बीकानेर : अनाथ बच्चों से मिले जिला कलक्टर, सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने का दिया आश्वासन …

बीकानेर Abhayindia.com नापासर में आवासित अनाथ तीन बहनों एवं एक भाई के संबंध में जानकारी मिलने पर जिला कलक्टर नमित मेहता ने संवेदनशीलता दिखाते हुंए बुधवार को अपरान्ह बाद नापासर में बच्चों के घर पहुंचे। उन्होंने संबंधित अधिकारियों को इनकी समस्याओं के निस्तारण के लिए आश्यक दिशा-निर्देश दिए।

सहायक निदेशक बाल अधिकारिता विभाग कविता स्वामी ने अनाथ बच्चों के सर्वे के दौरान इन बालक-बालिकाओं की जानकारी मिली थी। इस पर उन्होंने इन अथान बच्चों के बारे में विस्तार से जिला कलक्टर को जानकारी दी। जिला कलक्टर के संज्ञान में आने के बाद बुधवार को तुरन्त ही बच्चों से मिलने पहुंचे।

उन्होंने बच्चों के घर पहुंचकर उनके परिवार की स्थिति एवं उनकी समस्याओं को सुना। बच्चों से चर्चा करने के बाद उन्होंने नापासर पुलिस थाने में नियुक्त बाल कल्याण अधिकारी को समय-समय पर इन बच्चों से समन्वय कर समस्याओं की जानकारी लेने एवं निराकरण कराने के लिए निर्देशित किया। साथ ही उन्होंने सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उप निदेशक एल.डी.पंवार को 18 वर्ष से छोटे भाई व बहन को पालनहार योजना व बड़ी बहनों को छात्रवृति योजना से जोडऩे के लिए निर्देशित किया।

मेहता ने संबंधित पटवारी को इन बच्चों के वोटर आई.डी. कार्ड बनवाने सहित आवश्यक दस्तावेज शीघ्र ही बनवाने के निर्देश दिए। उन्होंने बच्चों को आश्वस्त किया कि उनकी देखरेख एवं संरक्षण का जिम्मा प्रशासन का है एवं शिक्षा के क्षेत्र में किसी प्रकार का व्यवधान नहीं आयेगा। उन्होंने बच्चों को फल एवं राशन सामग्री उपलब्ध कराई। बच्चों ने अपने बीच जिला कलक्टर को पाकर बहुत खुश हुए एवं अपने उज्जवल भविष्य के प्रति आशावान हुए।

इस दौरान जिला परिषद के मुख्यकार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, उपखण्ड अधिकारी मीनू वर्मा, उप निदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग एल.डी. पंवार, डॉ. बी.एल मीणा एवं अन्य प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।

स्वास्थ्य केन्द्र का किया निरीक्षण…

जिला कलक्टर नमित मेहता ने कोविड-19 के मद्देनजर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नापासर का निरीक्षण किया और कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर को लेकर की गई चिकित्सा व्यवस्था के बारे में जानकारी ली।

उन्होंने प्रभारी सीएचसी डॉ. भीमसेन गोदारा से कोविड से संबंधित सर्वे, सैम्पलिंग, टीकाकरण, दवाइयों की उपलब्धता और कोरोना के बच्चों के इलाज के लिए की जा रही तैयारियों की जानकारी ली और निर्देश दिए कि सीएचसी को सुदृढ़ किया जाए।

उन्होंने सीएचसी में पीडियाट्रिक इंटेसिव केयर यूनिट (पीकू) तथा नियो नेटल इंटेंसिव केयर यूनिट (नीकू) का निरीक्षण किया और निर्देश दिए इनमें बेड की संख्या बढ़ाई जाए। साथ ही उन्होंने ऑक्सीजन जनरेशन प्लांट्स का निर्माण के बारे में भी जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिए की आउटडोर में आने वाले रोगियों की कोरोना जांच के सैम्पल लिए जाए।

इस अवसर जिला परिषद के मुख्यकार्यकारी अधिकारी ओमप्रकाश, उपखण्ड अधिकारी मीनू वर्मा, डॉ. बी.एल मीणा मौजूद रहे।

SHARE