गौ-वंश में फैल रही महामारी के रोकथाम के लिए डेयरी चेयरमैन जाखड़ ने मुख्यमंत्री को भेजा पत्र

Cow sanctuary

बीकानेर Abhayindia.com उरमूल डेयरी चेयरमैन नोपाराम जाखड़ ने राजस्थान में गौ-वंश में फैल रही महामारी के रोकथाम के संबंध में मुख्यमंत्री को पत्र प्रेषित किया है।

जाखड़ ने बताया कि वर्तमान में राजस्थान में गौ-वंश में फैल रही महामारी लंपी स्कीन कहर बरपा रही है। इस बीमारी से गौ वंश की मौतों का आकडा दिन-बे-दिन बढ़ता ही जा रहा है। लगभग 90 प्रतिशत गायें इस बीमारी की चपेट में आने से दम तोड़ रही है। अभी प्रदेश में केवल लंपी स्कीन बीमारी के लक्षणों के आधार पर इलाज किया जा रहा है। इस बीमारी का कोई इफेक्टिव इलाज भी मौजूद नहीं है, यह सबसे बड़ी चिन्ता की बात है। जिले के किसानों की सबसे बड़ी जीविका का स्त्रोत पशुधन ही है। साथ ही बताया कि मुख्यमंत्री की घोषणानुसार प्रदेश में दुग्ध उत्पादकों के आर्थिक सहयोग के लिए 5/- रुपए प्रति लीटर अनुदान उरमूल संघ द्वारा दिया जा रहा है। लंपी स्कीन की बीमारी से इन दुग्ध उत्पादकों के पशुपालन पर असर पड़ रहा है तथा उन्हें पशुधन की हानि हो रही है। तत्काल इस महामारी को बढ़ने से रोकने के लिए उचित कदम उठाकर जिले के दुग्ध उत्पादको एवं गौ वंश को बचाने की दिशा में सहयोग प्रदान करने के लिए आग्रह किया।