भामाशाह और कार्यकर्ताओं का सम्मान, पावन प्रवास से महाश्रमणमय हो गया क्षेत्र

बीकानेर Abhayindia.com श्री जैन श्वेताम्बर तेरापंथ के ग्यारहवें अनुशास्ता आचार्यश्री महाश्रमण के गत दिनों रहे गंगाशहर प्रवास के अवसर पर सहयोग करने वाले सभी भामाशाह और कार्यकर्ताओं का सम्मान कार्यक्रम तेरापंथ भवन में आयोजित किया गया।

श्री जैन श्वेतांबर तेरापंथी सभा द्वारा आयोजित हुए सम्मान कार्यक्रम मुनि शांति कुमार के सानिध्य में हुआ। इस अवसर पर मुनि शांति कुमार ने कार्यकर्ताओं के उत्साह की सराहना करते हुए कहा कि श्रेष्ठ कार्यकर्ता वह होता है, जो कार्य को हाथ में लेकर उसे संपन्नता तक पहुंचाते हैं। गंगाशहर के कार्यकर्ताओं ने बहुत ही उत्साह से कार्य किया है। मुख्य अतिथि महापौर सुशीला कंवर राजपुरोहित ने कहा कि गुरुदेव के पावन प्रवास से यह क्षेत्र महाश्रमण मय हो गया था। आज सभी कार्यकर्ताओं को उत्साह से लबरेज  देखती हूं तो मुझे लगता है कि पूज्य प्रवर का चातुर्मास हमें जरूर मिलेगा। तेरापंथी सभा के अध्यक्ष अमर चंद सोनी ने तन -मन और धन से कार्यक्रम को सफल बनाने में जी-जान से जुटे सभी लोगों का धन्यवाद ज्ञापित किया। तेरापंथी सभा के आयोजन प्रभारी जैन लूणकरण छाजेड़ ने सभी आयोजनों के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि सभी आयोजन सफल रहे। गुरुदेव के प्रवास से पूर्व ही कार्यकर्ताओं में जो उत्साह दिखाई दिया वह निरंतर बढ़ता ही रहा, कार्यकर्ताओं के दम पर सभी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से संचालित हो पाई। सभा के परामर्शक विजय सिंह डागा ने गुरुदेव के प्रवास पर की गई सभी व्यवस्थाओं की प्रशंसा करते हुए सभी कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाया। नवरतन बैद ने कार्यकर्ताओं को प्रोत्साहित करते हुए अपना वक्तव्य दिया।

तेरापंथी सभा द्वारा इस अवसर पर महापौर सुशीला कंवर राजपुरोहित को सम्मानित किया गया। गुरुदेव के प्रवास के अवसर पर अर्थ सहयोग करने वाले सभी भामाशाह तथा कार्यक्रमों को सफल बनाने में जुटे हुए सभी कार्यकर्ताओं का सम्मान  सभा द्वारा किया गया। कार्यक्रम  में पधारे सभी आगंतुकों ने कहा कि महाश्रमण के आगमन पर सभी कार्यक्रम अद्भुत रहे, सैकड़ों की संख्या में कार्यकर्ता और भामाशाह तेरापंथ भवन में उपस्थित हुए। जन-जन की जुबान पर ऐतिहासिक कार्यक्रम होने का जिक्र था। समारोह में समाज के गणमान्य जनों की उपस्थिति में तेरापंथ महिला मंडल, युवक परिषद, किशोर मंडल, कन्या मंडल, अणुव्रत समिति, पीपीएफ व ज्ञानशाला के सभी सदस्य तथा 23 समितियों से जुड़े सैकड़ों कार्यकर्ताओं को सम्मानित किया गया, सबको स्मृति चिन्ह भेंट किए। कार्यक्रम का संचालन सभा मंत्री रतनलाल छलानी ने किया।

संपादकीय : “अभय इंडिया” की स्‍थापना का बेमिसाल एक दशक, निष्‍पक्ष पत्रकारिता के बूते किया 11वें वर्ष में प्रवेश…