Hometrendingराजस्‍थान में स्‍कूल खोलने के मसले पर मंत्री डोटासरा ने कहा- केन्‍द्र...

राजस्‍थान में स्‍कूल खोलने के मसले पर मंत्री डोटासरा ने कहा- केन्‍द्र की गाइड लाइन…

सीकर/जयपुर Abhayindia.com शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने प्रदेश में स्कूल खोलने को लेकर केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक ही फैसला लेने की बात कही है। मंत्री डोटासरा राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय नाडी दुर्गापुरा के लोकार्पण समारोह के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि रीट के जरिए 31 हजार तृतीय श्रेणी शिक्षकों की भर्ती होनी है। इसके अलावा 10 हजार नियमित कम्प्यूटर शिक्षकों की विज्ञप्ति भी जल्द जारी होगी। इसके अलावा अन्य श्रेणी के 19 हजार रिक्त पदों को भी भरकर बेरोजगारों का बड़ी सौगात दी जाएगी। प्रदेश में स्कूल खोलने को लेकर डोटासरा ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत स्कूल खोलने के मामले में ट्वीट के जरिए पूरी स्थिति स्पष्ट कर चुके है। आगामी दिनों में केंद्र सरकार की ओर से जारी नई गाइडलाइन के हिसाब से ही फैसला लिया जाएगा। डोटासरा ने कहा कि बच्चों की पढ़ाई के साथ सेहत भी जरूरी है। इसलिए किसी तरह की कोई जल्दबाजी नहीं करना चाहती है।

The Utsavv Mart Bikaner
Khaosa Bikaner

टोक्‍यो ओलंपिक : रवि दहिया ने दिलाया सिल्‍वर पदक, 2 बार के वर्ल्‍ड चैंपियन से…

खेल डेस्‍क। टोक्‍यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) के कुश्ती के अखाड़े में रवि दहिया 57 किलोग्राम वेट कैटेगरी के फाइनल में रवि 2 बार के वर्ल्ड चैंपियन रूस के जावुर युगुऐव से हार गए हैं। हालांकि, रवि सिल्वर मेडल लेकर ही भारत लौटेंगे। युगुऐव ने उन्हें 3 पॉइंट से मात दी। रवि ने कुश्ती के सेमीफाइनल में कजाकिस्तान के सनायेव नूरीस्लाम को हराकर फाइनल में प्रवेश किया था। रवि को ये जीत विक्ट्री बाय फॉल नियम से मिली थी यानी उन्होंने नूरीस्लाम को मुकाबले से ही बाहर कर दिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रवि दहिया को ट्वीट कर बधाई दी। उन्होंने कहा- रवि की लड़ने की भावना और दृढ़ता शानदार है। सिल्वर मेडल जीतने पर उन्हें बधाई। उनकी इस उपलब्धि पर पूरा भारत गौरवान्वित है।

रवि और युगुऐव दोनों इस वक्त शानदार फॉर्म में हैं। दोनों इससे पहले 2019 वर्ल्ड चैंपियनशिप में भिड़ चुके हैं। तब रूसी रेसलर ने भारतीय पहलवान को कड़े मुकाबले में 6-4 से हराया था। रवि को इस चैंपियनशिप में ब्रॉन्ज मेडल मिला था। रवि ने 2020 और 2021 एशियन चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था। वहीं 2018 अंडर-23 चैंपियनशिप में सिल्वर मेडल अपने नाम किया था।

दूसरी वरीयता प्राप्त युगुऐव 2018 और 2019 वर्ल्ड चैंपियनशिप जीत चुके हैं। वे रूस से आने वाले बेस्ट रेसलर्स हैं। उन्होंने अब तक करियर में 16 इंटरनेशनल कॉम्पिटिशन में 15 मेडल जीते हैं। इसमें से 13 गोल्ड मेडल हैं। हालांकि टोक्यो ओलिंपिक में उन्हें कुछ मुश्किल मैचों का सामना करना पड़ा है। सेमीफाइनल में उन्होंने ईरान के रेजा अत्रिनाघारचिनी को आसानी से हराया था।

रवि ने टोक्यो ओलिंपिक में भारत के लिए चौथा मेडल पक्का कर दिया है। उनके अलावा मीराबाई चानू ने वेटलिफ्टिंग में सिल्वर, पीवी सिंधु ने बैडमिंटन में ब्रॉन्ज और लवलिना बोरगोहेन ने बॉक्सिंग में ब्रॉन्ज मेडल जीता है। यह 2012 लंदन ओलिंपिक के बाद भारत का दूसरा सबसे सफल ओलिंपिक बन गया है।

राजस्‍थान में मंत्रिमंडल पुनर्गठन को लेकर काउंट डाउन शुरू, अब कभी भी…

जयपुर Abhayindia.com राजस्‍थान में गहलोत सरकार में मंत्रिमंडल के पुनर्गठन को लेकर काउंट डाउन शुरू हो गया है। माना जा रहा है कि आने वाले कुछ दिनों में ही मंत्रिमंडल में कई नए चेहरे आ सकते हैं वहीं, कई बाहर भी हो सकते है। कांग्रेस हाईकमान भी अब इस मामले को और लंबित नहीं रखना चाहती। बहरहाल, प्रदेश के नेताओं में ही नहीं, बल्कि नौकरशाहों में भी इस बात को लेकर चर्चाएं तेज हो रही है कि मंत्रिमंडल में कौन रहेगा और कौन हटोगा। आपको बता दें कि कांग्रेस के राष्ट्रीय संगठन महासचिव के. सी. वेणूगोपाल और प्रदेश के प्रभारी महासचिव अजय माकन पिछले दिनों सीएम अशोक गहलोत और विधायक-मंत्रियों के साथ सचिन पायलट से मंत्रणा कर अपनी रिपोर्ट पार्टी हाईकमान को सौंप चुके हैं। इस बीच, खबर यह भी है कि अब भी दिल्‍ली में राजस्‍थान के मसले पर लगातार बैठकों का दौर चल रहा है। इधर, आपको यह भी बता दें कि मंत्रिमंडल पुनर्गठन में जिन मंत्रियों पर तलवार लटकी हुई है उन्होंने अपनी कुर्सी बचाने के लिए जयपुर से दिल्ली तक पूरी ताकत झौंक दी है। हालांकि, कई मंत्री अपने पद के बने रहने को लेकर आश्‍वस्‍त भी नजर आ रहे हैं। उनके चहेते भी सोशल मीडिया पर पोस्ट कर मंत्रियों के कामकाज के बखान कर रहे हैं।

टोक्‍यो ओलंपिक : भारत ने 41 साल बाद जीता हॉकी में पदक

खेल डेस्‍क। टोक्‍यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में भारत की पुरुष हॉकी टीम ने ब्रॉन्ज मेडल के लिए जर्मनी की टीम के साथ हुआ मुकाबला 5-4 से जीतकर इतिहास रच दिया। भारत ने 41 साल बाद हॉकी में मेडल जीता है। जर्मनी ने मैच के पहले मिनट में गोल कर टीम इंडिया पर 1-0 से बढ़त बना ली। जर्मनी की ओर से यह गोल उरुज ने किया। हालांकि टीम इंडिया को मैच के 5वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर मिला, लेकिन रुपिंदर पाल सिंह गोल करने में नाकाम रहे। पहले क्वार्टर में जर्मनी में भारत पर हावी रहा। वहीं, दूसरे क्वार्टर की शुरुआत में भारत की सिमरनजीत ने गोल करके स्कोर को 1-1 से बराबर कर दिया।

दूसरे क्वार्टर की शुरुआत में जर्मनी से स्कोर की बराबरी करने वाले भारत के लिए 24वें और 25वें मिनट बेहद निराशाजनक साबित हुए। जर्मनी ने बढ़त बनाते हुए स्कोर 3-1 कर दिया। 26वें मिनट में भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला, हरमनप्रीत सिंह की ड्रैग फ्लिक को जर्मनी के गोलकीपर ने रोका, लेकिन हार्दिक सिंह ने फिर रिबाउंड पर गोल दाग दिया। इसके बाद टीम को 28वें मिनट पर फिर से पेनल्टी कॉर्नर मिला और इस बार हरमनप्रीत सिंह की ड्रैग फ्लिक ने भारत को 3-3 से बराबरी पर ला दिया। इसके बाद भारत ने तीसरे क्वार्टर में दो गोल दागे। भारत ने चौथा गोल 31वें मिनट में किया। रुपिंदर पाल सिंह ने पेनल्टी स्ट्रोक को गोल में बदला। इसके बाद 34वें मिनट में सिमरनजीत सिंह ने मैदानी गोल किया। इस गोल के साथ भारत ने जर्मनी पर 2 गोल की बढ़त बना ली। जर्मनी ने चौथे क्वार्टर में शानदार शुरुआत की। जर्मनी ने 48वें मिनट में चौथा गोल दागा। इस गोल के साथ भारत की बढ़त को कम कर दिया। जर्मनी ने यह गोल पेनल्टी कॉर्नर के जरिए किया। जर्मनी ने चौथे क्वार्टर में अपने गोलकीपर को हटा दिया और पूरी टीम गोल करने में जुटी रही। हालांकि भारत ने उसे गोल करने का मौका नहीं दिया और भारत ने यह मुकाबला 5-4 से जीत लिया।

राजस्‍थान : तीसरी लहर को लेकर केन्‍द्र ने भेजा अलर्ट, त्यौहारों पर कंट्रोल करनी होगी भीड़

जयपुर Abhayindia.com प्रदेश में भले ही कोरोना की दूसरी लहर दम तोड़ रही है, लेकिन तीसरी लहर की आहट सता भी रही है। इस बीच, खबर यह है कि केन्द्रीय स्वास्थ्य एजेंसियों और हेल्थ सेक्टर से जुड़े विशेषज्ञों ने कोरोना की तीसरी लहर की आशंका जताई है। केन्द्र सरकार ने राज्यों को अलर्ट भेजा है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने राजस्‍थान के मुख्य सचिव निरंजन आर्य को एक पत्र लिखकर कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए दिशा-निर्देश दिए हैं। पत्र में स्वास्थ्य मंत्रालय ने अगस्त और सितंबर में आने वाले त्यौहारों पर भीड़ को कंट्रोल करने के निर्देश दिए हैं। पत्र में यह भी कहा गया है कि अगर इन त्यौहारों पर सामूहिक भीड़ जुटी तो यह कोरोना की तीसरी लहर के लिए सुपर स्प्रेडर साबित हो सकते हैं।

पत्र में बताया कि पिछले दिनों इंडियन काउंसिल ऑफ मेडीकल रिसर्च और नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल ने चेतावनी जारी की है कि कोरोना की तीसरी लहर अगस्त-सितम्बर में आ सकती है। कोरोना की दूसरी लहर में जिस तरह केस बढ़े और उन्हें अब कंट्रोल किया गया है, यह आगे भी जारी रहे। भले ही डेली नए केसों की संख्या यह बता रही हो कि देश में कोरोना कम हो रहा है, लेकिन फिर भी कुछ राज्यों में बढ़ती नई केसों की संख्या और संक्रमण की दर बढ़ रही है। ऐसे में सभी सावधानियां और कोविड एप्रोपिएट बिहेवियर का पालन करते हुए तीसरी लहर को कंट्रोल करना है। पत्र के अनुसार, इस माह 19 अगस्त को मोहर्रम, 21 अगस्त को ओणम, 30 अगस्त को जन्माष्टमी, 10 सितंबर को गणेश चतुर्थी और 5 से 15 अक्टूबर तक नवरात्री है। केन्द्रीय सचिव ने राज्य सरकार को कोरोना की टेस्टिंग बढ़ाने और नए संक्रमित मिलने पर उसकी कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग अच्छे से करने के निर्देश दिए हैं। ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीनेट करने के लिए कहा है।

राजस्‍थान में झमाझम बारिश, कई जिलों में बाढ़ के हालात, एक और अलर्ट जारी

जयपुर Abhayindia.com मानसून की सक्रियता के बीच लगातार हो रही झमाझम बारिश के चलते राजस्‍थान के कोटा, बूंदी, बारां, धौलपुर सहित कई अन्य जिलों में बाढ़ के हालात बन गए हैं। कोटा संभाग के कई जिलों में भी कमोबेश ऐसे ही हालात बने हुए हैं। इस बीच, मौसम विभाग ने 5 अगस्त को कोटा, बारां, बूंदी, सवाई माधोपुर और करौली जिले में भारी बारिश की संभावना जताते हुए इन जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। विभाग ने इन्हीं जिलों में 6 अगस्त को भी तेज बारिश की संभावना जताई है। विभाग के अनुसार, अगले 24 से 48 घंटों के दौरान कोटा संभाग के जिलों में कहीं-कहीं भारी बारिश और एक-दो स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है।

मौसम विभाग और जल संसाधन विभाग के रिकॉर्ड के अनुसार, 31 जुलाई से 4 अगस्त तक शाहाबाद में रिकॉर्ड 1030 एमएम बारिश दर्ज हुई है। इस पूरे सीजन की बात करें तो सवाई माधोपुर के देवपुरा में सबसे ज्यादा बारिश दर्ज हुई है। यहां जून, जुलाई और 4 अगस्त तक कुल 1401 एमएम बारिश हो चुकी है। इधर, कोटा में 230 लोगों को एसडीआरएफ की टीम ने 400 से अधिक ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। बड़ोद में कालीसिंध नदी की पुलिया पर करीब 4 फीट की चादर चल रही है। भारी बारिश के कारण कोटा-इटावा मार्ग बंद हो गया। धौलपुर जिले में चंबल का पानी करीब 120 गांव व ढाणियों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है।

बीकानेर में आए थे लूट के इरादे से, पुलिस ने चारों को धरदबोचा

बीकानेर Abhayindia.com बीकानेर पुलिस ने लूट की बड़ी वारदात को अंजाम देने के मकसद से घूम रहे चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। आपको बता दें कि पुलिस को पता चला कि कुछ संदिग्‍ध लूट की वारदात को अंजाम देने के लिए बीकानेर में घूम रहे हैं। इसके बाद बीकानेर पुलिस और आईटी सेल एक्टिव हो गई। इस दरम्‍यान पुलिस को एक इनोवा गाड़ी संदिग्ध अवस्था में नजर आई। पुलिस ने उसे रोककर पूछताछ की तो उसमें सवार चारों जनों ने कोई संतोषजनक जवाब नहीं दिया। सख्ती से पूछताछ की तो स्वीकार किया कि वो लूट के इरादे से ही बीकानेर में आये थे। पुलिस ने इस मामले में चिड़ावा निवासी करण सिंह भगत, सरदारशहर निवासी पवन सिंह, सरदारशहर के फूलासर निवासी भैराराम और राजकुमार को गिरफ्तार किया है। कार्रवाई करने वाली टीम में जिला स्‍पेशल टीम (डीएसटी) के प्रभारी सुभाष बिजारणियां, सदर थाना प्रभारीसत्यनारायण गोदारा, बीछवाल थाना प्रभारी मनोज शर्मा, एएसआई रामकरण सिंह, हेड कांस्टेबल कानदान सांदु, पूनम, आईटी सेल के दीपक यादव, वासुदेव, लखविंद्र, योगेंद्र, दिलीपसिंह शामिल रहे।

राजस्‍थान में एसीबी की ताबड़तोड़ कार्रवाई, एक महीने में ही दबोचे 51 रिश्‍वतखोर

जयपुर Abhayindia.com राजस्‍थान में भ्रष्‍टाचार के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई हो रही है। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने बीते जुलाई में कुल 51 ट्रैप की कार्रवाई की है। रिपोर्ट के मुताबिक, इसके अलावा आय से अधिक संपत्ति का एक तथा पद के दुरुपयोग के तीन मामले भी दर्ज किए हैं। आपको बता दें कि इस वर्ष जुलाई में किए गए ट्रैप पिछले वर्ष की तुलना में ज्यादा है। बीते वर्ष जुलाई में 43 ट्रैप की कार्रवाई की गई थी।

एसीबी के डीजी बी. एल. सोनी के हवाले से आई मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, इस वर्ष अब तक 291 प्रकरण दर्ज हुए हैं, जिनमें 262 ट्रैप के, 12 आय से अधिक संपत्ति के और 17 पद के दुरूपयोग के मामले हैं। वहीं, बीते वर्ष इसी अवधि में यह संख्या महज 149 थी, जिनमें 128 ट्रेप, 2 आय से अधिक संपत्ति व 19 पद के दुरूपयोग के मामले थे। वर्ष 2021 में अब तक 266 परिवादों व 29 प्राथमिक जांचों का निस्तारण किया गया है।

बीकानेर : कर्म में विश्वास करते है फल में नहीं : बर्मन

ऊँटों की घटती संख्‍या चिंता का विषय, प्रो. गहलोत ने कहा- पालकों के लिए तैयार किया जाए मॉडल

बीकानेर : सिंथेसिस में नीट न्यू पैटर्न टैस्ट सीरीज 8 अगस्त से…

राजपुरोहित का एक और सावन गीत सीमा मिश्रा की आवाज में ‘वीणा’ से

चिकित्सा : अब मौके पर हो सकेगी कैंसर की जांच, मंत्री ने किया अर्ली कैंसर डिटेक्शन वैन का शुभारंभ…

जयपुर Abhayindia.com चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने मंगलवार को अपने राजकीय आवास से अर्ली कैंसर डिटेक्शन (प्रिवेंटिव ऑनकोलॉजी मोबाइल) वैन का शुभारंभ किया। स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट को उपलब्ध करवाई गई इस वैन से कैंसर की महत्वपूर्ण जांचें मौके पर ही की जा सकेंगी। लगभग 1.25 करोड़ लागत की यह वैन राजस्थान राज्य विद्युत प्रसारण लिमिटेड के सीएसआर फंड से प्राप्त हुई है।

डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि कैंसर का अर्ली डिटेक्शन (जल्द पहचान) नहीं होना भी कैंसर रोगियों की बढ़ती संख्या की वजह है। उन्होंने कहा लक्षणों को जल्द पहचानने में यह वैन खासी कारगर होगी। जयपुर के स्टेट कैंसर इंस्टीट्यूट से ऑनलाइन जुड़ी यह वैन प्रदेश के सुदूर गांवों में जाकर मरीजों की जांच करेगी और रिपोर्ट भी उसी समय उपलब्ध कराएगी। उन्होंने कहा कि देश में महिलाओं में स्तन एवं सर्वाइकल कैंसर और पुरुषों में सिर एवं फेफड़ों के कैंसर आम हैं। अर्ली डिटेक्शन से 90 प्रतिशत से अधिक कैंसर रोगियों का पूर्ण उपचार संभव है।

चिकित्सा मंत्री ने बताया कि इस वैन में मेमोग्राफी मशीन, डिजिटल एक्स-रे, कोलपोस्कॉपी, पैप स्मियर तथा सिर और गर्दन के परीक्षण के लिए वीडियो एन्डोस्कॉपी की सुविधाएं उपलब्ध होंगी। उन्होंने बताया कि राजस्थान में अब तक कोई प्रिवेंटिव ऑनकोलॉजी यूनिट नहीं थी। इस वैन से टेली कंसल्टेंसी सुविधा भी उपलब्ध कराई जाएगी। साथ ही जनता के स्वास्थ्य पर रिसर्च डाटा उपलब्ध हो सकेगा।

इस अवसर पर प्रमुख शासन सचिव नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन विभाग कुंजीलाल मीणा, चिकित्सा शिक्षा सचिव वैभव गालरिया, एसएमएस मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सुधीर भण्डारी, एसएमएस के अधीक्षक डॉ. राजेश शर्मा, वरिष्ठ कैंसर रोग विशेषज्ञ डॉ. आरजी शर्मा, डॉ. संदीप जसूजा एवं डॉ. सुरेश सिंह सहित अन्य वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी मौजूद थे।

प्रदेश : छात्रावासों में रिक्त पदों पर कार्मिकों के चयन के लिए आवेदन 7 अगस्त तक

जयपुर Abhayindia.com प्रदेश में जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग की ओर से संचालित आवासीय विद्यालयों, आश्रम छात्रावासों में रिक्त पदों पर चयन के लिए आवेदन तिथि को सात अगस्त तक बढ़ाया गया है। इसमें कॉलेज छात्रावासों, बहुउद्देशीय छात्रावासों, खेल छात्रावासों में रिक्त पदों पर प्रतिनियुक्ति पर पदस्थापन के लिए इच्छुक अभ्यर्थियों का पैनल तैयार करने के लिए राज्य सरकार के माध्यमिक शिक्षा, प्रारम्भिक शिक्षा एवं संस्कृत शिक्षा विभाग में कार्यरत अधिकारियों, कार्मिकों के चयन किया जाएगा, जिसकी ऑनलाईन आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ाकर 7 अगस्त तक की गई है।

इस सम्बंध में विभाग की आयुक्त प्रज्ञा केवलरमानी की ओर से जारी ओदशानुसार पूर्व में आवेदन की तिथि 3 अगस्त थी जिसे बढ़ाकर अब 7 अगस्त तक कर दिया गया है। आवेदन करने की अन्य शर्ते पूर्व की भांति यथावत रहेगी।

बीकानेर : जिला परिषद में स्थायी समितियों के चुनाव शुक्रवार को, सदस्यों की उपस्थिति रहेगी अनिवार्य…

 

 

Abhay Indiahttps://abhayindia.com
बीकानेर की कला, संस्‍कृति, समाज, राजनीति, इतिहास, प्रशासन, पर्यटन, तकनीकी विकास और आमजन के आवाज की सशक्‍त ऑनलाइन पहल। Contact us: abhayindia07@gmail.com : 9829217604
LATEST NEWS

OTHERS NEWS

MN Hospital Bikaner Rajasthan
Join WhatsApp