जिला कलक्टर ने कहा: पीबीएम अस्पताल के सुपर स्पेशलिटी सेंटर में व्यवस्थाएं रहे चाक-चौबंद, देखें वीडियो…

बीकानेर Abhayindia.com जिला कलक्टर नमिता मेहता ने पीबीएम अस्पताल के सुपर स्पेशलिटी सेंटर में संचालित हेल्प डेस्क का निरीक्षण किया।

उन्होंने बताया कि हेल्प डेस्क पर 24 घंटे वरिष्ठ चिकित्सक सहित प्रतिदिन 2 घंटे राजस्थान प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहकर नियमित सुपरविजन कर रिपोर्ट जिला प्रशासन को देगा। हेल्प डेस्क में एक चिकित्सक एस. पी. मेडिकल कॉलेज की तरफ से एवं एक चिकित्सक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी की तरफ से नियुक्त किया जाएगा।

Attachments area
Preview YouTube video कलक्टर ने पीबीएम के सुपर स्पेशलिटी सेंटर का किया निरीक्षण

उन्होंने सेंटर में क्रियाशील ऑक्सीजन प्लांट को भी देखा। इस दौरान प्राचार्य एसपी मेडिकल कॉलेज डॉक्टर एस. एस. राठौड़ सहित अन्य चिकित्सक मौजूद थे। जिला कलेक्टर मेहता ने बताया कि जैसे ही परिसर में कोई व्यक्ति भर्ती होने के लिए आएगा तो इस हेल्पडेस्क में नियुक्त कर्मचारी उसे भर्ती करवाने में आवश्यक सहयोग प्रदान करेगा।

 

अगर किसी स्थिति में सेंटर में बैड नहीं है तो किसी अन्य कोविड-19 सेंटर या अस्पताल में उसे भेजने के लिए व्यवस्था करेगा। अगर कोरोना मरीज को किसी भी अस्पताल में बैड नहीं मिलेगा तो ऐसी स्थिति में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से वार्ता कर जिले की किसी अन्य अस्पताल तक पहुंचाने में सहयोग करेगा।

फोन पर बतानी होगी स्थिति…

हेल्पडेस्क पर बैठे कर्मचारी को वहां भर्ती रोगियों के ट्रीटमेंट प्रोटोकोल और उसकी स्थिति की सूचना रोगी के परिजन को कम से कम दिन में एक बार फोन पर बताएगा। उसकी व्यक्तिगत जिम्मेदारी रहेगी कि अस्पताल में भर्ती उपचाराधीन मरीज को किसी तरह की असुविधा ना हो।

मेहता ने कहा कि हेल्प डेस्क पर यह भी सूचना आवश्यक रूप से रखी जाएगी की अस्पताल में कितने बैड खाली हैं एवं ऑक्सीजन स्पोर्ट वेंटिलेटर आदि की क्या स्थिति है, साथ ही दवा का स्टॉक है अथवा नहीं इसकी सूचना मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी को देते हुए पुख्ता बंदोबस्त करेंगे। हेल्प डेस्क पर लगे शिक्षक और कर्मचारी अस्पताल प्रबंधन जिला प्रशासन के बीच समन्वय स्थापित करने की भी भूमिका निभाएंगे।

माइक सिस्टम से होगी बातचीत

जिला कलेक्टर ने बताया कि सुपर स्पेशलिटी सेंटर में भर्ती रोगियों के परिजन अगर उनका हालचाल जानने आते हैं तो रोगियों से मॉनिटर और माइक सिस्टम के माध्यम से सीधी बात करवाई जाएगी। इसमें रोगी आने वाले परिजन को देख सकेगा और परिजन सेंटर में भर्ती कोविड पॉजिटिव व्यक्ति से हेल्प डेस्क पर बैठकर ही बातचीत कर सकेगा।

आरएएस अधिकारी करेंगे सुपरविजन

मेहता ने बताया कि सुपर स्पेशलिटी कोविड-19 केयर सेंटर में स्थापित हेल्प डेस्क पर होने वाली संपूर्ण व्यवस्थाओं की मॉनिटरिंग प्रतिदिन एक राजस्थान प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी की ओर से की जाएगी। इस कार्य के लिए चार अधिकारियों को लगाया गया है ।

इनमें उपखंड अधिकारी बीकानेर सोमवार और गुरुवार, सहायक कलेक्टर नगर बुधवार व शनिवार, सहायक कलेक्टर फास्ट ट्रेक मंगलवार और शुक्रवार एवं सहायक निदेशक लोक सेवाएं प्रशासनिक सुधार रविवार व बुधवार को प्रतिदिन 2 घंटे सुपर विजन का कार्य कर, यहां की संपूर्ण व्यवस्था पर एक रिपोर्ट बनाकर जिला कलेक्टर को प्रेषित करेंगे।

यह रहे मौजूद…

निरीक्षण के दौरान कलक्टर के साथ प्राचार्य डॉ एस.एस. राठौड़, अधीक्षक डॉ.मोहम्मद सलीम, अतिरिक्त जिला कलेक्टर(शहर) सुनीता चौधरी, डॉ अजय कपूर, डॉ.विनोद असवाल, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.बी. एल. मीना सहित वरिष्ठ चिकित्सक मौजूद थे।

SHARE
https://abhayindia.com/ बीकानेर की कला, संस्‍कृति, समाज, राजनीति, इतिहास, प्रशासन, धोरे, ऊंट, पर्यटन, तकनीकी विकास और आमजन के आवाज की सशक्‍त ऑनलाइन पहल। Contact us: abhayindia07@gmail.com : 9829217604