कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 : भारत को मिला एक और गोल्‍ड मेडल, वेटलिफ्टर जेरेमी ने रचा इतिहास…

Jeremy Lalrinnunga Weightlifter
Jeremy Lalrinnunga Weightlifter

खेल डेस्‍क बर्मिंघम में आयोजित कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 के पुरूषों के 67 किग्रा वजन वर्ग में भारत के युवा वेटलिफ्टर जेरेमी लालरिनुंगा ने गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है। वह बर्मिंघम में गोल्ड मेडल जीतने वाले भारत के पहले पुरुष एथलीट हैं। उनसे पहले महिलाओं में मीराबाई चानू ने स्वर्ण जीता था। वेटलिफ्टिंग में भारत का यह पांचवां पदक है। मीराबाई चानू और लालरिनुंगा के अलावा बिंदियारानी देवी ने रजत, संकेत सरगर ने रजत और गुरुराजा पुजारी ने कांस्य पदक जीता है।

वेटलिफ्टिंग के 67 किग्रा भारवर्ग स्पर्धा में स्नैच राउंड के मुकाबले समाप्त होने पर जेरेमी पहले स्थान पर थे। उन्होंने पहले प्रयास में 136 किलो वजन उठाया। दूसरे प्रयास में जेरेमी ने 140 किलो भार उठाया। तीसरे प्रयास में उन्होंने 143 किलो उठाने की कोशिश की, लेकिन वह नाकाम रहे। इस तरह स्नैच राउंड में उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 140 किलो रहा। वह दूसरे स्थान पर नाइजीरिया के इडिडिओंग जोसेफ से 10 किलो आगे थे। क्लीन एंड जर्क में जेरेमी लालरिनुंगा ने शानदार शुरुआत की। उन्होंने पहले प्रयास में 154 किग्रा भार उठाया। लेकिन इस दौरान वे चोटिल हो गए। दूसरे प्रयास में 160 किग्रा भार उठाने में सफल रहे। इस तरह उनका कुल स्कोर 300 किलो हो गया है। इसी के साथ वह दूसरे स्थान पर चल रहे खिलाड़ी से 20 किलो आगे निकल गए। जेरेमी क्लीन एंड जर्क के तीसरे प्रयास में 165 किग्रा भार उठाना चाह रहे थे, लेकिन वह नाकाम रहे। एक बार फिर से जेरेमी चोटिल हो गए। वह पीछे की ओर गिर गए। उनका कुल स्कोर 300 रहा।

आपको बता दें कि मिजोरम से आने वाले जेरेमी लालरिनुंगा ने कई मौकों पर भारत का प्रतिनिधित्व कर मेडल जीते हैं। इससे पहले कॉमनवेल्थ चैम्पियनशिप में 305 किग्रा के प्रयास से गोल्ड मेडल जीता था। 20 साल के लालरिनुंगा ने यहां पोडियम स्थान हासिल करते हुए स्नैच स्पर्धा में राष्ट्रीय रिकॉर्ड भी बनाया था। इस गोल्ड के साथ उन्होंने कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए क्वालिफाइ किया था।