अफगान संकट : पंजशीर बनेगी जंग की घाटी? विद्रोह दबाने रवाना हुआ तालिबान

Talibani
Talibani

अफगानिस्‍तान के अधिकांश इलाकों में अपना कब्‍जा जमाने वाले तालिबान के लिए पंजशीर घाटी को अपने जद में करना मुश्किल हो रहा है। यहां तालिबान अभी काबिज नहीं हो सका है। पंजशीर में  विद्रोहियों की अगुआई कर रहे अहमद मसूद के लड़ाके जंग के लिए तैयार हैं। नेशनल रेजिस्टेंस फ्रंट यानी नॉर्दर्न अलायंस को लीड कर रहे मसूद ने कहा कि युद्ध की तैयारी है, पर अगर रास्ता निकालने के लिए बातचीत होती है तो उसके लिए भी तैयार हैं। इधर, तालिबान ने भी कहा है कि विद्रोह दबाने के लिए हजारों तालिबानी लड़ाकों को पंजशीर घाटी भेजा गया है। तालिबान ने ट्विटर पर कहा कि स्थानीय अधिकारियों ने शांतिपूर्ण तरीके से हमें पंजशीर सौंपने से इनकार कर दिया है। इसके बाद हमने वहां कंट्रोल करने के लिए अपने लड़ाके भेजे हैं। तालिबान समर्थक ट्विटर हैंडल से इसका एक वीडियो भी पोस्ट किया गया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पंजशीर के लड़ाकों ने तालिबान पर रास्ते में घात लगाकर हमला किया था और इस हमले में तालिबान के 300 लड़ाकों को मार दिया गया है। हालांकि, तालिबान ने लड़ाकों के मारे जाने की खबर को खारिज कर दिया है। तालिबान ने कहा कि पंजशीर के 2 जिलों पर अब उसका कब्जा है।

रिपोर्ट के मुताबिक, अहमद मसूद ने पंजशीर में विद्रोही नेताओं को साथ मिला लिया है। अफगानी फौजों और तालिबान विद्रोहियों को भी इकट्ठा किया है। रेजिस्टेंस फ्रंट के प्रवक्ता अली मैसम नजारी ने न्यूज एजेंसी एएफपी को बताया कि तालिबानियों के खिलाफ करीब 9 हजार लड़ाकों की फौज तैयार कर ली गई है। इस फौज को लगातार ट्रेनिंग दी जा रही है। हमारे पास गाड़ियां और हथियार भी हैं। नजारी ने कहा कि हम सरकार चलाने के लिए नई व्यवस्था चाहते हैं और इसके लिए बातचीत को भी तैयार हैं, पर जरूरत पड़ी तो हम जंग करने से भी पीछे नहीं हटेंगे।

सावन ने ली विदाई, अब भादवे में बरसेगी उम्‍मीदें! बीते 24 घंटे में यहां बरसे मेघ…

जयपुर Abhayindia.com सावन माह की विदाई के बाद अब भादवे में बारिश की बूंदें बरसने की उम्‍मीद है। बीते 24 घंटे के अंतराल में प्रदेश के कई इलाकों में बारिश हुई है। हालांकि, मौसम विभाग के अनुसार, सोमवार को पूरे प्रदेश में मौसम शुष्क रहेगा जिससे तापमान में फिर गर्मी और उमस बढ़ेगी। बहरहाल, चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र पूर्वोत्तर मध्य प्रदेश और इससे सटे उत्तर प्रदेश के दक्षिणी हिस्सों पर बना हुआ है। परिसंचरण पाकिस्तान के मध्य भागों और राजस्थान से सटे पश्चिमी भाग पर है। इससे दो से तीन बाद बारिश होने के आसार हैं।

यहां हुई बारिश…

श्रीडूंगरगढ में 33

पुष्कर में 24 एमएम

राजगढ में 31

बारां में 31

टिनवारी में 140

भोपालगढ में 66

मूंडवा में 58,

मारवाड जंक्शन में 50

छोटीसादडी में 46

श्रीमाधोपुर में 68

सीकर में 66 एमएम

कोरोना : सोमवार को इन केन्द्रों पर होगा टीकाकरण, देखें सूची…

प्रदेश : मुख्यमंत्री से मिले उद्योगपति एलएन मित्तल, सौर ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश की जताई मंशा…

कोरोना : सोमवार सुबह की रिपोर्ट में रही राहत…

रेलवे : किसान आंदोलन से रेल यातायात प्रभावित, यह ट्रेनें रहेगी रद्द…