50 साल पहले बीकानेर के भतमाल जोशी ने ऐसे किया कुरीतियों का बहिष्‍कार, देखें वीडियो…

Bhatmal Joshi Kavi Bikaner
Bhatmal Joshi Kavi Bikaner

बीकानेर abhayindia.com कोरोना महामारी के दौर में लोगों ने मितव्‍ययता का महत्व समझा है। लेकिन बीकानेर के जाने-माने कवि रहे भतमाल जोशी (Bhatmal Joshi Kavi Bikaner) ने 50 साल पहले ही समाज को मितव्‍ययता और सीमित दायरें में शादी-ब्याह सरीखे आयोजन करने की सीख दे दी। उस दौर में जोशी ने स्वयं अपने परिवार में साकार कर दिखाया। ताकि समाज को कुरीतियों से बचाया जा सके। जोशी ने उस दौर में मृत्यु शोक में महिलाओं के जाने का विरोध किया था, स्वयं के परिवार में इस विचारधारा को अमल में भी लाए। उनकी पीढ़ी भी उसी राह पर आगे चल रही है।

मीठा का मायने मिश्री

कवि भतमाल जोशी ने पांच दशक पहले समाज को नई दिशा देते हुए संदेश दिया था कि शादी-ब्याह में सैकड़ों बारातियों को भोजन कराने की बजाय चाय-पानी से खातिरदारी कर मितव्‍ययता के साथ रस्में पूरी की जा सकती है, उन्होंने मीठे के मायने मिश्री को बताया। उन्होंने जान (दावत) पर रोक लगवाई, समाज का समर्थन भी मिला।

कवि मन भी था

भतमाल जोशी असल मायने में कवि थे, उनके नाम पर साहित्य के क्षेत्र में पुरस्कार भी दिया जाता रहा है। कवि मन होने के कारण समाज सुधार की दिशा में सोचते थे। यही वजह है समाज में व्याप्त कुरीतियों की ओर उनका ध्यान जाता था, वो हर संभव प्रयास कर कुरीतियों से लोगों को मुक्त कराने का ही प्रयास करते थे।

दादा के बताए पथ पर है

भतमाल जोशी के पौत्र बबला महाराज जोशी के अनुसार उनका परिवार आज भी दादा के बताए मार्ग पर अग्रसर है। परिवार में मृत्यु शोक में महिलाएं नहीं जाती। तो शादी-ब्याह में जान (दावत) नहीं लेते है। इसका ताजा उदाहरण अभी उनके पुत्र की हुई शादी है। उन्‍होंने बताया कि 29 जून को हुई उनके पुत्र की शादी में उन्‍होंने अपने दादाजी की प्रेरणा के अनुसार ही स्‍वागत आदि की रस्‍म अदायगी की।

पाठकों के विश्‍वास के बूते “अभय इंडिया” का 9वें साल में हुआ प्रवेश

https://youtu.be/rt32i2LF7Ok

Preview YouTube video निष्पक्षता की मिसाल है अभय इंडिया : मनोज बजाज, डायरेक्टर, सिंथेसिस संस्थान

Preview YouTube video सच्ची ख़बरों में अभय इंडिया एक नंबर पर है : टन्नु काका

Preview YouTube video टीम अभय इंडिया का हिस्सा हैं हम : नरेंद्र आचार्य

Preview YouTube video अभय इंडिया से मिल जाती है सारी खबरें : बबला महाराज

Preview YouTube video सच्‍ची और पुख्‍ता खबरें ऐसे ही देता रहे अभय इंडिया : रोशन भाई जूही फ्लावर्स

Preview YouTube video प्रामाणिकता एवं निष्पक्षता के साथ खबरें देता हैं अभय इंडिया : डॉ. अनंत जोशी

Preview YouTube video अभय इंडिया की खबरों का रहता है इंतजार : अशोक आचार्य, पूर्व उपमहापौर

Preview YouTube video निष्पक्षता से खबरें देने का काम कर रहा अभय इंडिया : अनिल व्‍यास

Preview YouTube video बीकानेर की आवाज है अभय इंडिया : डॉ. बिटठल बिस्‍सा (उपकुलसचिव, एमजीएसयू)

Preview YouTube video निष्‍पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता है अभय इंडिया की पहचान : भंवर सिंह भाटी, उच्‍च शिक्षा मंत्री

Preview YouTube video अभय इंडिया की खबर सही और सटीक आती है : अरविंद मिढा

Preview YouTube video निष्‍पक्ष और सकारात्‍मक पत्रकारिता के लिए अभय इंडिया का आभार : डॉ. अबरार पंवार

Preview YouTube video अभय इंडिया से मिल जाती है हर खबर : डॉ. प्रीति गुप्ता

Preview YouTube video पुख्‍ता खबरें देता हैं अभय इंडिया, स्‍थापना पर शुभकामनाएं : डॉ. बी. डी. कल्‍ला

Preview YouTube video अभय इंडिया की खबरों की रहती है उडीक : कमल नारायण आचार्य

Preview YouTube video अभय इंडिया दे रहा पल-पल की खबर, स्‍थापना की हार्दिक शुभकामनाएं : डॉ. कृष्णा आचार्य

 

SHARE