…ऐसा रहेगा सिंह राशि वालों के लिए नया साल 2019

सिंह राशि वाले जातक प्रभावशाली व्यक्तित्व के होते हैं। स्वभाव से उत्साही, निडर, साहसी और महत्वाकांक्षी होते हैं। सिद्धांतों व अनुशासित ढंग से कार्य करना इनकी प्रवृत्ति होती है। स्वभाव से दृढ़ निश्चयी होने के कारण दूसरों की नहीं सुनते हैं। इनमें नेतृत्व का अद्भुत गुण होता है। इस राशि वाले जातक साहसी, पराक्रमी, अपने उद्देश्य में सफलता पाने वाले होते हैं। कद-काठी के उत्तम होते हैं। राजनीति, शासकीय मामलों में सफल होते हैं। इनका पारिवारिक जीवन उत्तम रहता है।

आइए, यहां जानते हैं यह साल इस राशि वालों के लिए विभिन्न क्षेत्रों में कैसा रहेगा -:

व्यवसाय : इस क्षेत्र में आने वाली चुनौतियों का सामना दृढ़ता से कर पाएंगे। कार्य के लिए आपको बार-बार बाहर भी जाना पड़ सकता है। व्यापार का विस्तार आशा के अनुकूल होगा। नौकरी में जवाबदारी बढ़ेगी, साथ ही पदोन्नति भी होगी। प्रशासनिक अधिकार मिलेंगे।

धन-संपत्ति : स्थायी संपत्ति के विस्तार के सपने साकार हो सकेंगे। जमीन-जायदाद से जुड़े कार्य लाभ देंगे। नवीनीकरण पर व्यय होगा। पूंजी की व्यवस्था समय पर होगी। संचित कोष में वृद्धि होगी। आय के नए स्रोत मिल सकेंगे। निर्माण पर व्यय होगा।

घर-परिवार : परिवार के युवा सदस्यों की उन्नति के द्वार साल के अंत में खुल सकेंगे। विवाह के योग हैं। परिवार के सदस्यों की वृद्धि और संतान प्राप्ति के योग हैं। घर में मांगलिक कार्य हो सकते हैं। परिवार की आय में बढ़ोतरी होगी। किसी बात पर मतभेद भी हो सकता है।

स्वास्थ्य : इस वर्ष स्वास्थ्य सामान्यतौर पर अच्छा रहेगा। लंबी बीमारी से छुटकारा मिल सकेगा। रक्त की कमी, शुगर व पेट संबंधी रोग आदि से परेशानी हो सकती है। व्यायाम, योग, प्राणायाम से लाभ होगा।

करियर : करियर बनाने के लिए शुभ समय है। अपना मनपसंद क्षेत्र चुनने में विलंब हो सकता है। उच्च शिक्षा के लिए भी समय अनुकूल रहेगा। भाग्य का साथ मिलेगा। स्कॉलरशिप भी प्राप्त हो सकती है। पारिवारिक सहयोग प्राप्त होगा।

यात्रा-प्रवास : वर्ष के आरंभ में कुछ लंबी यात्राएं हो सकती हैं। नौकरी में मनमाफिक तबादला हो सकता है। परिवार के साथ आनंददायक यात्रा हो सकती है। धार्मिक यात्राएं हो सकती हैं।

धार्मिक कार्य : अध्यात्म में रुचि रहेगी। गीता, रामायण व भागवत के पाठ श्रवण-मनन में श्रद्धा रहेगी। राजयोग में दिलचस्पी बढ़ सकती है। परिवार में धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन हो सकता है।

उपाय : दान-पुण्य, भोजन, वस्त्रदान से आत्मिक शांति मिलेगी। देवी व कुलदेवी की आराधना से परेशानियां दूर होकर लाभ में तब्दील होगी। पक्षियों को दाना चुगाएं, किसी का नुकसान भी नहीं करें।

सीएम की दावेदारी में गहलोत आगे, जश्न भी शुरू

शाम को दूर होगा सीएम के नाम पर सस्पेंस, शपथ समारोह की तैयारियां शुरू

…तो शाही शादी में क्यों नजर नहीं आए यहां के नामी-गिरामी चेहरे?