गहलोत सरकार में अधिकारी हो गए पावरफुल, आंदोलन की हो रही अनदेखी : महापौर सुशीला कंवर

Sushila Kanwar Rajpurohit Ka Dharna
Sushila Kanwar Rajpurohit Ka Dharna

बीकानेर Abhayindia.com नगर निगम में आयुक्त गोपाल राम बिरदा को पद से हटाने को लेकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठी महापौर सुशीला कंवर राजपुरोहित ने धरनार्थियों को संबोधित करते हुए कहा कि राज्‍य सरकार पूर्णतया संवेदनहीन हो गई है। एक आरएएस अधिकारी जो कि पूर्णतया नियम कानून और विधिक प्रावधानों के खिलाफ काम कर रहा है। जिसके खिलाफ दर्जनों मामलों में साक्ष्य मौजूद है और कार्रवाई नहीं होना अत्यंत खेदजनक है। एक आरएएस अधिकारी इतना प्रभावशील हो गया है कि सरकार इतने बड़े जन आंदोलन के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं कर रही है।अनिश्चितकालीन धरने के तीसरे दिन के बारे में बात करते हुए महापौर ने कहा कि संघर्ष जितना बड़ा होगा जीत उतनी ही शानदार होगी।

धरने के तीसरे दिन भाजपा देहात जिलाध्यक्ष ताराचंद सारस्वत धरना स्थल पर पहुंचे और अपने उद्बोधन में राज्य सरकार तथा मंत्री बी डी कल्ला को आड़े हाथों लिया। भाजपा युवा मोर्चा राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य देवकिशन मारू ने अपने उद्बोधन में सरकार को गूंगी और बहरी बताया। वरिष्ठ भाजपा नेता गुमान सिंह राजपुरोहित ने बताया कि किस तरह इस सरकार में अधिकारी विधायकों और मंत्रियों की भी नहीं सुन रहे हैं और मनमाने रवैये से कार्य कर रहे हैं। भाजपा युवा नेता विजय मोहन जोशी ने वर्तमान गहलोत सरकार में फैली अराजकता तथा गहलोत सरकार की जनविरोधी नीतियों के बारे में चर्चा करते हुए अशोक गहलोत को अब तक का सबसे विफल मुख्यमंत्री बताया। उपमहापौर राजेंद्र पवार ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि सरकार समय से व्यवस्था में सुधार ले अन्यथा जनता आगामी चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ कर देगी। धरने के तीसरे दिन वरिष्ठ भाजपा नेता जेपी व्यास समेत कई पदाधिकारियों ने सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर समय पर सरकार नींद से नहीं जागती है तो संयुक्त रुप से आमरण अनशन किया जाएगा।

धरना स्थल पर बिश्नोई महासभा से मोखराम धारणिया, मोती राम विश्नोई, किसान नेता हरिराम कस्‍वां, अल्पसंख्यक मोर्चा जिला अध्यक्ष उस्मान गनी, एससी मोर्चा जिला अध्यक्ष सोहनलाल सांवरिया, महिला मोर्चा जिला अध्यक्ष सुमन छाजेड़, मंडल अध्यक्ष नरसिंह सेवक, विनोद करोल, अजय खत्री, धर्मेंद्र महात्मा, चंद्र गहलोत, मुकेश ओझा, जेठमल नाहटा, महिला मोर्चा से मधुरिमा सिंह, प्रमिला गौतम, भारती अरोड़ा, सरिता नाहटा, इंदर ओझा, राजा सेवक, वरिष्ठ भाजपा नेता किशन गोदारा, महावीर चारण समेत भाजपा पदाधिकारी एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।