बुराइयों से बचने का आह्वान

184

विष्णुदत्त बिश्नोई
कालूवाला (अभय इंडिया न्यूज)। श्रीगुरु जम्भेश्वर मन्दिर कालूवाला में सोमवार रात्रि को जागरण का आयोजन किया गया। इसमें स्वामी सचिदानंद आचार्य ने गुरु जम्भेश्वर भगवान की आरती, साखी व भजनों से मानव जीवन के सुधार की बात बताई। मंगलवार सुबह मन्दिर में विशाल हवन यज्ञ किया गया। इस अवसर पर मन्दिर आए सभी भक्तों ने आहुतियां दी व क्षेत्र की खुशहाली की कामना की। स्वामी सच्चिदानंद आचार्य द्वारा कलश स्थापना की गई। नवनिर्मित मन्दिर का लोकार्पण स्वामी सच्चिदानंद आचार्य, बिहारी लाल बिश्नोई ने कर समाज को समर्पित किया। इस अवसर पर समाज का खुला अधिवेशन सम्पन्न हुआ। इसमें मुख्य वक्ता बिहारी लाल बिश्नोई ने कहा कि हमें समाज हित में कार्य करते हुए बुराइयों का त्याग करना चाहिए। युवा पीढ़ी को धर्म के प्रति आस्था रखते हुए गुरु जम्भेश्वर भगवान के बताये 29 नियमों का प्रचार-प्रसार करना चाहिए ताकि आमजन का भला हो सके।
गुरु जम्भेश्वर भगवान के बताये 29 नियम से आमजन का कल्याण हो सकता है। हमें नशे से दूर रहना चाहिए। नशा मनुष्य के जीवन को बर्बाद कर देता है। कार्यक्रम में अखिल भारतीय बिश्नोई महासभा के सदस्य रामधन माल ने कहा कि समाज को रूढ़ी परम्परा को छोड़कर समाज कि भलाई के लिए दिन-रात कार्य करना चाहिए। समाज में मृत्युभोज जैसी सामाजिक बुराई को दूर करना चाहिए, वहीं विवाह शादियों में नशे व डीजे का प्रचलन बन्द करना चाहिए। पंचायत समिति डायरेक्टर रामकुमार तेतरवाल ने कहा कि हम युवाओं को गुरु जम्भेश्वर भगवान के बताये 29 नियमों को आमजन तक पहुचाना चाहिए। इससे लोगों में जागरूकता आ सके हमें नित्य प्रति हवन करना चाहिये ताकि वातावरण शुद्ध रहे। राजस्व तहसीलदार सूरजभान बिश्नोई ने कहा कि हमें शिक्षा को बढ़ावा देना चाहिए। शिक्षा से ही जागरूकता आ सकती है। अखिल भारतीय जम्भेश्वर सेवक दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामसिंह कस्वां ने कहा कि सेवक दल ऐसे कार्यक्रमों में हमेशा तत्पर रहता है। सेवक दल द्वारा मुकाम में हमेशा लंगर चलता है जो कि समाज के सहयोग से ही चलता है। सेवक दल के सचिव प्रहलाद राय गोदारा ने कहा कि गुरु जम्भेश्वर भगवान ने जो बातें बताई वह मानव के लिए कल्याणकारी है। 14 बीडी सरपंच श्रवण डारा ने कहा कि हमें वृक्षों व वन्य जीवों की रक्षा करनी चाहिए। वृक्षों के लिए बिश्नोई समाज के 363 बिश्नोई शहीद हुए।
इस मौके पर अखिल भारतीय बिश्नोई महासभा के सदस्य लुम्बाराम खीचड़, क्षेत्रीय वन अधिकारी हनुमान गोदारा, रामरतन खीचड़, जीव रक्षा के प्रदेश प्रवक्ता सुखराम जाखड़, जीवरक्षा के पूर्व अध्यक्ष लाजपत थोरी, जीतराम ज्याणी, कालूराम सियाग, सुनील सहारण, हेतराम पटवारी आदि लोग मौजूद रहे। इस अवसर पर समाज की प्रतिभाओं को सम्मानित किया गया। अंत में 2 कालूवाला सरपंच राजेन्द्र बेनीवाल, अखिल भारतीय बिश्नोई महासभा के अध्यक्ष रामस्वरूप पंवार, सचिव विष्णु डूडी, कोषाध्यक्ष विनोद खिलेरी ने अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया।