ज्ञानवापी परिसर का सर्वे शुरू, पांच सौ मीटर तक पब्लिक की एंट्री रही बंद, 1500 सुरक्षाकर्मी तैनात…

वाराणसी Abhyaindia.com वाराणसी में ज्ञानवापी परिसर में शनिवार को सर्वे शुरू हो गया। सर्वे रविवार यानी कल भी होगा। आपको बता दें कि सर्वे सुबह 8 बजे से शुरू हुआ था। एडवोकेट कमिश्नर अजय मिश्र और वादीप्रतिवादी पक्ष के 52 लोग परिसर के अंदर गए थे। सर्वे टीम में सभी के मोबाइल बाहर जमा करा दिए गए थे। प्रशासन ने ज्ञानवापी परिसर के चारों तरफ 500 मीटर तक पब्लिक की एंट्री बंद करा दी थी। एक किलोमीटर के दायरे में 1500 से ज्यादा पुलिस और पीएसी का जाब्‍ता तैनात रहा। सर्वे टीम तहखानों के सर्वे के लिए बैटरी लाइट लेकर गई थी। इसके अलावा, ताला तोड़ने वाले, सपेरे और सफाईकर्मियों को भी बुलाया गया था।

आपको बता दें कि टीम ने एक तहखाने का सर्वे कर लिया है। अंदर क्या मिला है। इस बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई है। टीम ने सबसे पहले ग्राउंड फ्लोर पर ग्रिल के पास वीडियोग्राफी की। परिसर की वीडियोग्राफी के लिए विशेष कैमरा और लाइट की व्यवस्था की गई। सुबह आठ बजे के करीब गेट नंबर-4 से ज्ञानवापी परिसर में टीम ने एंट्री की।

सुरक्षा को देखते हुए आसपास के घरों की छतों पर रूफ टॉप फोर्स तैनात की गई है। काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन के लिए श्रद्धालु सिर्फ गेट नंबर-1 से जा रहे हैं। ज्ञानवापी के पास गेट नंबर-4 बंद है। टीम ने तहखानों और परिसर की दीवारों को देखा और बनावट को कैमरे में कैद किया। पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश के अनुसार, रविवार को भी सर्वे जारी रहेगा।

ज्ञानवापी के 500 मीटर के दायरे में दुकानें बंद करा दी गई थी। यहां के घरों से भी लोगों को बाहर निकलने की अनुमति नहीं थी। ज्ञानवापी के 500 मीटर के दायरे में दुकानें बंद करा दी गई थी। यहां के घरों से भी लोगों को बाहर निकलने की अनुमति नहीं थी।

इससे पहले सर्वे को लेकर वाराणसी के डीएम कौशलराज शर्मा ने शुक्रवार को हिंदू और मुस्लिम, दोनों पक्षों के साथ बैठक की थी। उन्होंने सर्वे के दौरान दोनों पक्षों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। मुस्लिम पक्ष अंजुमनइंतजामिया मसाजिद कमेटी ने कहा है कि जब तक सुप्रीम कोर्ट से कोई फैसला नहीं आ जाता है, वह सर्वे में सहयोग करेंगे। दरअसल, कमेटी ने सर्वे रुकवाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में अपील की है, लेकिन चीफ जस्टिस एनवी रमन्ना ने फाइल देखे बिना कोई फैसला देने से इनकार कर दिया था।