मच्छरों का प्रकोप : हरकत में आया चिकित्सा एवं स्वास्थ्य महकमा

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। सुजानदेसर सहित आसपास के क्षेत्र में गंदे पानी के ठहराव स्थलों पर पनप रहे मच्छरों के खात्मे के लिए चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने इसके लिए निर्देश जारी करते हुए पांच कर्मचारियों की ड्यूटी लगा दी है। इससे पहले 25 अप्रेल को भागीरथ नंदिनी से जुड़े पदाधिकारियों के शिष्टमंडल में जिला कलक्टर को ज्ञापन देकर बताया था कि सुजानदेसर, श्रीरामसर, गंगाशहर, भीनासर आदि क्षेत्रों में गंदे पानी की झीलों मे पनप रहे मच्छरों की रोकथाम की मांग की थी।

भागीरथ नंदिनी संस्था के अध्यक्ष मिलम गहलोत ने बताया कि उनकी मांग के संबंध में सीएमएचओ ने एक आदेश जारी कर कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई है। इस आशय के आदेश की प्रति भी संस्था को भेजी है। साथ ही मिक्स लिक्विड डालने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। इस दौरान भागीरथ नंदिनी के अध्यक्ष मिलन गहलोत, प्रदेश कांग्रेस सचिव राजकुमार किराड़ू, मन्नू सेवग, जय दयाल गोदारा, पार्षद हजारी देवड़ा, टिकु राम मेघवाल, भीखाराम कड़ेला, एजाज पठान, नवीन डूडी, किशन किराडू, पिंटू गहलोत, इंद्र कच्छावा, जय नारायण सांखला आदि उपस्थित थे।

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस के सचिव राजकुमार किराडू ने बताया की सीएमएचओ की ओर से मिले एक लिखित पत्र बताया गया है कि प्रत्येक दस दिन के बाद उक्त क्षेत्रों में वहां पर फोगिंग की व्यवस्था होगी और मिक्स लिक्विड झीलों में निरंतर डाला जाएगा। इससे मच्छरों से निजात मिल सकेगी। किराड़ू ने बताया कि इस कार्य में यदि कोताही बरती गई तो आंदोलनात्मक रुख अपनाया जाएगा।

गौरतलब है कि शहर के अनेक क्षेत्रों में अब भी गंदे पानी के ठहराव स्थलों पर मिक्स लिक्विड डालने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से माकूल प्रबंध नहीं किए जा रहे हैं। ऐसे में मच्छरों का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। विभाग को चाहिए कि वो ऐसे क्षेत्रों को चिन्हित कर मिक्स लिक्विड डालने के लिए सतत् अभियान चलाए।