राजस्‍थान : नेताओं के झमेलों में उलझी नियुक्तियां, कैसे तैयार होगी 6 लाख पदाधिकारियों की फौज…

congress
congress

जयपुर Abhayindia.com राजस्‍थान में आगामी विधानसभा चुनाव से पहले सत्‍ता और संगठन से संबंधित नेताओं और कार्यकर्ताओं को साधने में कांग्रेस के प्रयास सफल नहीं हो रहे। असल में, सत्‍ता-संगठन में नियुक्तियों होनी है लेकिन पार्टी और इनके दिग्‍गज नेता झमेलों में फंसने के कारण नियुक्तियों में देरी हो रही है। आपको बता दें कि ब्लॉक अध्यक्षों के चुनाव 31 मई तक संपन्न होने थे। लेकिन, इस दरम्‍यान चिंतन शिविर के चलते इसकी अवधि को बढ़ाकर 10 जून कर दिया गया। इसके बाद राज्यसभा चुनाव आ गए। इसलिए इसकी अतिथि और आगे बढ़ाकर 15 जून कर दी गई।

ब्लॉक स्तर के चुनाव के बाद जिला और उसके बाद प्रदेश स्तर के चुनाव होने हैं. लेकिन अब इन सभी स्तरों पर ही देरी होने की आशंकाएं खड़ी हो गई हैं। पार्टी का दावा 15 अगस्त 2022 तक करीब 6 लाख पदाधिकारियों की फौज तैयार कर ली जायेगी। प्रदेश में ब्लॉक और बूथ के बीच की कड़ी के रूप में करीब 2200 मंडलों का गठन भी किया जा चुका है. लेकिन राहुल गांधी की ईडी के पूछताछ के बाद पार्टी की ओर से शुरू किया आंदोलन ज्यादा दिन चला तो पदाधिकारियों के निर्वाचन के साथ ही कार्यकारिणियों के गठन में भी देरी होगी। राजस्थान में जिला और ब्लॉक स्तर की कार्यकारिणियां भंग हुए दो साल का वक्त बीत चुका है। बीते दो वर्षों में पार्टी की गतिविधियां निवर्तमान कार्यकारिणियों के भरोसे ही चल रही है। अब जबकि चुनाव में डेढ़ साल से भी कम का वक्त बचा है तो ये देरी पार्टी का नुकसान कर सकती है। पार्टी को संगठन की कमी खल रही है।