आत्मा शुद्धि का सर्वोत्तम साधन है तप : साध्वीश्री कीर्तिलता, तप की हुई अनुमोदना, 12 तपस्वियों का किया अभिनन्दन

Tapsvi Abhinandan In Bikaner
Tapsvi Abhinandan In Bikaner

बीकानेर Abhayindia.com गंगाशहर तेरापंथ महिला मंडल द्वारा शुक्रवार को महिला मंडल भवन में वर्षीतप करने वाले तपस्वियों की अनुमोदना व अभिनंदन किया गया। मंडल अध्यक्ष ममता रांका ने बताया कि मंडल बहनों ने गीतिकाओं की प्रस्तुति दी। साध्वी श्री कीर्तिलताजी ने तप की महिमा बताते हुए कहा कि आत्मा को शुद्ध करने का सबसे बड़ा साधन ही तप है।

मंत्री कविता चौपड़ा ने बताया कि तिलक, माला और साहित्य से 12 तपस्वियों का अभिनंदन किया गया। अभिनंदन समारोह में सैकड़ों महिला मंडल सदस्यों तथा अन्य श्रावक श्राविकाओं की उपस्थिति रही।