बीकानेर : सर्वे में खुलेगी बहुमंजिला इमारतों में सुरक्षा की पोल

breaking news logo
breaking news logo

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। शहर की बहुमंजिला इमारतों, शॉपिंग का प्लेक्स और होटलों में अग्निशमन के क्या बंदोबस्त हैं? उपकरण लगे हुए हैं या नहीं? आग लगने की स्थिति में कैसे लोगों को सुरक्षित निकाला जा सकता है। कैसे रेस्क्यू किया जा सकता है। फायर बिग्रेड कैसे पहुंच सकती है, इन सभी बिन्दुओं समावेश करते हुए फायर सेफ्टी प्लान तैयार किया जाएगा। ताकि कोई आपदा आने पर तत्काल काबू पाया जा सके।

आपको बता दें कि उच्च न्यायालय में मॉल और बहुमंजिला इमारतों में फायर सुरक्षा के बंदोबस्त नहीं होने से संबंधित एक जनहित याचिका लगी हुई है। न्यायालय ने सरकार से प्रदेशभर में इस तरह की इमारतों के फायर सेफ्टी प्लान की स्थिति के बारे में जवाब मांगा है। इसके बाद स्वायत्त शासन विभाग ने सभी निकायों को सेफ्टी प्लान तैयार करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही मौका-ए-रिपोर्ट भी मांगी है।

नगर निगम आयुक्त प्रदीप गावड़े ने बताया कि आदेश की पालना में शहर की बहुमंजिला इमारतों में फायर सुरक्षा व्यवस्थाओं का सर्वे कर सात दिन में रिपोर्ट पेश तैयार करने के निर्देश दिये है। उन्होने बताया कि बहुमंजिला इमारतों, मॉल्स, कोचिंग संस्थान व हॉस्पिटल का सर्वे करने के लिये अग्रिशमन अधिकारी रूपसिंह के अगुवाई में विशेष टीम का गठन किया गया है।

इस तरह होगा सर्वे

शहर में 15 मीटर से ऊंची बहुमंजिला इमारतों, रिहायशी, व्यावसायिक, गोदाम, वेयर हाउस, हॉस्पिटल, कोचिंग संस्थान व बहुमंजिला कॉम्पलेक्सो का सर्वे किया जाएगा। इनमें फायर सुरक्षा के तहत अण्डर ग्राउण्ड पानी के टैंक भवन की क्षमता के अनुसार, हाइड्रेन्ट सिस्टम, राइजर, बैसमेट में स्प्रिंकलर, होजरील, पंप व छोटे अग्निशन उपकरण के साथ फायर अलार्म की जांच की जाएगी। इसके साथ ही इमारत के चारों तरफ 3.6 मीटर का खाली स्थान होना जरूरी है, इसकी भी जांच की जाएगी। मीटर से कम ऊंचाई वाली रिहायशी व व्यावसायिक इमारतों में फायर सुरक्षा के तहत छोटे 4 किलो वाले अग्निशमन उपकरण पाउडर वाले, पानी, रेत की बाल्टियां, होजरील व अलार्म सिस्टम की जांच की जाएगी।

डॉ. जोशी के अध्यक्ष बनने की बधाई के बीच राठौड़-बेनीवाल के बीच हुआ हंगामा

आलाकमान ने मांगा जिलाध्यक्षों का रिपोर्ट कार्ड, कईयों पर गिरेगी गाज…

लोकसभा चुनाव के लिए दावेदारों की लंबी कतार, सीटवार जानें, कहां-कितने ठोक रहे ताल…