बीकानेर में बालश्रम उन्मूलन के लिए चलेगा विशेष अभियान, जिला स्तरीय टीमें पुनर्गठित…

बीकानेर Abhayindia.com बालश्रम उन्मूलन के लिए गठित जिला स्तरीय टीमों का पुनर्गठन किया गया है। यह सात टीमें जुलाई से सितंबर तक रेस्क्यू एवं जनचेतना के सघन कार्यक्रम आयोजित करेगी।

जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने बताया कि जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी नित्या के. इस अभियान की नोडल अधिकारी होगी। वहीं सात टीमों का गठन करते हुए राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी को इनका प्रभारी नियुक्त किया गया है। यह टीमें बालश्रम पाए जाने पर इनके पुनर्वास, शिक्षा एवं स्वास्थ्य की समुचित व्यवस्था के प्रति जिम्मेदार होंगी। इन टीमों में किशोर न्याय बोर्ड तथा बाल कल्याण समिति के सदस्यों सहित विभिन्न विभागों के अधिकारियों को शामिल किया गया है। प्रत्येक थाने बाल कल्याण अधिकारी को भी इसमें शामिल किया गया है।

यह होंगे टीमों के प्रभारी…

जिला कलेक्टर ने बताया कि रीपा के अतिरिक्त निदेशक अरुण प्रकाश शर्मा, स्थानीय निकाय विभाग के उपनिदेशक नरेंद्रपाल सिंह, डीआईजी स्टांप के रामचंद्र बैरवा, एसीएम की बिंदु खत्री तथा एएसओ सुशीला वर्मा, महिला एवं बाल अधिकारिता विभाग की उपनिदेशक शारदा चौधरी एवं अतिरिक्त आयुक्त कॉलोनाइजेशन रामरतन को टीमों का प्रभारी नियुक्त किया गया है।

यह कार्य करेंगी टीमें…

बालश्रम उन्मूलन के लिए गठित यह टीमें जिले के औद्योगिक क्षेत्रों में स्थापित उद्योग एवं कारखानों, दुकानों एवं वाणिज्यिक संस्थानों, ढ़ाबो तथा होटल की आकस्मिक जांच कर नियमानुसार कार्रवाई करेगी तथा बालश्रम के विरुद्ध जनजागृति का कार्य भी किया जाएगा। अभियान के तहत जिले के समस्त ग्राम पंचायत, ब्लॉक तथा औद्योगिक क्षेत्रों का भी निरीक्षण कर जिले को बालश्रम से मुक्त करवाने की दिशा में प्रयास किए जाएंगे। इसके अतिरिक्त बच्चों में नशाखोरी की प्रवृत्ति पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए भी इन दलों द्वारा संभावित क्षेत्रों का औचक निरीक्षण किया जाएगा।

संपादकीय : “अभय इंडिया” की स्‍थापना का बेमिसाल एक दशक, निष्‍पक्ष पत्रकारिता के बूते किया 11वें वर्ष में प्रवेश…