जयपुर में भारत-न्‍यूजीलैंड का क्रिकेट मैच देखने का है इरादा तो पहले जान लें ये नियम-कायदे…

cricket
cricket

जयपुर Abhayindia.com प्रदेश की राजधानी जयपुर में आठ साल बाद 17 नवम्‍बर को अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट मैच आयोजित होने जा रहा है। सवाई मानसिंह स्टेडियम में भारत-न्यूजीलैंड के बीच होने वाले टी-20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच देखने के लिये गाइडलाइन जारी की गई है। इस गाइडलाइन का पालन करने के बाद ही क्रिकेट प्रेमी मैच देख पाएंगे। स्टेडियम की पूरी क्षमता के अनुसार दर्शक आ सकेंगे। मैच के टिकट की न्यूनतम कीमत 1000 रुपये होगी। एक हजार से लेकर 15 हजार रुपये तक की टिकट पेटीएम पर उपलब्ध रहेंगी। टिकट 11 नवंबर से ऑनलाइन खरीदें जा सकेंगे।

आपको बता दें कि राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन की ओर से मैच के लिये दर्शकों को लेकर गृह विभाग से मार्गदर्शन मांगा गया था। गृह विभाग ने इसे लेकर आरसीए को पूरी क्षमता के साथ दर्शकों के प्रवेश के लिये अनुमति दे दी है। गृह विभाग की ओर से मैच के दौरान कोविड-19 संक्रमण को रोकने के लिये आरसीए को दिशा-निर्देश दिये गये हैं। एसोसिएशन को गृह विभाग से मिले दिशा-निर्देशों के तहत मैच के दौरान दर्शकों को कोविड गाइडलाइन की पालना करते हुए मास्क का अनिवार्य उपयोग करना होगा। इसके अलावा सेनेटाइजेशन, थर्मल स्क्रीनिंग, बंद स्थानों पर उचित वेंटीलेशन जरुरी होगा। स्टॉफ, दर्शकों और खिलाडियों के लिये वेक्सीनेशन की कम से कम एक डोज लगी होनी जरुरी है। आरसीए के सचिव महेंद्र शर्मा ने बताया कि भारत-न्यूजीलैंड T-20 अंतरराष्ट्रीय मैच के आयोजन में पूरी दर्शक क्षमता को ध्यान में रखते हुए करोना से बचाव के लिए राज्य सरकार की ओर से जारी सभी दिशा निर्देशों की पालना कराया जायेगा। सचिव शर्मा ने बताया कि जो भी दर्शक मैच देखना चाहते है वे कोरोना वैक्सीन की कम से कम पहली खुराक अवश्य लिये होना चाहिये। इसके साथ ही वैक्सीन की दूसरी खुराक नहीं लेने वाले दर्शकों को मैच शुरू होने से पूर्व 48 घंटे के अंदर की आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लाना जरूरी होगा।

कोरोना की लहर को लेकर सीएम गहलोत ने जताई चिंता, केन्‍द्र सरकार को दी ये नसीहत…

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना को लेकर सतर्कता बरतने की बात कही है। यूरोप के देशों में कोरोना की नई लहर के बाद उन्‍होंने केंद्र सरकार से विदेश से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग, क्वारेंटाइन करने सहित विशेष प्रावधान लागू करने का सुझाव दिया है। सीएम गहलोत ने ट्वीट करके सावधानी बरतने की नसीहत देते हुए लिखा है- यूरोप में आई नई लहर में संक्रमण काफी तेजी से फैल रहा है। पहले देखा गया है कि यूरोप में संक्रमण बढ़ने के दो-तीन महीने बाद भारत में भी मामले बढ़ने लगते हैं। ऐसा इस दफा न हो, इसके लिए भारत सरकार को विदेशों से आने वाले यात्रियों के लिए विशेष प्रावधान करने चाहिए।

उन्‍होंने आगे लिखा है- यह भी देखा गया है कि आमजन ने अब मास्क का प्रयोग कम कर दिया है। मेरी सभी से प्रार्थना है कि ऐसा ना करें। मास्क का प्रयोग पहले की तरह करते रहें। मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और वैक्सीन ही कोविड से बचाव के तरीके हैं। इनमें कोई भी चूक आपको संक्रमित कर सकती है, इसलिए सावधानी बरतें।

आपको बता दें कि इससे पहले कोरोना की पहली लहर के समय विदेशों से फ्लाइट पर रोक नहीं लगाने से संक्रमण ज्यादा फैलने का मुद्दा उठा था। कांग्रेस ने उस वक्त केंद्र सरकार पर समय पर दूसरे देशों से आवाजाही नहीं रोकने का आरोप लगाया था। अब गहलोत ने फिर यूरोपीय देशों से आने वाले यात्रियों पर कोरोना प्रोटोकॉल के हिसाब से विशेष प्रावधान लागू करने का सुझाव दिया है।