निजी लैब पर स्वास्थ्य विभाग की कार्रवाई, एचआरसीटी जांच में वसूल रहे थे अधिक राशि…

बीकानेर Abhayindia.com निजी लैब में एचआरसीटी जांच के लिए राज्य सरकार ने 1700 रुपए निर्धारित कर रखें है, इसके बावजूद निजी लेब संचालक मरीजों से 3500 रुपए की वसूली कर रहे हैं।

इनकी शिकायतों को देखते हुए शुक्रवार मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.बीएल मीणा के नेतृत्व में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कार्रवाई की है। सीएमएचओ के अनुसार पॉलिटेक्निक कॉलेज के सामने स्थित मार्क इमेजिन डायग्रोस्टिक लैब पर कार्रवाई की गई है। इस दौरान एचआरसीटी की तय राशि से अधिक वसूलते हुए पकड़ा।

सीएमएचओ ने बताया कि इस लैब को सीज करने की कार्रवाई की जाएगी। गौरतलब है कि सरकार ने निजी लैब संचालकों से निर्धारित 1700 रुपए तय कर दिए थे। कोविड समीक्षा बैठक में कलक्टर ने भी निर्देश दिए थे कि तय राशि से अधिक कोई वसूलता है, तो उसके खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाए। सरकार ने एनएबीएच लैब के लिए 1700 व एनएबीएच के लिए 1955 रुपए की दर तय कर रखी है।