कलक्टर ने ऐसे ली शिक्षा अधिकारियों की क्लास, कहा- लापरवाही बरती तो…

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज) जिला कलक्टर कुमार पाल गौतम ने बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित जिला निष्पादन समिति की बैठक में शिक्षा अधिकारियों की जोरदार क्लास ले ली। कलक्टर ने कहा कि स्कूलों का जायजा लेनेे के लिए मैंने  कई स्कूलों में भ्रमण किया। इस दौरान उन्हें स्कूलों में ग्रीन बोर्ड्स अच्छी स्थिति में नहीं मिले साफसफाई, फर्नीचर, बैठने की व्यवस्था आदि की व्यवस्था में कमियां सामने आई। इसे लापरवाही की श्रेणी में मानते हुए संबंधित के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि फंड और संसाधनों की उपलब्धता के बावजूद स्कूलों में अभाव की स्थितियां देखने को मिल रही है। अधिकारी स्कूलों का नियमित रूप से भ्रमण करें और व्यवस्था की जांच करें और खामी पाए जाने पर संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही करें। गौतम ने जिले में चल रहीे कस्तुरबा गांधी आवासीय विद्यालयों में रहने, खानेपीने से जुड़ी व्यवस्थाएं सुचारू रहें तथा इन स्कूलों में इंग्लिश स्पीकिंग की अतिरिक्त कक्षाओं की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। 

बैठक में कलक्टर गौतम ने कहा कि सभी ब्लॉक जिला शिक्षा अधिकारी पूर्ण निष्ठा और ईमानदारी से सर्वे करवाएं जिसमें विभिन्न कारणों से शिक्षा से वंचित रह रहे बच्चों को चिन्हित किया जाए तथा आगामी सत्र से इन सभी बच्चों को स्कूलों से जोडऩे की पुख्ता व्यवस्था हो ताकि इन बच्चों को बुनियादी शिक्षा मिल सके। उन्होंने कहा कि ग्रामीण शहरी क्षेत्रों में सांसी, कंजर बस्ती में जाकर अभिभावकों से अपने बच्चों को स्कूल भेजने के बारे में समझाइश की जाए। ऐसे बच्चों का आरटीई अधिनियम के प्रावधानों के तहत निजी स्कूलों में भी प्रवेश दिलवाया जाए। 

तो एजेंसी अफसर होंगे जिम्मेदार

उन्होंने कहा कि राजकीय भवनों आदि के निर्माण कार्य में लगे मजदूरों के बच्चे भी स्कूल जा रहे हैं यह सुनिश्चित करना संबंधित एजेंसी की जिम्मेदारी रहेगी। जिला कलक्टर गौतम ने कहा कि जिले के सभी सरकारी स्कूलों में जारी निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की जांच की जाएगी। गौतम ने अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) . एच. गौरी को इस बंध में निर्देश दिए कि एक जांच समिति गठित की जाए। यह समिति सभी उपखंडों जिला मुख्यालयों पर स्थित राजकीय विद्यालयों जो निर्माण कार्य चल रहे हैं, उनकी जांच कर रिपोर्ट कर प्रस्तुत करें। गौतम ने कहा कि यदि किसी भी निर्माण कार्य की गुणवता में निर्धारित मापदण्डों के हिसाब से कोई कमी पाई गई तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी। जिला कलक्टर ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि विभिन्न योजनाओं के तहत स्कूलों में जो निर्माण कार्य प्रारंभ होने हैं, वे समय पर हो और उन्हें समयबद्ध रूप से पूरे किए जाएं। उन्होंने कहा कि अधिकारी नियमित रूप से निर्माणाधीन कार्यों का निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें।

खोली जायेगी डिजिटल लाईब्रेरी

उन्होने कहा कि आधुनिक युग में शिक्षा के क्षेत्र में तकनीक का उपयोग करते हुए विद्यार्थियों के लिए डिजीटल लाईब्रेरी खोली जाएगी। इस लाइब्रेरी में ऑडियो तथा वीडियों फोरमेट में एनसीईआरटी पुस्तकें, न्यूजपेपर, कहानियां सहित विभिन्न विषयों से जुड़ी विस्तृत पठन सामग्री उपलब्ध रहेगी। गौतम ने कहा कि इसके लिए शीघ्र स्थान का चयन कर निर्माण प्रक्रिया प्रारंभ कररवाई जाएगी। जिला कलक्टर ने कहा कि जिले की सभी स्कूलों में साफसफाई, पेयजल बैठने आदि सहित बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध हो, यह सुनिश्चित किया जाए। कक्षाओं में ग्रीन बोर्ड लगाएं जाएं। बैठक में बताया गया कि जिले में व्यावसायिक शिक्षा 21 विद्यालयों में चल रही है। दिव्यांग बच्चों को समावेशित शिक्षा कार्यक्रम के तहत शीघ्र ही अंग उपकरण वितरित किए जाएंगे। जिला कलक्टर ने कहा कि सभी स्कूलों में कंप्यूटर लैब सुचारू हो, कंप्यूटर फंक्शनल स्थिति में हो तथा बच्चों को कंप्यूटर शिक्षा मिले, यह सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी बच्चों के ईमेल आइडी बनाएं। आईसीटी की बेसिक जानकारी देने के लिए एक मॉड्यूल बनाकर कार्य करें। बैठक में सबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

बीकानेर रेंज के चार पुलिस निरीक्षकों के तबादले निरस्त

हॉलीवुड फिल्म ‘होटल मुम्बई’ में अनुपम खेर के साथ बीकानेर के अखिलेश का अभिनय…