बीकानेर में 99 स्वास्थ्य केंद्रों का अधिकारियों ने किया औचक निरीक्षण

बीकानेर Abhayindia.com  जिला प्रभारी सचिव आलोक गुप्ता के निर्देशानुसार बुधवार को बीकानेर जिले के विभिन्न चिकित्सा केंद्रों का सघन निरीक्षण किया गया।

जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने बताया कि बीकानेर शहरी क्षेत्र के 15 तथा श्रीडूंगरगढ़ एवं नोखा के एक-एक शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, जिले के 17 सामुदायिक तथा 64 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के अलावा नोखा के जिला अस्पताल सहित कुल 99 चिकित्सा केंद्रों का निरीक्षण किया गया।

इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ओमप्रकाश ने फोर्ट डिस्पेंसरी, अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) पंकज शर्मा ने रानी बाजार स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नंबर 7 तथा तिलक नगर स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, नगर विकास न्यास सचिव यशपाल आहूजा ने शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नंबर 1 तथा भुजिया बाजार स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नंबर 2 का निरीक्षण किया। इसी प्रकार महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक शारदा चौधरी ने माहेश्वरी भवन के पास स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नंबर 3 तथा विवेक नगर स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नंबर 4, सहायक जिला कलक्टर बिंदु खत्री ने जिन्ना रोड स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नंबर 5 तथा नत्थूसर गेट स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नंबर 6, सहायक निदेशक (लोक सेवाएं) सविना विश्नोई ने मुक्ता प्रसाद एवं रामपुरा स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, तहसीलदार कालूराम ने बीछवाल एवं इंदिरा कॉलोनी स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तथा सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के संयुक्त निदेशक सत्येंद्र सिंह ने सर्वोदय बस्ती एवं मुरलीधर व्यास काॅलोनी स्थित शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का अवलोकन किया। वहीं ग्रामीण क्षेत्रों में संबंधित उपखंड अधिकारियों द्वारा नियुक्त अधिकारियों ने चिकित्सा केंद्रों का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान परखी यह व्यवस्थाएं

निरीक्षण के दौरान अधिकारियों ने अस्पताल में सूचना पट्ट एवं नोटिस बोर्ड की स्थिति, प्रभारी चिकित्सक का नाम, अनुपस्थित कार्मिकों का विवरण, स्टाफ के मुख्यालय पर रहने संबंधित जानकारी, निःशुल्क श्रेणी की दवाईयां का स्टाक एवं निःशुल्क श्रेणी की जांचों की जानकारी, ओपीडी मरीजों की संख्या, मेडिकल बायोवेस्ट निस्तारण, पोषक पत्तेदार सब्जियों के पोस्टर से लगाए जाने, संस्थागत प्रसव की स्थिति, जननी सुरक्षा योजना, शुभ लक्ष्मी योजना एवं राजश्री योजना में बकाया भुगतान प्रकरण तथा एएनसी सहित विभिन्न बिंदुओं का निरीक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि सभी अधिकारियों द्वारा प्राप्त निरीक्षण रिपोर्ट के आधार पर अग्रिम कार्यवाही की जाएगी।