ईसीबी में शिक्षकों के धरने का 16वां दिन, प्राचार्य कक्ष पर ठोका ताला

बीकानेर Abhayindia.com राजस्थान इंजीनियरिंग कॉलेज टीचर्स एसोसिएशन (रेक्टा) के तत्वावधान में इंजीनियरिंग कॉलेज बीकानेर (ईसीबी) के शिक्षकों का पांच सूत्रीय मांगों को लेकर आन्दोलन सोलहवें दिन भी जारी रहा l रेक्टा अध्यक्ष डॉ. शौकत अली ने बताया कि पिछले सोलह दिनों से बीकानेर, झालावाड और अजमेर की इंजीनियरिंग कॉलेजों में पांच सूत्री मांगों को लेकर कार्य-बहिष्कार और धरना प्रदर्शन निरंतर जारी हैl

उन्‍होंने बताया कि धरने में आज सभी शिक्षकों ने सैकडों की तादाद में मुख्यमंत्री के नाम पोस्टकार्ड के माध्‍यम से लंबित समस्या का शीघ्र समाधान करने के लिए लिखा हैl इसके साथ ही अजमेर, बीकानेर और झालावाड इंजीनियरिंग कॉलेजों द्वारा राजस्थान विधानसभा के 200 विधायकों और तकनीकी शिक्षा विभाग के उच्च अधिकारीयों को व्हाट्सएप मेसेज और ईमेल के जरिये प्रत्येक आंदोलनरत शिक्षक द्वारा पांच सूत्रीय मांगों का ज्ञापन भी पिछले सोलह दिनों से भेजा जा रहा हैl

ये हैं पांच मांगे…

रेक्टा प्रवक्ता डॉ. नवीन शर्मा ने बताया कि आन्दोलन मांगों के नहीं माने जाने तक यथावत रहेगा l पांच मांगे निम्न हैं…

1. सातवें वेतनमान के एरियर का भुगतान अभी तक सभी इंजिनीरिंग कॉलेजों में नही हुआ है जबकि इसका लाभ सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों के अशैक्षणिक कर्मचारियों को, भरतपुर के इंजीनियरिंग कॉलेज तथा राजस्थान में संचालित सभी पॉलिटेक्निक महाविद्यालयों को प्रदान किया जा चुका है।

2. पिछले दस वर्षो से लंबित शिक्षकों के कैरियर एडवांसमेंट स्कीम (CAS) (पदोन्नति) की प्रक्रिया को अत्तिशीघ्र पूर्ण कर सभी कॉलेजों में इसका लाभ तुरन्त प्रदान किया जाये।

3. पिछला कैरियर एडवांसमेंट स्कीम (CAS) की प्रक्रिया नियत समय से काफी समय बाद की गई जिसके बकाया एरियर का भुगतान अबतक नहीं हुआ है।

4. पुरानी पेंशन स्कीम (OPS) में समस्त ऑटोनोमस इंजीनियरिंग कॉलेजों को सम्मिलित किया जावे।

5. इंजीनियरिंग कॉलेज बीकानेर में सहायक आचार्य के पद पर पदस्थापित 8 व्याख्याताओं को कैरियर एडवांसमेंट स्कीम एजीपी 5400/6000 से 7000 से संबंधित प्रकरण लंबित है।