ज्योतिष के परिप्रेक्ष्य में भारतीय गणतंत्र का 73 वां वर्ष : देश में न्यायालय का सत्ता पर अंकुश…

Girvar Prasad Bissa
Girvar Prasad Bissa

26 जनवरी 2022 बुधवार, विशाखा नक्षत्र, तुला के चन्द्र ओर सिंह लग्न में भारतीय गणतंत्र का 73 वां वर्ष प्रवेश करेगा। ग्रह गत्यानुसार मुंथा आठवें, चन्द्र को छोड़कर सभी ग्रह राहु केतु के बीच है जो अमंगल का संकेत है।

वर्ष 2022 के विचित्र ग्रहयोगों के संयोग बनने के कारण पूरे विश्व मे भारत सहित तीन राष्ट्र अध्यक्षों की क्षति का योग बन रहा है। जिससे पूरे देश का वातावरण प्रभावित होगा। कई राज्यों में सत्ता और मुखिया के परिवर्तन का योग। केंद्रीय सत्ता की नीतियों के विरुद्ध आवाज तेज होगी और सत्ता संगठन में बिखराव के संकेत प्रतीत हो रहे है।

भारत विकास की नई दिशा की ओर उन्मुख होकर विश्व को नया सन्देश देगा। देश की विदेश नीति बदलाव होने से गरिमा को चार चांद लग जायेंगे। न्यायालय के अभूतपूर्व फैसले सत्ता पक्ष की नीतियों और शासन चलाने की प्रक्रिया को नई दिशा और दशा प्रदान करेंगे। सामाजिक, धार्मिक और आर्थिक गतिविधियों में विध्वंसक उछाल आएगा।

महामारी का प्रकोप चरम पर होगा। प्राकृतिक आपदाओं, आगजनी, भूकम्प ओर आयुध विस्फोट से जनधन हानि। पड़ोसी देशों की कुचालों के कारण युद्ध जैसा माहौल बना रहेगा। आतंकवादी संगठनों की दहशतगर्दी नए रूपों में सामने आएगी। गिरवर प्रसाद बिस्सा, ज्‍योतिषाचार्य, मुरलीधर व्‍यास कॉलोनी, बीकानेर