कांग्रेस अध्‍यक्ष के चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मियां तेज, सीएम गहलोत तीन दिन रहेंगे दिल्‍ली दौरे पर, शशि थरूर भी…

Ashok Gehlot Chief Minister Rajasthan
Ashok Gehlot Chief Minister Rajasthan

नई दिल्‍ली/जयपुर Abhayindia.com कांग्रेस के राष्ट्रीय पद के चुनावों को लेकर सियासी सरगर्मियां तेज हो गई है।  आपको बता दें कि 4 सितंबर से नामांकन शुरू हो जाएंगे और 30 सितंबर तक नामांकन दाखिल किए जाएंगे। इस बीच, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत 25 से 28 सितंबर तक दिल्ली दौरे पर रहेंगे। मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक, सीएम गहलोत 28 या 29 सितंबर को कांग्रेस के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करेंगे। इससे पहले वे 25 सितंबर को शाम दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे।

रिपोर्टस का दावा है कि सीएम गहलोत को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने को लेकर शीर्ष स्तर पर मंथन हो चुका है और आम सहमति भी बन चुकी है और पार्टी आलाकमान की ओर से साफ कर दिया हया है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष गैर गांधी परिवार से होगा। ऐसे में मुख्यमंत्री का नाम पिछले कई महीनों से अध्यक्ष पद के लिए दौड़ में सबसे आगे हैं।

बताया यह भी जा रहा है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष पद को लेकर सीएम गहलोत का मुकाबला कांग्रेस के वरिष्ठ सांसद शशि थरूर से हो सकता है। कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने भी सोमवार को सोनिया गांधी से लंबी मुलाकात की थी। माना जा रहा है कि शशि थरूर को भी राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव लड़ने की इजाजत दे दी गई है। थरूर के चुनाव लड़ने के पीछे वजह यह बताई जा रही है कि इसके जरिए कांग्रेस आलाकमान देशभर में ही संदेश देना चाहते हैं कि कांग्रेस पार्टी में आंतरिक लोकतंत्र हैं और कांग्रेस में चुनाव लड़ कर ही अध्यक्ष बना जा सकता है।

इधर, इस समूचे घटनाक्रम के बीच अब सियासी चर्चा यह भी तेज हो गई है किपार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने के बावजूद भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अगले साल फरवरी में पेश किए जाने वाले सरकार के पांचवें और अंतिम बजट तक मुख्यमंत्री रह सकते हैं।