Homeबीकानेरबीकानेर : मानसून में नहीं भरे निचले इलाकों में पानी, सभी इंतजाम...

बीकानेर : मानसून में नहीं भरे निचले इलाकों में पानी, सभी इंतजाम कर ले सुनिश्चित- गौतम

बीकानेर abhayindia.com जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम ने कहा है कि आगामी मानसून से पहले नगर निगम, पीडब्ल्यूडी और नगर विकास न्यास समन्वित प्रयासों से यह सुनिश्चित कर लें कि बरसात के दौरान पानी शहर के निचले क्षेत्रों में एकत्र ना हो,  इस के लिए सभी आवश्यक इंतजाम पहले ही कर लें। सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित साप्ताहिक समीक्षा बैठक में गौतम ने यह निर्देश दिए।

Marward Hospital ( Dr. Meenashi)

गौतम ने कहा कि सूरसागर सहित शहर के जो भी वॉटर लॉगिंग एरिया है उनमें जलभराव की स्थिति ना हो इसके लिए पूर्व अनुभव के आधार पर आवश्यक संसाधन जुटा लिया जाएं और जो भी नाले नालियां टूटे हैं उनकी मरम्मत करवाई जाए। गौतम में नगर निगम आयुक्त को निर्देश दिए कि सार्वजनिक स्थानों पर एक्स्ट्रा मैन पावर लगाकर सफाई-कार्य करवाएं। साथ ही शहर के मुख्य और अन्य नालों की साफ सफाई का काम भी समय पर पूरा कर लिया जाए।

उन्होंने सीवरेज कनेक्शन के लिए आरयूआईडीपी को रणनीति बनाकर निगम के साथ काम करने के निर्देश दिए। जिला कलेक्टर ने कहा कि शहर में सर्किल, पार्क सौंदर्यकरण का काम पुनः शुरू हो। गौतम ने हर्षाेलाव सहित 6 तालाबों के जीर्णोद्धार कार्य में भामाशाह के साथ-साथ भारत माला जैसे प्रोजेक्ट के तहत काम कर रही मशीनरी को भी प्रयुक्त करने के निर्देश दिए।

विकास अधिकारियों को नोटिस

जिला कलेक्टर कुमार पाल गौतम ने कहा कि मनरेगा,  प्रधानमंत्री आवास योजना और स्वच्छ भारत मिशन सहित विभिन्न योजनाओं में संतोषजनक कार्य नहीं होने पर विकास अधिकारियों के खिलाफ अलग-अलग कार्रवाई प्रस्तावित की जाए। गौतम ने जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को कहा कि जिन पंचायत समितियों में वेज रेट सुधार नहीं हुआ है तथा मैट भी नहीं बदले गए हैं उन बीडीओ के खिलाफ चार्जशीट प्रस्तावित करें। साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत उचित प्रगति नहीं होने और स्वच्छ भारत मिशन के तहत भुगतान नहीं होने पर अलग से चार्जशीट  इश्यु करवाएं।

कर्मचारी अपनी शिकायतें संपर्क पर ना डालें

जिला कलेक्टर ने कहा कि सभी विभाग अपने कर्मचारियों को स्पष्ट रूप से इस बात के लिए पाबंद करें कि कर्मचारियों की सेवा संबंधी किसी भी शिकायत को संपर्क पर ना डाला जाए। संपर्क पर ऐसी कोई शिकायत मिलती है तो विभाग इसे तुरंत निरस्त करने की कार्यवाही करें। गौतम ने कहा कि जेवीवीएनएल ,जिला परिषद सहित कुछ विभागों में 1 वर्ष से 6 माह पुरानी शिकायतें लंबित है इस तरह की शिकायतों का निस्तारण प्राथमिकता पर रखकर किया जाए। उन्होंने कहा कि संतुष्टि का स्तर बढ़ाने के लिए निगम , यूआईटी,  जिला परिषद सहित संबंधित सभी विभाग निस्तारित की जा रही शिकायतों का विश्लेषण करें और संतुष्टि स्तर बढ़ाने के लिए काम करें।

टेल एंड तक पानी नहीं मिले तो टैंकर भिजवाए
जिला कलेक्टर ने पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता को निर्देश दिए कि शहर के अंतिम छोर पर स्थित जिन क्षेत्रों में पाइप लाइन से पर्याप्त मात्रा में पानी की सप्लाई नहीं हो पाती है वहां आवश्यक रूप से टैंकर भेजें। उन्होंने कहा कि संपर्क पोर्टल पर पेयजल से जुड़ी जो भी शिकायत आती है वहां 24 घंटे में सप्लाई सुनिश्चित करवाते हुए निस्तारित करवाया जाए। जिला कलेक्टर ने विलेज वॉटर सैनिटेशन कमेटी के गठन के लिए सीईओ जिला परिषद को विकास अधिकारियों को निर्देश देने की बात कही।

कोरमा एडवाइजरी का उल्लंघन पाए तो करें समझाइश
जिला कलेक्टर ने कहा कि कोरोना से लड़ाई सामूहिक प्रयासों से ही जीती जा सकती  है , मेडिकल विभाग अकेला इस मुश्किल से नहीं निपट सकता। उन्होंने कहा कि प्रशासन में बैठे सभी लोग सक्रिय रहें और यदि अपने आसपास कहीं भी कोरोना एडवाइजरी का उल्लंघन पाएं तो समझाइश करें। गौतम ने कहा कि शादी आदि में नियमों की अनुपालना करें और करवाएं।

कोमोरबोडिटी पेशेंट की करें लिस्टिंग
गौतम ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को कहा कि जिले के सभी ब्लॉक और शहर में  कोमोरबोडिटी  पेशेंट्स की लाइन लिस्टिंग की जाए। घर-घर सर्वे के जरिए हाई रिस्क वाले लोगों की सूची तैयार करें और ऐसे लोगों को कोरोना से बचाना सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखा जाए क्योंकि इस बीमारी से हाई रिस्क वाले लोगों को सबसे ज्यादा खतरा है। गौतम इसके लिए सीएमएचओ को निर्देश देते हुए कहा कि बचाव सबसे अहम है और आइईसी गतिविधियों के जरिए लोगों में यह समझाइश की जाए कि थोड़ी सी लापरवाही या कोताही आप के परिवार के लोगों के लिए खतरा बन सकती है अतः सभी को बराबर सावधानी रखने की जरूरत है। सभी पब्लिक डीलिंग कार्यालयों में भी अधिकारी और कर्मचारी कोरोना के प्रति सतर्क रहें। जिला कलेक्टर ने कहा कि संपर्क पोर्टल पर राशन डीलर की शिकायत की जांच प्राथमिकता पर रखकर करवाएं और प्रकरण निस्तारित करें।

जिला कलेक्टर ने कहा कि खरीफ की फसल के दौरान टिड्डी आक्रमण की संभावना अधिक है । इसके मद्देनजर सभी पंचायतों पर कीटनाशक पहुंचाना सुनिश्चित किया जाए और आवश्यक अतिरिक्त तैयारी पहले ही कर ली जाए ताकि  आक्रमण की स्थिति में तुरंत कार्यवाही की जा सके।

15 सूत्री और 20 सूत्री कार्यक्रम की भी की समीक्षा

गौतम ने बैठक के दौरान 15 सूत्री और 20 सूत्री कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए कहा कि 20 सूत्री कार्यक्रम के तहत प्रगति की रिपोर्ट संतोषजनक नहीं है। सभी विभाग अपने पुराने लक्ष्य पूर्ण करें और यदि नए टारगेट प्राप्त हो गए हैं तो उसके अनुसार काम शुरू किया जाए। गौतम ने कहा कि सभी विभाग अपने रिसोर्स चैनेलाइज करवाएं और समय पर लक्ष्य पूर्ण करते हुए सही रिपोर्टिंग करें। बैठक में नगर निगम आयुक्त डॉ खुशाल यादव सहित जिला परिषद, रसद, पानी, बिजली, सड़क सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

 

बीकानेर Abhayindia.com  

इन क्षेत्रों में धार्मिक स्थल 1 जुलाई से खुल सकेंगे – मुख्यमंत्री गहलोत

बीकानेर : पीबीएम हाॅस्पीटल के सामने स्थित फर्म का लाइसेंस निलम्बित

परीक्षार्थियों की सुरक्षा सरकार के सर्वोपरि प्राथमिकता : मंत्री भाटी

बीकानेर में एक और कोरोना मरीज की मौत

समाज विशेष के लोगों पर हमले से व्यापारियों में रोष

दसवीं की परीक्षाएं यथावत होगी, वाद खारिज

अगर आपके घर में भी है विवाह समारोह, तो यह खबर जरुर पढ़ें

बीकानेर : शहर के इन पांच थाना क्षेत्रों में लगा कर्फ्यू

इन क्षेत्रों में धार्मिक स्थल 1 जुलाई से खुल सकेंगे – मुख्यमंत्री गहलोत

इन क्षेत्रों में धार्मिक स्थल 1 जुलाई से खुल सकेंगे – मुख्यमंत्री गहलोत

राजस्थान में बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 144 RAS अधिकारियों का तबादला, देखें लिस्ट

बीकानेर : रात को आई राहत भरी खबर

बीकानेर में एक और कोरोना मरीज की मौत

इन क्षेत्रों में धार्मिक स्थल 1 जुलाई से खुल सकेंगे – मुख्यमंत्री गहलोत

Abhay Indiahttps://abhayindia.com
बीकानेर की कला, संस्‍कृति, समाज, राजनीति, इतिहास, प्रशासन, पर्यटन, तकनीकी विकास और आमजन के आवाज की सशक्‍त ऑनलाइन पहल। Contact us: abhayindia07@gmail.com : 9829217604
LATEST NEWS

OTHERS NEWS

MN Hospital Bikaner Rajasthan
Join WhatsApp