विप्र कल्याण बोर्ड के सदस्य किराडू ने राज्य कर्मचारियों के साथ किया संवाद कार्यक्रम

Rajkumar Kiradu
Rajkumar Kiradu

बीकानेर Abhayindia.com राजस्थान राज्य विप्र कल्याण बोर्ड के सदस्य राजकुमार किराडू ने स्थानीय धरणीधर रंगमंच में राजस्थान सरकार के विभिन्न सरकारी कर्मचारियों के साथ एक संवाद कार्यक्रम आयोजित किया। किराड़ू ने बताया कि इस मौके पर राजस्थान सरकार के नियमित, संविदा एवं निविदा पर कार्यरत विभिन्न कर्मचारी उपस्थित थे। इस कार्यक्रम में सभी उपस्थित कर्मचारियों से विप्र समाज के उत्थान के लिए विभिन्न सुझाव लिए गए जिसे संकलित कर अगले माह राजस्थान राज्य विप्र कल्याण बोर्ड की जयपुर में प्रस्तावित बैठक में प्रस्तुत किया जाएगा।

राजस्थान NRHM प्रबंधकीय वर्ग के प्रदेश सचिव किशोर व्यास ने राज्यभर के NRHM मैनेजमेंट कैडर के कार्मिको को नियमित करने की मांग रखी। साथ ही NRHM में कार्यरत विप्र कर्मचारियों की विभिन्न समस्याओं को प्रस्तुत कर उनके निराकरण की मांग की। इसी क्रम में गोपाल जोशी ने पंचायतीराज में कार्यरत विभिन्न कर्मचारियों को नियमित करने की मांग भी की। उन्होंने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा में वर्ष 2008 से कार्यरत कर्मचारी जो संविदा पर ग्राम पंचायत से जिला स्तर व सचिवालय में कार्यरत हैं, वर्ष 2013 में राज्य सरकार द्वारा उन्हें 10,20,30, बोनस अंक देकर संविदा से नियमित किया गया। जिसमें 2 कैडर बनाये गए एलडीसी व एसएसआर जिन पर किसी भी तरह की कोई रोक नही है, बस सूची जारी होनी बाकी है।

इसी क्रम में जय गोपाल जोशी ने जलदाय विभाग में कार्यरत विप्र कर्मचारियों की विभिन्न समस्याओं को हल करने के लिए प्रयास करने की बात कही। उन्होंने बताया कि पूरे राजस्थान में दसवीं पास योग्यता धारी कर्मचारियों को स्टोर मुंशी बना दिया गया लेकिन बीकानेर के विप्र समाज के लोग आज भी एक सी योग्यता रखते हुए भी स्टोर मुंशी बनने से वंचित रह गए। रविकांत व्यास ने उच्च शिक्षा क्षेत्र में कार्यरत विप्र समाज के कर्मचारियों से जुड़े विभिन्न बिंदुओं पर प्रकाश डाला।

कार्यक्रम में डॉ सुधांशु व्यास, डॉ गोवर्धन व्यास, मनीष देराश्री, अरुण बिस्सा, मनीष आचार्य, अमित जोशी, शिव कुमार व्यास, रजनीकांत व्यास, अतुल किराडू, कानतेस आचार्य, विजेंद्र पुरोहित, महेश व्यास, प्रेम नारायण ओझा, हरी ओम आचार्य, कृष्ण मोहन रंगा, पवन जोशी, महेंद्र आचार्य, राजू पारीक, किसन किराडू, राजेश किराडू, योगेश किराडू उपस्थित थे। डॉ रितेश व्यास ने सभी आगंतुकों का आभार व्यक्त किया।