मजदूर दिवस पर एकजुट होंगे संविदाकर्मी, होगा आंदोलन का आगाज

Labour day
Labour day

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। स्थायीकरण की मांग को लेकर संविदाकर्मी एक मई को मजदूर दिवस पर यहां बीकानेर के कर्मचारी मैदान में एकजुट होकर आंदोलन का आगाज करेंगे। इसे लेकर अखिल राजस्थान राज्य संयुक्त कर्मचारी महासंघ (एकीकृत) के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं जिलाध्यक्ष कर्मचारी नेता भंवर पुरोहित के नेतृत्व में तैयारियां शुरू कर दी गई है।

जिलाध्यक्ष पुरोहित ने बताया कि संविदा निविदा कर्मचारी स्वतंत्रता आन्दोलन के माध्यम से संविदा निविदा कर्मचारियों की मांगों के निराकरण की मांग की जाएगी। हम चाहते है कि राज्य सरकार संविदा एवं निविदा कर्मचारियों की जो बात संकल्प पत्र रूपी घोषणा पत्र में कही गई है उसका तुरन्त निस्तारण हो एवं संवाद के माध्यम से इनके स्थायीकरण की नीति लाई जाए। इस संबंध में विभिन्न बिन्दुओं पर चर्चा कर आन्दोलन की रणनीति बनाई जाएगी।

संविदा निविदा कर्मियों की ये हैं मांगें

-राज्य सरकार अपने घोषणा पत्र एवं संकल्प पत्र में सम्मिलित राज्य के विभिन्न विभागों में कार्यरत संविदा एवं निविदा कार्मिकों के स्थायीकरण एवं समायोजन की नीति अतिशीघ्र लेकर आए।

-प्रदेशभर में लम्बे समय से आन्दोलनरत एनआरएचएम प्रबंधकीय कर्मचारियों, लेखाकार, बीपीएम, आशा फेसिलेटर, आशा सुपरवाइजर, कम्प्यूटर ऑपरेटर से तुरंत राज्य सरकार वार्ता कर इनकी समस्या का समाधान करें तथा झुंझुनंू एवं अन्य जिलों की पुलिस द्वारा किये गये झूठे मुकदमों को बिना शर्त वापस लें।

-महिला बाल विकास में कार्यरत कार्मिक आशा सहयोगिनी, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की जायज मांगों को राज्य सरकार यथाशीघ्र पूरा करें।

-प्रदेशभर में लम्बे समय से आन्दोलनरत मुख्यमंत्री नि:शुल्क दवा योजना एवं जांच योजना में कार्यरत मशीन विद मैन ऑपरेटर्स से राज्य सरकार तुरंत वार्ता कर इनकी जायज मांगों का निराकरण करें एवं इनके स्थायीकरण की नीति बनाए।

-प्रदेशभर में कार्यरत समस्त संविदा निविदा कार्मिकों के लिए समान कार्य समान वेतन की नीति लागू करें।