर से प्रदेशाध्यक्ष बनाया जा सकता है। आपको बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने के बाद अजय माकन ने एक पत्रकार के दो ट्वीट्स को रिट्वीट किया है। इन ट्वीट्स में लिखा है कि “किसी भी राज्य में कोई क्षत्रप अपने दम पर नहीं जीतता है। गांधी-नेहरू परिवार के नाम पर ही गरीब, कमजोर वर्ग, आम आदमी का वोट मिलता है। मगर चाहे वह अमरिन्द्र सिंह हो या गहलोत या पहले शीला या कोई और। माना जा रहा है कि इस ट्वीट को रिट्वीट कर अजय माकन ने सीधे तौर पर अशोक गहलोत पर निशाना साधा है।

अबकी बार सावन की लगेगी जोरदार झड़ी!

जयपुर Abhayindia.com प्रदेश में मानसून की बारिश से कई इलाके तर-बतर हो गए है वहीं कई इलाकों में अब भी झमाझम का इंतजार है। इस बीच, अच्‍छी खबर यह है कि अबकी बार सावन में जोरदार बारिश होगी। आपको बता दें कि 23 जुलाई से सावन शुरू हो जाएगा। मौसम विभाग के अनुसार, इस बार सावन में बारिश की झड़ी लगेगी। इसी क्रम में विभाग ने तीन दिन तक यलो अलर्ट जारी कर भारी बारिश की चेतावनी दी है। अलर्ट का असर 21 जुलाई तक दिखाई देगा। विभाग ने 19 जुलाई को अलवर, झुंझुनू जिलों में एक दो स्थानों पर भारी से अति भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। पूर्वी राजस्थान में अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडगढ़़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक, उदयपुर और पश्चिमी राजस्थान में बाड़मेर, जालौर, जोधपुर, नागौर, पाली जिलों में कहीं-कहीं पर मेघगर्जन और वज्रपात की संभावना जताई गई है। इसी तरह 20 जुलाई को अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडगढ़़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक और उदयपुर जिलों में कहीं-कहीं पर मेघगर्जन और वज्रपात की संभावना जताई है। 21 जुलाई को अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडगढ़़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक, उदयपुर जिलों में कहीं-कहीं पर मेघगर्जन और वज्रपात की संभावना।

Abhay Indiahttps://abhayindia.com
बीकानेर की कला, संस्‍कृति, समाज, राजनीति, इतिहास, प्रशासन, पर्यटन, तकनीकी विकास और आमजन के आवाज की सशक्‍त ऑनलाइन पहल। Contact us: abhayindia07@gmail.com : 9829217604
LATEST NEWS

OTHERS NEWS

MN Hospital Bikaner Rajasthan
Join WhatsApp