…इसलिए फाइनल की दहलीज पर पहुंची सनराइजर्स

275
Rashid khan
Rashid khan

नई दिल्ली। हैदराबाद सनराइजर्स की टीम के आईपीएल के फाइनल में पहुंचने में सबसे बड़ी भूमिका 19 वर्षीय खिलाड़ी राशिद खान ने निभाई। कोलकाता के खिलाफ मिली जीत में राशिद ने पहले बल्ले और फिर अपनी गेंदबाजी की ऐसी धार दिखाई कि विरोधी टीम पूरी तरह से पस्त हो गई। राशिद को उनके ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया।

एक समय लगा रहा था कि सनराइजर्स की टीम डेढ़ सौ रनों के स्कोर तक भी नहीं पहुंच पाएगी, लेकिन नौवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे राशिद खान ने शानदार पारी खेलकर टीम का स्कोर 174 रन तक पहुंचा दिया। राशिद ने 10 गेंदों पर ताबड़तोड़ अविजित 34 रन बनाए। राशिद ने 340.00 के स्ट्राइक रेट से ये रन बनाते हुए विरोधी टीम को हैरान कर दिया। राशिद ने अपनी पारी में दो चौके और चार छक्के जड़े।

कोलकाता के खिलाफ पहली बारी में अपने बैट का जौहर दिखाने के बाद दूसरी पारी में राशिद खान ने घातक गेंदबाजी करते हुए विरोधी टीम की कमर ही तोड़ दी। राशिद ने कोलकाता टीम के तीन ऐसे बल्लेबाजों को पैवेलियन भेज दिया जो जीत दिला सकते थे। उन्होंने 4 ओवर में 19 रन देकर 3 विकेट लिए। उनका इकानॉमी रेट 4.75 का रहा। राशिद ने कोलकाता के विस्फोटक बल्लेबाज रॉबिन उथप्पा को अपना पहला शिकार बनाते हुए सिर्फ दो रन पर क्लीन बोल्ड कर दिया। इसके बाद ओपनर बल्लेबाज क्रिस लिन को उन्होंने अपना दूसरा शिकार बनाया। क्रिस को 48 रन पर एलबीडब्ल्यू आउट कर राशिद ने कोलकाता की जीत की उम्मीद थोड़ी धूमिल कर दी। इसके बाद उसकी उम्मीद आंद्रे रसेल पर टिकी थी, लेकिन उन्होंने रसेल को 3 रन पर स्लिप में शिखर घवन के हाथों आउट कर अपनी टीम की जीत का रास्ता तैयार कर दिया।

खान ने अब तक इस आइपीएल में कुल 16 मैच खेले हैं जिसमें उनके नाम पर 21 विकेट हैं। उनका इकानॉमी रेट 6.78 का रहा है। हालांकि उनके टीम के ही सिद्धार्थ कौल विकेट लेने के मामले में उनकी बराबरी पर ही हैं यानी उनके भी 16 मैचों में 21 विकेट है लेकिन औसत और इकानॉमी रेट के आधार पर राशिद खान ने कौल से बाजी मार ली है और वो दूसरे नंबर पर आ गए हैं। विकेट लेने के मामले में राशिद खान से आगे पंजाब के गेंदबाज एंड्रयू टे हैं जिनके नाम पर 14 मैचों में 24 विकेट हैं।