आजादी की अलख जगाने वाले स्वतंत्रता सेनानी व्यास का निधन

स्वतंत्रता सेनानी दाऊलाल व्यास
स्वतंत्रता सेनानी दाऊलाल व्यास
freedom fighter daulal vyas
freedom fighter daulal vyas

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। आजादी की अलख जगाने में सक्रिय योगदान देने वाले स्वतंत्रता सेनानी दाऊलाल व्यास का गुरूवार को निधन हो गया। वह 93 वर्ष के थे। व्यास पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ थे। उनका अंतिम संस्कार शुक्रवार को भाटोलाई स्थित श्मसान गृह में राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। स्वतंत्रता सेनानी दाऊलाल व्यास के पुत्र बृजगोपाल व्यास ने बताया कि 1 जनवरी 1925 को पाली में जन्मे व्यास ने भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान सक्रिय रूप से भाग लिया और बीकानेर में स्वतंत्रता की अलख जगाई। व्यास वार्ड पार्षद तथा पूगल के उपसरपंच रहे। वे माणिक्यलाल सीमावर्ती छात्रावास के अधीक्षक तथा प्राकृतिक चिकित्सा केन्द्र के सक्रिय सदस्य रहे। उन्हें वर्ष 2014 व वर्ष 2016 में राष्ट्रपति द्वारा आयोजित राष्ट्रपति एट होम में सम्मानित भी किया गया। उन्होंने बताया कि व्यास की अंतिम यात्रा शुक्रवार को उनके निवास स्थान से प्रात: 11 बजे रवाना होगी। उनके परिवार में 4 पुत्र व 4 पुत्रियां हैं।

राजकीय सम्मान से होगा अंतिम संस्कार

स्वतंत्रता सेनानी दाऊलाल व्यास का अंतिम संस्कार राजकीय सम्मान के साथ होगा। इस संबंध में प्रशासनिक स्तर पर व्यवस्थाओं के लिए जिला कलक्टर अनिल गुप्ता ने गुरुवार को एक आदेश जारी कर जिला पुलिस अधीक्षक, तहसीलदार व अन्य अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए हैं। कलक्टर गुप्ता ने व्यास के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए परिजनों को ढांढ़स बंधाया है।

स्वतंत्रता सेनानी के निधन पर पूर्व मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला, विधायक डॉ. गोपाल कृष्ण जोशी, कांग्रेस प्रदेश सचिव राजकुमार किराड़ू, गोपाल गहलोत, शहर भाजपा अध्यक्ष डॉ. सत्यप्रकाश आचार्य, शहर कांग्रेस अध्यक्ष यशपाल गहलोत, देहात कांग्रेस के कोषाध्यक्ष कौशल दुग्गड़, शहर जिला महिला कांग्रेस की अध्यक्ष सुनीता गौड़, वरिष्ठ पत्रकार श्याम शर्मा, पत्रकार संगठन जार के जिलाध्यक्ष अपर्णेश गोस्वामी, जार के पूर्व जिलाध्यक्ष श्याम मारू, बीकानेर प्रेस क्लब के अध्यक्ष सुरेश बोड़ा, नीरज जोशी आदि ने शोक संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि स्वतंत्रता आंदोलन में उन्होंने सक्रिय भागीदारी निभाकर स्वतंत्रता की अलख जगाई।