भक्तामर पूजा का विशेष अनुष्ठान में दो दोहों की व्याख्या, भगवान आदिनाथ के मंडप व यंत्र का पूजन

Bhaktamar pooja
Bhaktamar pooja

बीकानेर Abhayindia.com भक्तामर प्रसारिका, महतरा पद से विभूषित साध्वीश्री मृृृगावती, सुरप्रिया व नित्योदया के सान्निध्य में सोमवार से 22 दिवसीय भक्तामर पूजा का विशेष अनुष्ठान शुरू हुआ। पहले दिन भक्तामर के दो दोहों की व्याख्या के साथ उपासरे में स्थापित शत्रुंज्य महातीर्थ के मंडप, यंत्र के साथ भगवान आदिनाथ के जयकारों के पूजा की गई।

प्रथम दिन वरिष्ठ श्रावक महादेव सुराणा, अनिल-आशा सुराणा व हेमंत सुराणा परिवार, केसरीचंद, झंवर लाल सेठिया परिवार से  मनोज-मधु सेठिया व वरिष्ठ श्राविका कस्तुरी देवी ने भगवान आदिनाथ का अभिषेक विधान करवाया। साध्वीवृृंद ने भक्ति गीतों के मुखड़े तथा श्री मांगतुंगाचार्य द्वारा रचित भक्तामर स्तोत्र के दो श्लोकों व आगम के मंत्रों से पूजा व अभिषेक करवाया।

श्री सुगनजी महाराज का उपासरा ट्रस्ट के मंत्री रतन लाल नाहटा ने बताया कि बीकानेर में पहलीबार यह अनुष्ठान हो रहा है। अनुष्ठान के तहत प्रतिदिन भक्तामर पाठ के 2 श्लोकों की गाथा के साथ पूजा होगी। अलग-अलग दिन अलग-अलग श्रावक-श्राविकाए पूजा करवाएंगे। कुल 22 दिनों में 44 गाथाओं की पूजा होगी। यह कार्यक्रम साध्वीश्री मनोहरश्री के जन्म शताब्दी वर्ष के तहत किया जा रहा है। -Shiv Kumar Soni