… लो नतीजों से पहले ही शुरू हो गया भीतरघात की शिकायतों का दौर

loksabha election
loksabha election

जयपुर abhayindia.com प्रदेश में 25 लोकसभा सीटों पर दो चरणों में हुए मतदान के बाद उनके नतीजे 23 मई को आने है, लेकिन इससे पहले ही चुनाव के दौरान हुए भीतरघात को लेकर अभी से ही शिकायतों का दौर शुरू हो गया है। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस के पांच उम्‍मीदवारों ने चुनाव नतीजों से पहले ही अपनी पार्टी के नेताओं की शिकायत पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी तक पहुंचा दी है।

राहुल गांधी को दस्तावेजों के साथ भेजी शिकायत में इन उम्‍मीदवारों ने नेताओं पर भीतरघात का आरोप लगाया है। इससे पहले इन्‍होंने सीएम अशोक गहलोत और उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट से भी मुलाकात कर भीतरघात करने वाले नेताओं के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। राहुल गांधी तक शिकायत पहुंचाने वाले प्रत्याशियों में जयपुर शहर से कांग्रेस उम्मीदवार ज्योति खंडेलवाल ने तो चुनाव के दरम्‍यान ही मंत्रियों और नेताओं की शिकायत कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी तक पहुंचा दी थी। खंडेलवाल से मतदान से 4 दिन पहले शहर के तीन विधायकों महेश जोशी, रफीक खान, अमीन कागजी सहित एक दर्जन नेताओं की शिकायत की है।

खंडेलवाल ने इन नेताओं पर जयपुर बजाय सीएम अशोक गहलोत के पुत्र वैभव गहलोत के चुनाव क्षेत्र जोधपुर में अधिक सक्रिय रहने और अपने समर्थकों द्वारा भीतरघात कराने का आरोप लगाया था। खंडेलवाल की इस शिकायत के बाद प्रदेश प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव अविनाश पांडे ने जयपुर के नेताओं की बैठक लेकर कड़े निर्देश भी दिए थे। इसी तरह जालौर-सिरोही सीट से कांग्रेस प्रत्याशी रतन देवासी ने विधायक संयम लोढ़ा, पूर्व विधायक रामलाल सहित कई अन्‍य नेताओं की भी शिकायत की है।

इधर, झुंझुनू सीट से कांग्रेस प्रत्याशी श्रवण कुमार ने विधायक बृजेंद्र ओला, पूर्व विधायक रीटा चौधरी पर भीतरघात करने का आरोप लगाया। झालावाड़ लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी प्रमोद शर्मा ने खान मंत्री प्रमोद जैन भाया सहित झालावाड़ और बारां जिलों के अधिकांश कांग्रेसियों की शिकायत की है। पाली से कांग्रेस उम्मीदवार बद्री जाखड़ ने भी पार्टी नेतृत्व को चुनाव में भीतरघात करने वाले नेताओं की सूची भेजी है।