Homeराजस्थानराजस्‍थान में सियासी संग्राम : कौन गद्दार और कौन वफादार? इस पर...

राजस्‍थान में सियासी संग्राम : कौन गद्दार और कौन वफादार? इस पर तेज हुआ घमासान

जयपुर Abhayindia.com राजस्‍थान में सियासी संग्राम के बीच अब गुटों में बंटे विधायकों के बीच कौन गद्दार है और कौन वफादार है, इसे लेकर घमासान शुरू हो गया है। पूर्व उपमुख्‍यमंत्री सचिन पायलट गुट के विधायक मुकेश भाकर और राकेश पारीक ने बसपा से कांग्रेस में आए विधायकों के आरोपों को लेकर मंगलवार को पलटवार किया।

Marward Hospital ( Dr. Meenashi)

भाकर और पारीक ने मीडिया से बातचीत में कहा कि आज नए लोग कांग्रेस में सवाल उठा रहे हैं। गद्दार तो बसपा के विधायक है, जो मंत्री बनना चाह रहे हैं। इनमें से किसी का भी कांग्रेस से कोई जुड़ाव नहीं रहा है। दोनों विधायकों ने कहा कि बसपा विधायकों से तीखी बयानबाजी कौन करवा रहा है। आखिर कौन चाहता है कि हम कांग्रेस से चले जाएं और कौन फूट डालना चाहता है?

उन्होंने कहा कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी नेता है। अशोक गहलोत भी बड़े नेता है। हम सचिन पायलट के साथ है। हमने संगठन में काम किया। हम पायलट के साथ है और वे जो कहेंगे वो करेंगे। दोनों विधायकों ने यह भी कहा कि कांग्रेस का विरोध करने वालों को पदों पर नियुक्त किया गया। कवि कुमार विश्वास की पत्नी को आरपीएससी का सदस्य क्यों बनाया?

इधर, इससे पहले बसपा से कांग्रेस में आए विधायकों की मंगलवार को बैठक हुई। इसमें विधायकों ने सचिन पायलट गुट पर निशाने भी साधे। बैठक के बाद विधायक राजेंद्र गुढ़ा सहित अन्य विधायकों ने मीडिया से बातचीत में कहा कि हम बसपा से कांग्रेस में इसलिए आए थे कि कि कांग्रेस मजबूत बन सके रहे। वैसे हमारे साथ न्याय तो नहीं हो रहा लेकिन सीएम अशोक गहलोत ने हमारे क्षेत्र में खूब काम कराए है।

गुढा ने एक मुहावरे का उदाहरण देते हुए कहा कि मुर्गे ने जान दे दी लेकिन खाने वालों ने कहा कि हमें तो मजा नहीं आया। विधायक गुढ़ा यहीं नहीं रूके, उन्होंने ये भी कहा कि वफादार और गैर वफादार में फर्क तो होना चाहिए। गुढा ने कहा कि कांग्रेस सरकार को हमने बचाया, निर्दलीय का भी हमसे कंपेरिजन नहीं हो सकता है।

बीकानेर में आंधी के बाद चले बूंदों के बाण, देखें आगे के चार दिनों का पूर्वानुमान…

पुष्करणा ब्राह्मण समाज का सामूहिक विवाह समारोह, मंत्री डाॅ. कल्ला के प्रयासों से अनुदान राशि वितरण में दी शिथिलता

राजस्थान : गृह विभाग ने जारी किए मॉडिफाइड लॉकडाउन 2.0 के दिशा निर्देश

बीकानेर में बुधवार को 45 प्लस आयु वर्ग का इन क्षेत्रों में होगा टीकाकरण, 18 प्लस का …

राजस्‍थान : सिर दर्द बनी राजनीतिक नियुक्तियां, नेता कर रहे जयपुर से दिल्‍ली तक लॉबिंग, यहां हो रहा जमावड़ा…

बीकानेर मुस्लिम समाज ने राजनीतिक नियुक्तियों के लिए राजधानी में ठोकी ताल, दो मंत्रियों और ओएसडी से की मुलाकात

राजस्थान : प्रबोधकों के 5 हजार पद वरिष्ठ प्रबोधक में क्रमोन्नत, सीएम गहलोत ने दी मंजूरी

राजस्‍थान : मंत्रिमंडल विस्‍तार की संभावनाओं के बीच मंत्रियों की परफॉर्मेंस रिपोर्ट तलब, किस पर गिरेगी गाज?

राजस्‍थान में सियासी संकट : सब को चाहिए अपना हक, अब ये 6 एमएलए भी हुए मुखर

राजस्‍थान : विधायकों के फोन टेप का मामला गरमाया, सीएम नाराज, आलाकमान ने मांगी रिपोर्ट

राजस्‍थान में सियासी संकट : समाधान निकालने के लिए फार्मूले पर फोकस, पायलट की भूमिका पर…

राजनीतिक नियुक्तियों की सुगबुगाहट के बीच बीकानेर के मुस्लिम समाज ने मांगा अपना हक, ये प्रस्‍ताव किया पारित…

बीकानेर शहर में 22 सड़कों के कार्यों के लिए दी 449.37 लाख रुपए की मंजूरी

राजस्‍थान : सिर दर्द बनी राजनीतिक नियुक्तियां, नेता कर रहे जयपुर से दिल्‍ली तक लॉबिंग, यहां हो रहा जमावड़ा…

बीकानेर मुस्लिम समाज ने राजनीतिक नियुक्तियों के लिए राजधानी में ठोकी ताल, दो मंत्रियों और ओएसडी से की मुलाकात

राजस्‍थान : मंत्रिमंडल विस्‍तार की संभावनाओं के बीच मंत्रियों की परफॉर्मेंस रिपोर्ट तलब, किस पर गिरेगी गाज?

राजस्‍थान में सियासी संकट : सब को चाहिए अपना हक, अब ये 6 एमएलए भी हुए मुखर

राजस्‍थान : विधायकों के फोन टेप का मामला गरमाया, सीएम नाराज, आलाकमान ने मांगी रिपोर्ट

राजस्‍थान में सियासी संकट : समाधान निकालने के लिए फार्मूले पर फोकस, पायलट की भूमिका पर…

वैक्‍सीनेशन पॉलिसी पर मंत्री कल्‍ला के बयान पर बवाल, राठौड़ के बाद केन्‍द्रीय मंत्री शेखावत ने घेरा

बीकानेर शहर में 22 सड़कों के कार्यों के लिए दी 449.37 लाख रुपए की मंजूरी

Abhay Indiahttps://abhayindia.com
बीकानेर की कला, संस्‍कृति, समाज, राजनीति, इतिहास, प्रशासन, पर्यटन, तकनीकी विकास और आमजन के आवाज की सशक्‍त ऑनलाइन पहल। Contact us: abhayindia07@gmail.com : 9829217604
LATEST NEWS

OTHERS NEWS

MN Hospital Bikaner Rajasthan
Join WhatsApp