कतरियासर मेले के अंतिम दिन फिर अंगारों से खेले ये अनुयायी…

fire dancs in katriyasar
fire dancs in katriyasar

सोहनलाल सारस्वत/हेमेरा/बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। कतरियासर में जसनाथ सम्प्रदाय के 5 दिवसीय आसोज मेले का आज समापन पारंपरिक तरीके से हुआ। अंतिम दिन जसनाथ जी महाराज की समाधि पर श्रद्धालुओं ने धोक लगा कर मन्नतें मांगी तथा अमन-चेन व सुख समृद्धि की कामना की। इससे पूर्व अलसुबह मंदिर महंत बीरबल नाथ ज्याणी ने प्रथम पहर में ज्योत प्रज्वलित की।

मंदिर में हवन भी हुआ, इसमें घी व खोपरा की आहुतियां दी गई। इससे पहले रात्रि को जसनाथ जी मंदिर में अग्नि नृत्य व जागरण का आयोजन किया गया। इसमें जसनाथ जी महाराज व कालदे माता की छावलिया शब्द वाणी कथा सुनाई गई व धधकते अंगारों पर अनुयायी आस्था के साथ थिरके। वहीं रविवार को जागरण से पूर्व पारम्परिक खिचड़ा व कड़ी का प्रसाद बनाया गया श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरण किया गया। मेले के अंतिम दिन श्रद्धालुओं ने नारियल खोपरा व मिश्री मेवा का भोग लगाया गया।

…इसलिए बीकानेर आ रहे हैं यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ