Hometrendingतबादले : प्रदेश में भारतीय सेवा के प्रशासनिक अधिकारियों में फेरबदल, देखें...

तबादले : प्रदेश में भारतीय सेवा के प्रशासनिक अधिकारियों में फेरबदल, देखें सूची…

बीकानेर Abhayindia.com कार्मिक विभाग ने एक आदेश जारी कर भारतीय प्रशासनिक अधिकारियों का फेरबदल किया है। इसमें सात को पहलीबार पोस्टिंग मिली है, तो चार के तबादले किए हैं। कार्मिक विभाग से जारी आदेशों अनुसार इनमें सात ऐसे भी है जिनका का पहलीबार पदस्थापन हुआ है। यह अधिकारी 2021 बैच के है। इनका चयन बीते साल मई में हुआ था। अब इन अधिकारियों को पहली बार फील्ड पोस्टिंग मिली है। कार्मिक विभाग ने चार अन्य अधिकारियों के तबादले किए है, जबकि 3 आरएएस अधिकारियों को पदस्थापन के लिए आदेशों की प्रतीक्षा में रखा गया है।

Marward Hospital ( Dr. Meenashi)

बीकानेर : कर्मचारियों का आंदोलन, गुरुवार को दोपहर बाद करेंगे कार्य बहिष्कार

बीकानेर Abhayindia.com राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी संघर्ष समिति के तत्वावधान में चल रहे आंदोलन में गुरुवार को ग्रेड पे सहित मांगों के समर्थन में मध्यान्ह के बाद कार्य बहिष्कार किया जाएगा। कर्मचारी दोपहर को सीएम के नाम ज्ञापन दिया जाएगा। राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी संघर्ष समिति की ओर से ग्रेड – पे 3600 सहित सात सूत्रीय मांगों पर आंदोलन किया जा रहा है। समिति कमल नारायण आचार्य के अनुसार समस्त विभागों के मंत्रालयिक कर्मचारी आन्दोलन के तीसरे चरण में 22 से 26 जुलाई तक मध्यान्ह के बाद काली पट्टी बांधकर कार्य बहिष्कार करेंगे।

संघर्ष समिति की ओर से बीकानेर जिले के सभी विभागों के मंत्रालयिक कर्मचारियों को आह्वान किया गया है कि कोविड निर्देशों की पालना करते हुए आन्दोलन में भागीदारी निभाए।

प्रदेश : कर्मचारियों के मकान किराए भत्ते में हुई बढ़ोत्तरी, सीएम ने दी मंजूरी

जयपुरAbhayindia.com मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को देय महंगाई भत्ते की दर के 25 प्रतिशत से अधिक होने पर राज्य कर्मचारियों के मकान किराए भत्ते में 2 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी को मंजूरी दी है। गहलोत ने राज्य कर्मचारियों को उनके मूल वेतन पर देय ‘वाई’ श्रेणी के शहरों में मकान किराए भत्ते को 16 प्रतिशत से बढ़ाकर 18 प्रतिशत करने तथा ‘जेड’ श्रेणी के शहरों में यह भत्ता 8 प्रतिशत से बढ़ाकर 9 प्रतिशत करने की स्वीकृति दी है। मकान किराए भत्ते में यह बढ़ोतरी 1 जुलाई, 2021 से लागू होगी। राज्य सरकार इस पर 400 करोड़ रूपए से अधिक का वित्तीय भार वहन करेगी।

गौरतलब है कि प्रदेश में राज्य कर्मचारियों को देय महंगाई भत्ते को 17 प्रतिशत से बढ़ाकर 28 प्रतिशत किया गया है। महंगाई भत्ते की दर के 25 प्रतिशत की सीमा से अधिक होने पर 7वें वेतन आयोग के क्रियान्वयन के संबंध में वित्त विभाग के 30 अक्टूबर, 2017 के आदेश के अनुरूप मकान किराए भत्ते में वृद्धि के प्रस्ताव को यह मंजूरी दी गई है।

कोरोना : बीकानेर में बुधवार को आया एक मरीज…

बीकानेर Abhayindia.com जिले में अभी भी कोरोना रेंग रहा है। सीएमएचओ डॉ.ओपी चाहर के अनुसार बुधवार को 1375 सेम्पल हुए थे, इसमें दोनों रिपोर्ट में एक मरीज सामने आया है। इसके बावजूद सावधानी जरूरी है। सरकारी दिशा-निर्देशों की पालना करें।

21 जुलाई की दैनिक रिपोर्ट…
कुल सेम्पल- 1375
पॉजिटिव- 01
रीकवर- 00
कुल एक्टिव केस- 15
कोविड-केयर सेंटर- 00
हॉस्पिटल- 00
होम क्वारेन्टइन- 15
मृत्यु 00
कन्टेन्टमेंट जोन- 01
माइक्रो कंटेनमेंट-००

कोलकाता : कोरोना महामारी से निजात की अरदास, श्री श्री सिद्धि विनायक भक्त मंडल ने किया स्वास्तिक पूजन…

कोलकाता Abhayindia.com विनायक भक्त मंडल ने नींबू तल्ला चौक में स्वास्तिक पूजन किया। पंडित दाऊ ओझा ने विधिवत मंत्रोच्चारण के साथ पूजन कराया।. उप मंत्री प्रकाश किला ने कहा सभी ने विघ्नहर्ता भगवान गणेश से प्रार्थना कर शीघ्र ही कोरोना महामारी निजात दिलाने की अरदास की है। ताकि हम सभी आने वाले गणेश उत्सव को धूमधाम के साथ मना सके।कोरोना महामारी से निजात मिल सके, इसके लिए संस्थापक जनार्दन अग्रवाल, सभापति सज्जन शर्मा, वरिष्ठ संरक्षक शांतिलाल जैन,पूर्व अध्यक्ष प्रयागराज बंसल, अशोक द्वारकानी, प्राजेश करनानी, मुरली राठी, अभिषेक आसोपा व मधुसूदन सफ्फड़ ने कहा कि स्वास्तिक में विश्व की सारी शक्तियां समाहित है। यह सभी प्रकार के विघ्न, दोष को दूर करने में सक्षम है। मंडल के चेयरमैन सुशील कोठारी ने कहा भगवान गणेश की कृपा से ही सारे कार्य सफल होते हैं।

रिपोर्ट : सच्चिदानंद पारीक, ब्यूरो चीफ, कोलकाता

कोलकाता : आदिवासी प्रतिभाओं को उभारने का किया प्रयास, संकल्प सृष्टि संस्था की पहल

मिदनापुर.कोलकाता Abhayindia.com सामाजिक संस्था संकल्प सृष्टि ने ग्रामीण आदिवासी बच्चों के अंदर छिपी प्रतिभाओं को उजागर करने के उद्देश्य से कार्यक्रम आयोजित किया। पश्चिम मिदनापुर जिले के झाडग़्राम में हुए इस कार्यक्रम के तहत बच्चों को गायन, कीर्तन के लिए वाद्ययंत्र भी भेंट किए गए। संस्था के प्रमुख अविनाश कुमार गुप्ता ने कहा कि कभी यह क्षेत्र माओवाद से प्रभावित हुआ करता था, पहले की अपेक्षा अब यहां आवागमन भी बेहतर हुआ है। क्षेत्र के बच्चों को शिक्षित कर उन्हें समाज की मुख्यधारा से जोडऩे की दिशा में संस्था ने अपनी और से यह पहला कदम बढ़ाया है। यहां के बच्चों में सभी असुविधाओं के बीच भी सीखने की ललक देखने को मिलती है, बच्चों के नृत्य , कीर्तन की शैली, खेल-कूद, संस्कृत मंत्रोच्चारण सभी कुछ मन को मोह लेता है।

संस्थान के अध्यक्ष नवल किशोर परसरामका व समन्वय कर्ता राजेश तिवारी ने कहा शिक्षा केंद्र में बच्चों को पढ़ाने के साथ उन्हें सांस्कृतिक रूप से भी उन्नत बनाने की व्यवस्था की जा रही है। खेल-कूद के लिए आवश्यक सामान भी उपलब्ध कारए जाएंगे। बच्चों के अभिभावकों को भी कई रोजगारपरक योजनाओं से जोड़ा जाएगा। श्री माहेश्वरी विद्यालय के मंत्री केशव कुमार भट्टड़ सहित विकास टिबड़ेवाल, विप्पिन बिहारी राय, आनंद सिंह खरवार, अमरनाथ पांडेय, जयेश वोरा ने इस अवसर पर बच्चों को कई प्रकार की शिक्षाप्रद बातें बताई। सुबरना,अमृता-आराधना, कल्पना, दीपा-भूमिका ने खेलों के माध्यम से बच्चों का उत्साह बढ़ाया।

रिपोर्ट : सच्चिदानंद पारीक, ब्यूरो चीफ, कोलकाता

बीकानेर : निशुल्क संध्या प्रशिक्षण शिविर गुरुवार से

बीकानेर Abhayindia.com सनातन धर्म साधना पीठ की ओर से गुरुवार से निशुल्क संध्या प्रशिक्षण शिविर लगाया जाएगा। इसको लेकर तैयारियां चल रही है, यह शिविर 22 जुलाई से शुरू होगा, जो एक पखवाड़ा चलेगा। संयोजक सुनीलम् ने बताया कि संस्था की ओर से यह छठा निशुल्क प्रशिक्षण शिविर है। प्रशिक्षक सनातन धर्म प्रचारक पंडित भाईश्री होंगे। शिविर का मूल उद्देश्य वर्तमान समय में द्विज मात्र अपने मूल सनातन कर्म से लुप्त होता जा रहा है, युवा पीढ़ी को इससे जोडऩा है। समाज को सनातन की अग्रणी पंक्ति में खड़ा करने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है। संस्था का यह प्रयास रहेगा कि अधिक से अधिक द्विज बंधु इस कार्यक्रम से जुड़कर इसका लाभ उठाए।

यह शिविर मुरलीधर व्यास कॉलोनी स्थित एसडीपी स्कूल में रहेगा। जहां 22 जुलाई से शाम 6:30 से 7:30 बजे तक संध्या का प्रशिक्षण दिया जाएगा।

प्रदेश : कृषि निर्यात प्रोत्साहन नीति, 617 एग्रो प्रोजेक्ट होंगे स्थापित

जयपुर Abhayindia.com राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी कृषि प्रसंस्करण, कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात प्रोत्साहन नीति-2019 के तहत प्रदेश में कोविड की विपरीत परिस्थितियों के बीच 617 एग्रो प्रोजेक्ट स्थापित हो रहे हैं, जिन पर 1255 करोड़ रूपए का निवेश होगा। इसके लिए राज्य सरकार ने अब तक 338 प्रोजेक्ट पर 119 करोड़ रूपए की सब्सिडी मंजूर की है।

कृषि विभाग के प्रमुख शासन सचिव भास्कर ए सावंत के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने वर्तमान राज्य सरकार की पहली वर्षगांठ के मौके पर दिसम्बर, 2019 में यह नीति लॉन्च की थी। पूंजीगत, ब्याज, विद्युत प्रभार एवं भाड़ा अनुदान प्रोत्साहन, ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में कृषि भूमि के रूपान्तरण जैसी सहूलियतों की वजह से किसान एवं उद्यमी इसमें खासी रूचि दिखा रहे हैं। वेयर हाउस एवं केटल फीड उद्यमों के साथ तिलहन, दलहन, मसाले, मूंगफली, कपास, दूध एवं अनाज प्रोसेसिंग की इकाइयां स्थापित की गई हैं।

प्रदेश में 88 किसानों को सब्सिडी…

राज्य में 88 किसानों को 39 करोड़ 60 लाख रूपए की सब्सिडी स्वीकृत की गई है, जिन्होंने 89 करोड़ रूपए का निवेश किया है। गैर-कृषक उद्यमियों ने 496 करोड़ रूपए निवेश कर 250 इकाइयां स्थापित की हैं, जिन पर राज्य सरकार की ओर से 79 करोड़ 69 लाख रूपए सब्सिडी दी गई है। शेष अन्य प्रोजेक्ट्स के लिए बैंकों से लोन स्वीकृत होकर कार्य चालू हो गया है, जिन्हें शीघ्र ही सब्सिडी उपलब्ध कराई जाएगी।

226 वेयरहाउस हो रहे स्थापित…

सावंत ने बताया कि राज्य में वेयर हाउस स्थापना में सबसे ज्यादा रूचि दिखाई जा रही है। 226 वेयरहाउस स्थापित हो रहे हैं। एग्रो प्रोसेसिंग क्षेत्र में सबसे अधिक अनाज प्रोसेसिंग की 82 एवं तिलहन प्रोसेसिंग की 76 इकाइयां लगाई गई हैं। इसके अलावा दलहन की 46, मसाले की 43, मूंगफली की 36, कपास की 33, केटल फीड की 16, दूध प्रोसेसिंग की 15, शर्टिंग-ग्रेडिंग की 13 एवं 31 अन्य इकाइयां स्थापित की जा रही हैं।

गौरतलब है कि इस नीति के तहत एग्रो प्रोसेसिंग इंडस्ट्री लगाने और इन्फ्रास्ट्रक्चर विकसित करने के लिए किसान एवं उनके संगठनों को परियोजना लागत का 50 फीसदी (अधिकतम एक करोड़ रूपए) एवं अन्य पात्र उद्यमियों को 25 प्रतिशत (अधिकतम 50 लाख रूपए) अनुदान दिया जा रहा है। साथ ही संचालन लागत कम करने के लिए सावधि ऋण लेने पर किसानों एवं उनके समूहों को 6 फीसदी की दर से 5 साल तक ब्याज अनुदान दिया जा रहा है। किसानों के लिए ब्याज अनुदान की अधिकतम सीमा एक करोड़ रूपए तय की गई है।

सामान्य उद्यमियों को 5 फीसदी की दर से 5 साल तक ब्याज अनुदान दिया जा रहा है, जबकि आदिवासी क्षेत्रों एवं पिछड़े जिलों में इकाइयां लगाने वालों तथा अनुसूचित जाति-जनजाति, महिला एवं 35 साल से कम उम्र के उद्यमियों को एक प्रतिशत अतिरिक्त ब्याज अनुदान मिल रहा है। यह प्रसंस्करण उद्योगों के लिए अधिकतम 50 लाख रूपए एवं आधारभूत संरचना इकाइयों के लिए एक करोड़ रूपए तक दिया जा रहा है।

सीएम गहलोत की अध्‍यक्षता में होगी कैबिनेट बैठक, इन पर होगा विचार

जयपुर Abhayindia.com मुख्‍यमंत्री अशोक गहलोत की अध्‍यक्षता में कैबिनेट की बैठक कल शाम पांच बजे सीएमआर में बुलाई गई है। कैबिनेट की बैठक के बाद शाम 5.30 बजे मंत्रिपरिषद की बैठक होगी। इस बैठक में आगामी विधानसभा सत्र के साथ ही अनलॉक में छूट को लेकर विचार-विमर्श के साथ ही स्कूल शुरू करने को लेकर भी सरकार सभी पहलुओं को देखेगी। आपको बता दें कि राज्‍य सरकार अभी नौवीं से 12वीं कक्षा तक स्कूल खोलने पर विचार कर रही हैं, लेकिन अभी 18 साल से कम आयु वालों के लिए वैक्सीन नहीं है इसलिए इस पर मंथन किया जाएगा।

बीकानेर : शिक्षकों को संस्थान के खिलाफ उकसाना भारी पड़ा, कुलपति ने प्राचार्य को पद से हटाया…

बीकानेर Abhayindia.com तकनीकी विश्वविद्यालय के संघटक महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. यदुनाथ सिंह को शिक्षकों और कर्मचारियों को संस्थान के हितों के खिलाफ उकसाना भारी पड़ा। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अम्बरीष विद्यार्थी ने प्राचार्य यदुनाथ सिंह को उनके पद से हटा दिया है। जारी किए गए आदेश के अनुसार प्राचार्य ने व्यवस्था की अनुपालना सुनिश्चित नहीं की, प्रशासनिक व वित्तीय कार्यों के निष्पादन में अपेक्षित प्रतिबद्धता, समयबद्धता एवं शुचिता के विरुद्ध कार्य करने किया है। इसको देखते हुए विश्वविद्यालय अधिनियम के तहत तुरंत प्रभाव से प्राचार्य को हटाया गया है। आगामी नियुक्ति नहीं होने तक प्राचार्य और निदेशक का कार्य भार कुलपति स्वयं संभालेंगे। साथ ही प्राचार्य डॉ. सिंह को शिक्षण संबंधित कार्यों के अतिरिक्त विश्वविद्यालय की ओर से आवंटित प्रभार, कार्यों से भी मुक्त कर दिया गया है।

बीकानेर : कोरोना अभी भी दुबका है, बुधवार सुबह की रिपोर्ट में आया एक मरीज…

बीकानेर Abhayindia.com जिले में कोरोन अभी भी दुबका हुआ है। पूरी तरह से संक्रमण समाप्त नहीं हुआ है। रोजाना एक-दो मरीज सामने आ रहे हैं। सीएमएचओ डॉ.ओपी चाहर के अनुसार बुधवार सुबह की रिपोर्ट में एक मरीज सामने आया है। ऐसे में सावधानी अभी भी जरूरी है।

बीकानेर : शिक्षा मंत्री पर आरएएस परीक्षा में निजी रिश्तेदारों को अनुचित लाभ देने का आरोप

बीकानेर Abhayindia.com राज्य लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित राज्य प्रशासनिक सेवा परीक्षा के परिणामों पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं। भारतीय जनता पार्टी के नेता और एडवोकेट सुरेन्द्र सिंह शेखावत ने इन परिणामों में शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा पर गंभीर आरोप लगाए हैं। शेखावत ने यहा जारी एक बयान में आरोप लगाया है कि कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा के पुत्र अविनाश डोटासरा की पत्नी, साले और साली को आरएएस परीक्षा के साक्षात्कार में एक समान 80-80 अंक देकर अनुचित तरीके से लाभ पहुंचाया गया है। इस प्रकार राज्य लोक सेवा आयोग ने प्रदेश के बेरोजगार योग्य अभ्यर्थियों के हक पर कुठाराघात किया है।

शेखावत ने राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा जारी अंक तालिका को जारी करते हुए यह बताया है कि अविनाश डोटासरा की पत्नी, उनकी साली और साले तीनों के ही लिखित परीक्षा में प्राप्तांक 50 प्रतिशत से कम है जबकि तीनों को ही साक्षात्कार में एक समान 80-80 अंक देकर अवांछित लाभ पहुंचाया गया है। शेखावत के अनुसार यह दुर्लभ संयोग नहीं हो सकता, जबकि राज्य लोक सेवा आयोग की परीक्षा को टॉप करने वाली मुक्ता राव को साक्षात्कार में 77 अंक ही दिए गए हैं। इसी तरह राज्य मेरिट में चौथी रेंक प्राप्त करने वाले निखिल को साक्षात्कार में मात्र 67 अंक दिए गए है।

विश्वसीयता पर सवाल?

शेखावत ने आरोप लगाया है कि इससे राज्य लोक सेवा आयोग की विश्वसनीयता पर सवालिया निशान खड़ कर दिया है। शेखावत ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंद डोटासरा पर आरोप लगाया है कि उन्होंने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अपने निजी रिश्तेदारों को सत्ता के दबाव में अनुचित लाभ दिलाया है।

मंत्री पद से दें इस्तीफा…

भाजपा नेता सुरेन्द्र सिंह शेखावत ने इस पूरे मामले को पद के दुरुपयोग का मामला मानते हुए राज्य के शिक्षा मंत्री से इस्तीफे की मांग की है। शेखावत ने कहा है कि मुख्यमंत्री इस पूरे मामले की जांच कराए और मंत्री को पद से हटाए, ताकि राज्य लोक सेवा आयोग की विश्वसनीयता को बचाया जा सके।

बीकानेर : मंत्रालयिक कर्मचारियों की हुंकार, एकजुटता का आह्वान

बीकानेर Abhayindia.com राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी संघर्ष समिति की ओर से ग्रेड- पे 3600 सहित सात सूत्रीय मांगों को लेकर आंदोलन किया जा रहा है। इसी कड़ी में मंगलवार को मंत्रालयिक कर्मचारियों से सम्पर्क करने के लिए कमल नारायण आचार्य, गिरजाशंकर आचार्य के नेतृत्व में बाबूओं से विभिन्न विभागों में सम्पर्क किया गया। इस दौरान पेम्फ्लेट बांटे गए। राजस्थान राज्य मंत्रालयिक कर्मचारी संघर्ष समिति के प्रांतीय सदस्य गिरजाशंकर आचार्य ने बताया कि संघर्ष समिति ने जिला शिक्षा अधिकारी प्रारम्भिक शिक्षा बीकानेर, खनिज अभियन्ता खान एवं भु विज्ञान विभाग, जिला उद्योग केन्द्र बीकानेर, उप क्षेत्रीय रोजगार कार्यालय, उपनिदेशन सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग, सरदार पटेल मेडिकल कॉलेज, सी.एम.एच.ओ कार्यालय पीबीएम होस्पिटल, अतिरिक्त निदेशक पेन्शन एवं कल्याण विभाग बीकानेर के मंत्रालयिक कर्मचारियों से सम्पर्क स्थापित किया गया। कर्मचारियों ने संघर्ष समिति की ओर से किए जा रहे आन्दोलन की प्रशंसा करते हुए एकजुटता का आह्वान किया।

कोरोना : बुधवार को इन केन्द्रों पर होगा टीकाकरण, शहरी क्षेत्र के लिए रात 9 बजे खुलेगा स्लॉट, देखें सूची

बीकानेर Abhayindia.com कोरोना संक्रमण बचाव के लिए टीकाकरण अभियान जारी है। आरसीएचओ डॉ.राजेश गुप्ता के अनुसार बुधवार को बीकानेर शहर में 15 केंद्रों पर ऑनलाइन बुकिंग कर होगा टीकाकरण।

वहीं ग्रमीण क्षेत्र में 22 केन्द्रों पर ऑन स्पॉट होगा टीकाकरण। शहरी क्षेत्र के लिए रात नौ बजे स्लॉट खुलेंगे। इसमें 18 प्लस, 45 प्लस और 60 प्लस आयुवर्ग के लिए कोविशील्ड टीकाकरण होगा।

रोडवेज : पांच साल से बकाया की आस, जिले के साढ़े तीन सौ सेवानिवृत्त कार्मिकों का दर्द, सवा सौ करोड़ की बकाया

बीकानेर Abhayindia.com पूरी निष्ठा के साथ रोडवेज में नौकरी निभाई। सेवानिवृत्त हुए तो एक मात्र आस रिटायरल भुगतान की थी। मिलने वाले पैसों से परिवार में कई सपने साकार होने की उम्मीद थी। लेकिन सरकार की उदासीनता का आलाम यह है कि सेवानिवृत्ति के पांच साल बीतने के बाद भी इन कार्मिकों को अपने हक के पैसों के लिए बार-बार कभी दफ्तर के चक्कर लगाने पड़ रहे हैं, तो कभी आंदोलन करना पड़ रहा है, धरना प्रदर्शन कर अपनी आवाज को उच्च प्रबंधन, मंत्रालय तक पहुंचया, लेकिन परिणाम शून्य। यही नहीं रोडवेज की माली खराब होने से जो नियमित कार्मिक है, उन्हें भी समय पर वेतन नहीं मिल पा रहा है।

प्रदेश में 500 करोड़ बकाया…

सेवानिवृत एसोसिएशन के सचिव गिरधारी लाल के अनुसार प्रदेशभर में रोडवेज से सेवानिवृत्त हुए करीब साढ़े चार हजार कार्मिकों के लगभग ५०० करोड़ रुपए बकाया पड़े, यह पैसा सेवानिवृत्ति पर मिलता है, जो कार्मिकों के हक है। वहीं बीकानेर जिले में साढ़े तीन सौ ऐसे कार्मिकों को १२५ करोड़ रुपए की बकाया राशि का आज भी इंतजार है। यही नहीं कार्मिकों की माने तो वर्ष २०१७ से ना ही तो नियमित रूप से पेंशन मिलती है, और ना ही नियमित कार्मिकों को वेतन।

मुश्किल से हो रहा गुजारा…

हक का पैसा नहीं मिलने से सेवानिवृत्त कार्मिंकों का गुजारा मुश्किल से हो रहा है। लेकिन सरकार के कान पर जू तक नहीं रेंगी, हालात से खफा इन वरिष्ठ नागरिकों ने कोरोना दिशा-निर्देशों की पालना करते हुए आम बैठक रखी। इस दौरान रोडवेज एमडी के नाम एक ज्ञापन आगार प्रबंधक इंद्रा गोदारा को सौंपा। इसके जरिए अपनी दस सूत्री मांगें रखी गई। प्रतिनिधि मंडल में अध्यक्ष विक्रम सिंह राठौड़, कार्यकारी अध्यक्ष जगतपाल धतरवाल, घनश्याम शर्मा, रविंद्र जेतली, रामेश्वर खीचड़, लीलाकृष्ण ,तेजपाल, सतनाम सिंह, देवी दयाल भाटी,देवी शंकर पांडे, ओम पुरोहित आदि मौजूद रहे।

बीकानेर : पहले उठाया अवैध तरीके से राशन, अब रसद विभाग करेगा वसूली

बीकानेर Abhayindia.com अवैध तरीके से राशन उठाना सरकारी कर्मचारियों को भारी पड़ गया है। ऐसे कर्मचारियों के खिलाफ रसद विभाग ने अपना रवैया सख्त किया है। विभाग अब इस तरह से राशन उठाने वाले सरकारी कार्मिकों के वेतन में से राशि की वसूली करेगा। इन कार्मिकों के कार्यालयाध्यक्षों को इस संबंध में कार्यवाही करते हुए कटौती पत्रक मय टीवी नंबर प्रेषित करने के लिए लिखा गया है।

जिला रसद अधिकारी भागूराम महला ने बताया कि जिले में कार्यरत अथवा निवास करने वाले विभिन्न सरकारी कर्मचारियों ने गेहूं, चीनी, चना, दाल आदि अवैध तरीके से उठाव किया। इसकी वसूली के लिए इन कर्मचारियों को दो बार नोटिस जारी करते हुए 27 रुपए प्रतिकलो की दर से गेहूं और अन्य सामग्री बाजार दर से गणना करते हुए राशि राजकोष में जमा करवाने के लिए निर्देशित किया गया था, लेकिन इन कार्मिकों ने अवैध रूप से उठाए गए राशन की राशि राजकोष में जमा नहीं करवाई गई है।

460 कार्मिकों से वसूली बाकी है…

महला ने बताया कि अभी तक 460 सरकारी कार्मिकों से राशि की वसूली शेष है। इनमें से 60 कार्मिकों के कार्यालयाध्यक्षों को लिखा गया है। शेष कार्मिकों के वर्तमान पदस्थापन की सूचना संकलन के बाद सम्बन्धित कार्यालय प्रभरियों को लिखा जाएगा।

इस संबंध में ऐसे 60 सरकारी कार्मिकों के कार्यालय अध्यक्षों को उनके अधीनस्थ कार्यालयों में पदस्थापित इन सरकारी कार्मिकों द्वारा उठाए गए राशन की गणना इनकी नियुक्ति तिथि से करते हुए वसूली अथवा कटौती इनके वेतन से करते हुए राशि बजट में हस्तांतरित करने के लिए लिखा है। साथ ही कटौती पत्रक मय टीवी नंबर जिला रसद अधिकारी कार्यालय में प्रेषित करने को भी कहा गया है।

रेलवे : पदभार ग्रहण करने पर रेलवे के सीनियर इंजीनियर का हुआ स्वागत

बीकानेर Abhayindia.com उत्तर पश्चिमी रेलवे बीकानेर मंडल में सीनियर सेक्शन इंजीनियर कोचिग के पद पर मेडलिफ कटिहार ने पदभार ग्रहण किया है। इस मौके पर मंगलवार को रानी बाजार फाटक के समीप स्थित कोचिंग कॉम्लेक्स में रेल कार्मिकों ने अधिकारी का मालाएं पहनाकर स्वागत किया। सेक्शन इंजीनियर ने कार्मिकों से कार्य के सफल संचालन के लिए विचार-विमर्श किया।

इस मौके पर इलेक्ट्रिक शाखा के आसूराम सोलंकी ने अधिकारी को अवगत कराया कि स्टाफ पूरी निष्ठा के साथ कार्य करता है, आगे भी तत्परता से ड्यूटी करेंगे। इस दौरान दाऊलाल रंगा, जितेन्द्र विश्वकर्मा,जगजीवन राम, राकेश , रमीज पलक, रविन्द्र, हरीसिंह सहित स्टाफ मौजूद रहे।

बीकानेर : वेतन वृद्धि की मांग को लेकर कृषक मित्रों ने किया प्रदर्शन, देखें वीडियो

बीकानेर Abhayindia.com कृषक मित्र एकता संघ के तत्वावधान में मंगलवार को कृषक मित्रों ने कलक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर वेतनवृद्धि सहित मांगें रखी। अपनी मांगों को लेकर एक ज्ञापन जिला कलक्टर को सौंपा। इसमें मुख्य तौर पर कृषि विभाग की ओर से संचालित आत्मा सहित विभिन्न योजनाओं में कृषक मित्रों को भागीदारी देने, मृदा स्वास्थ्य कार्ड जांच, पानी की जांच कृषक मित्रों से कराने सहित कई मांगें रखी।कृषक मित्र ने रोष जताते हुए कहा कि जितना काम कर रहे हैं, उतना वेतन नहीं मिल रहा है।

Preview YouTube video बीकानेर में कृषक मित्रों की समस्याओं का नहीं हुआ हल, मांगों को लेकर किया प्रदर्शन

कृषक मित्र भीमदान चारण ने कहा कि किसान व विभाग के बीच की कड़ी है कृषक मित्र लेकिन विभागीय स्तर पर इनकी उपेक्षा की जा रही है। विभागीय योजनाओं में कृष मित्रों की भागीदारी को सुनिश्चत किया जाना चाहिए। अलग-अलग गांवों में से आए कृषक मित्रों ने नारेबाजी कर रोष जताया।

बीकानेर : तीसरी लहर को लेकर कितना सतर्क है विभाग? बता रहे हैं सीएमएचओ डॉ.ओपी चाहर, देखें वीडियो

बीकानेर Abhayindia.com कोरोना की तीसरी लहर को लेकर स्वास्थ्य विभाग कितना सतर्क है? किस तरह की व्यवस्थाएं की जा रही है? इन सवालों को लेकर अभय इंडिया ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. ओ. पी. चाहर से खास बातचीत की। डॉ. चाहर ने बताया कि तीसरी लहर की संभावनाओं को लेकर विभाग पूरी तरह से मुस्तैद है। बताया जा रहा है कि इसका प्रभाव बच्चों पर अधिक हो सकता है, इसेे देखते हुए पूरी सतर्कता बरती जा रही है। स्टाफ को प्रशिक्षित किया जा रहा है। केन्‍द्रों पर ऑक्सीजन कंस्ट्रेटर लगाए जा चुके है। सात ऑक्सीजन प्लांट तैयार हो चुके हैं।

डॉ. चाहर ने बताया कि मौसम परिवर्तन के साथ ही बारिश जनित रोगों की संभावनाओं को लेकर भी स्वास्थ्य विभाग सतर्क है। मलेरिया, डेंगू बुखार के लक्षण वाले रोगियों की स्लाईड लेने के लिए कहा गया है। सीएमएचओ ने बताया कि घर-घर सर्वे शुरू कराया गया है। जहां पर बारिश का पानी एकत्रित है वहां टेमीफॉस व एमएलओ डालने के लिए निर्देश दिया गया है। संस्थाओं पर स्थित हैचरीज को मरम्मत कर गम्बुशिया डालने को कहा गया है। सीएमएचओ ने बताया कि फिलहाल मलेरिया, डेंगू सहित अन्य बीमारियों के कोई रोगी सामने नहीं आए है। एक साल में मलेरिया एक रोगी ही सामने आया था। इसके बावजूद विभाग पूरी तरह से सतर्कता बरत रहा है।

टीकों की उपलब्धता…

जिले में टीकाकरण की स्थिति के सवाल पर सीएमएचओ ने बताया कि टीकों की उपलब्धता में परेशानी आ रही है, लेकिन जितनी उपलब्धता होती है उसी के आधार पर टीकाकरण किया जा रहा है।

दीवार पर बवाल : पूर्व मंत्री भाटी ने कहा- चाहे गोली चला लो, लेकिन दीवार तो बनेगी…

बीकानेर Abhayindia.com बीकानेर शहर से सटती शरह नत्‍थाणिया गोचर भूमि पर बन रही दीवार के निर्माण को रोकने के लिए आज दोपहर में इलाके के गिरदावर व पटवारी मौके पर पहुंच गए। इस दौरान एकबारगी बवाल सा मच गया। इसकी भनक लगते ही पूर्व मंत्री देवीसिंह भाटी और सैकड़ों की संख्‍या में गोचरप्रेमी मौके पर जुट गए। पूर्व मंत्री भाटी ने मौके पर पहुंचे सरकारी नुमाइंदों को खूब खरी-खरी सुना डाली। भाटी ने कहा कि गोचर में अवैध कॉलोनी कट गई, श्‍मशान बन गए, बेतहाशा अतिक्रमण हो गए, तब कोई यहां मौका देखने नहीं आया। आज गायों की सुरक्षा के लिए दीवार बन रही है तो इसमें रोड़ा डालने आ गए। ऐसा नहीं चलेगा। यदि आपको काम ही करना है तो पहले अतिक्रमण हटाओ और हमें निशानदेही दो। अन्‍यथा दीवार के निर्माण का काम तो ऐसे ही चलता रहेगा। पूर्व मंत्री भाटी ने अभय इंडिया से बातचीत में कहा है कि पिछले एक महीने से यहां दीवार के निर्माण का काम चल रहा है। सारे मीडिया और शहरवासियों को यह बात पता है, लेकिन प्रशासन को अब इसकी याद आई है। यहां वे काम रूकवाने के लिए आए थे, लेकिन बाद में हमने समझाइश की तो वे यह कहकर चले गए कि हम तो मौका देखने आए थे। भाटी ने तल्‍ख अंदाज में कहा कि दीवार का निर्माण तो जारी रहेगा, चाहे गोली चला दो या मुकदमे दर्ज करा दो, हम गोचर से टस से मस नहीं होंगे। उन्‍होंने कहा कि गायों को संरक्षित करने का जो बीड़ा शहरवासियों और यहां के गौसेवकों ने उठाया है उसे पूरा करके ही दम लेंगे। उन्‍होंने सवाल करते हुए कहा कि जब गोचर में अवैध कॉलोनियां बस गई, श्‍मशान और मंदिर बन गए तब किसी यहां झांककर भी देखा क्‍या? अब यहां पुनीत कार्य हो रहा है तो इसमें खलल डालने की कोशिश हो रही है, लेकिन गौसेवी अपना काम नहीं रोकेंगे।

बीकानेर के कांग्रेस नेता का बयान- जी-हुजूरी करने वालों को नहीं मिले मौका…

बीकानेर Abhayindia.com प्रदेश में सत्‍ता और संगठन में भागीदारी के लिए चल रही कवायद के बीच बीकानेर में भी कई नेता सक्रिय हो गए हैं। राजनी‍तिक नियुक्तियों को लेकर ये नेता जयपुर से दिल्‍ली तक चक्‍कर लगा रहे हैं। इस बीच, कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता गुलाम मुस्‍तफा (बाबू भाई) ने राजस्‍थान प्रभारी अजय माकन से दिल्‍ली में मुलाकात करते हुए सत्‍ता और संगठन में उचित भागीदारी देने की मांग रखी। मुस्‍तफा ने इस दौरान कहा कि नेताओं की जी-हुजूरी करने वाले मौकापरस्तों यहाँ तक कि संघी विचारधारा रखने वाले लोगों को बार-बार अवसर देने से जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं के मन मे हताशा आई है। मुस्तफा ने कहा कि पार्टी की मजबूती के लिये वर्षों से कार्य करने वाले कैडरबेस कार्यकर्ताओं को  सत्ता व संगठन में उचित भागीदारी देनी चाहिए। मुस्तफा ने कहा कि पिछले 25 वर्षों से सत्ता और संगठन में पार्टी प्रत्याशी के रूप मे हारे अथवा जीते नेताओं के समर्थकों को ही रिपिट करने से पार्टी सैकिंड लाईन के नेता, कार्यकर्ता हताश होकर घर बैठ जाते हैं अथवा राह बदलने को मजबूर होते हैं। कैडरबेस कार्यकर्ता स्थानीय नेताओं के कोपभाजन का शिकार होने के डर से नेतृत्व के समक्ष सच्चाई नहीं रख पाते हैं।

कुंआरों को विवाह के लिए करना होगा 119 दिन इंतजार, देवउठनी एकादशी से शुरू होंगे मांगलिक कार्यक्रम…

इस बार चातुर्मास काल आषाढ़ शुक्ल एकादशी (20 जुलाई) से शुरू होकर कार्तिक शुक्ल एकादशी (15 नवम्बर) तक होगा। ऐसी मान्‍यता है कि चातुर्मास शुरू होते ही भगवान विष्णु सृष्टि संचालन का कार्य भगवान शिव को सौंपकर खुद क्षीर सागर में योग निद्रा के लिए चले जाते हैं। चातुर्मास में शिव आराधना का विशेष महत्व है। सावन का महीना चातुर्मास में ही आता है। चातुर्मास के साथ ही मांगलिक कार्य विवाह, यज्ञोपवीत संस्कार, मुंडन संस्कार, दीक्षाग्रहण, नवीन गृहप्रवेश आदि शुभ कार्य नहीं किए जाते हैं। हालांकि, इन दिनों में खरीदारी, लेन-देन, निवेश, नौकरी और बिजनेस जैसे नए कामों की शुरुआत के लिए शुभ मुहूर्त रहेंगे।

आपको यह भी बता दें कि चातुर्मास के चलते विवाह समारोह भी नहीं होंगे, ऐसे में कुंआरों को करीब 119 दिनों तक यानी देवउठनी एकादशी तिथि तक इंतजार करना होगा। देवशयनी एकादशी 20 जुलाई और देव उठनी एकादशी 14 नवंबर को है। देवउठनी एकादशी के साथ ही शुभ कार्यों के मार्ग खुल जाएंगे। विवाह का पहला मुहूर्त 15 नवंबर को है।

मुरलीधर व्‍यास कॉलोनी के घरों में आया मटमैला पानी

water supply in murlidhar vyas colony
water supply in murlidhar vyas colony

बीकानेर Abhayindia.com  मुरलीधर व्‍यास कॉलोनी में आज सुबह मटमैले पानी की आपूर्ति हो रही है। इस संबंध में क्षेत्र के लोगों ने जलदाय विभाग के अधिकारियों को भी अवगत कराया है। विभाग के अधीक्षण अभियंता दीपक बंसल ने बताया कि वे अभी बीकानेर से बाहर है। कॉलोनी क्षेत्र में सप्‍लाई किए गए पानी को लेकर उन्‍हें भी शिकायतें मिली है। इस पर मैंने एक टीम को पानी का सैंपल लेकर जांच कराने के निर्देश दिए हैं। इस संबंध में विभाग की एईएन योगिता ने बताया कि पानी में कचरा या गंदगी नहीं है, ऐसा लगता है कि इसमें बारिश का पानी मिक्‍स हो गया। इसका पता लगाया जा रहा है। इधर, क्षेत्र के लोगों का कहना है कि कॉलोनी में कई जगहों पर पानी की पाइप लाइन क्षतिग्रस्‍त हालत है। इन्‍हें दुरुस्‍त नहीं कराया जा रहा है। ऐसे में मटमैला पानी संभवत: उन्‍हीं लाइनों से आ सकता है।

अजय माकन के रिट्वीट से गर्माई राजस्‍थान की राजनीति, कोई अपने दम पर राज्‍य में…

जयपुर Abhayindia.com राजस्‍थान में गहलोत-पायलट के बीच चल रहे सियासी विवाद के बीच पंजाब में आखिरकार नवजोत सिंह सिद्धू कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष बना दिया गया है। इसके साथ ही अब राजस्‍थान में भी हलचल तेज हो गई है। दरअसल, यह हलचल प्रदेश प्रभारी अजय माकन एक रिट्वीट के चलते हुई है। इसके बाद यह कयास यह भी लगाया जाने लगा है कि राजस्थान में सचिन पायलट को फिर से प्रदेशाध्यक्ष बनाया जा सकता है। आपको बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब कांग्रेस का अध्यक्ष बनाए जाने के बाद अजय माकन ने एक पत्रकार के दो ट्वीट्स को रिट्वीट किया है। इन ट्वीट्स में लिखा है कि “किसी भी राज्य में कोई क्षत्रप अपने दम पर नहीं जीतता है। गांधी-नेहरू परिवार के नाम पर ही गरीब, कमजोर वर्ग, आम आदमी का वोट मिलता है। मगर चाहे वह अमरिन्द्र सिंह हो या गहलोत या पहले शीला या कोई और। माना जा रहा है कि इस ट्वीट को रिट्वीट कर अजय माकन ने सीधे तौर पर अशोक गहलोत पर निशाना साधा है।

अबकी बार सावन की लगेगी जोरदार झड़ी!

जयपुर Abhayindia.com प्रदेश में मानसून की बारिश से कई इलाके तर-बतर हो गए है वहीं कई इलाकों में अब भी झमाझम का इंतजार है। इस बीच, अच्‍छी खबर यह है कि अबकी बार सावन में जोरदार बारिश होगी। आपको बता दें कि 23 जुलाई से सावन शुरू हो जाएगा। मौसम विभाग के अनुसार, इस बार सावन में बारिश की झड़ी लगेगी। इसी क्रम में विभाग ने तीन दिन तक यलो अलर्ट जारी कर भारी बारिश की चेतावनी दी है। अलर्ट का असर 21 जुलाई तक दिखाई देगा। विभाग ने 19 जुलाई को अलवर, झुंझुनू जिलों में एक दो स्थानों पर भारी से अति भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। पूर्वी राजस्थान में अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडगढ़़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक, उदयपुर और पश्चिमी राजस्थान में बाड़मेर, जालौर, जोधपुर, नागौर, पाली जिलों में कहीं-कहीं पर मेघगर्जन और वज्रपात की संभावना जताई गई है। इसी तरह 20 जुलाई को अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडगढ़़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक और उदयपुर जिलों में कहीं-कहीं पर मेघगर्जन और वज्रपात की संभावना जताई है। 21 जुलाई को अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, भीलवाड़ा, बूंदी, चित्तौडगढ़़, दौसा, धौलपुर, डूंगरपुर, जयपुर, झालावाड़, झुंझुनूं, करौली, कोटा, प्रतापगढ़, राजसमंद, सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही, टोंक, उदयपुर जिलों में कहीं-कहीं पर मेघगर्जन और वज्रपात की संभावना।

Abhay Indiahttps://abhayindia.com
बीकानेर की कला, संस्‍कृति, समाज, राजनीति, इतिहास, प्रशासन, पर्यटन, तकनीकी विकास और आमजन के आवाज की सशक्‍त ऑनलाइन पहल। Contact us: abhayindia07@gmail.com : 9829217604
LATEST NEWS

OTHERS NEWS

MN Hospital Bikaner Rajasthan
Join WhatsApp