टीम इंडिया बुधवार को पहुंचेंगी जयपुर, न्‍यूजीलैंड से खेलेंगी टी-20 मैच

cricket
cricket

खेल डेस्‍क। टी-20 क्रिकेट विश्‍व कप से बाहर हो चुकी टीम इंडिया 10 नवम्‍बर को जयपुर पहुंच रही है। यहां के सवाई मानसिंह स्टेडियम में 17 नवंबर को भारत और न्‍यूजीलैंड के बीच सीरिज का पहला टी-20 मैच खेला जाएगा। आपको बता दें कि कोरोना के बाद पहली बार जयपुर में दर्शकों की मौजूदगी में इंटरनेशनल क्रिकेट मैच होगा। टीम इंडिया जयपुर पहुंचने के बाद तीन दिन तक होटल में ही क्वारेंटाइन रहेंगी। इसके बाद टीम के खिलाड़ी 14 से 16 नवंबर तक सवाई मानसिंह स्टेडियम में अभ्‍यास करेंगे। वहीं, न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम भी टी-20 वर्ल्ड कप के बाद सीधे जयपुर पहुंचेगी। जहां पर क्वारेंटाइन पीरियड पूरा होने के बाद न्यूजीलैंड की टीम तीन मैचों की टी-20 सीरीज का पहला मुकाबला खेलेगी। इसके बाद 18 नवंबर को दोनों टीमें दूसरे मुकाबले के लिए जयपुर से रांची रवाना होगी।

आपको यह भी बता दें कि राज्‍य सरकार ने कोरोना की नई गाइडलाइन जारी कर दी है। इसमें कोरोना गाइडलाइन के नियमों के तहत शत-प्रतिशत कैपेसिटी के साथ खेलकूद प्रतियोगिता के आयोजन की अनुमति है। राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन ने सवाई मानसिंह स्टेडियम में दर्शक दीर्घा बनानी शुरू कर दी है। आरसीए सचिव महेंद्र शर्मा के अनुसार, मैच के दौरान आरटीपीसीआर टेस्ट या फिर वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट वाले दर्शकों को ही स्टेडियम में मैच देखने की अनुमति दी जाएगी। शर्मा ने कहा कि आरसीए ने सरकार से दर्शकों की शत-प्रतिशत मौजूदगी को लेकर मार्गदर्शन मांगा है। ऐसे में राज्य की अनुमति के बाद मैच के टिकट काउंटर शुरू किए जाएंगे।

बीकानेर में प्रशासन शहरों के संग अभियान की प्रगति से कलक्‍टर नाखुश, ये दिए निर्देश…

बीकानेर। जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि प्रशासन शहरों के संग अभियान से जुड़े सभी विभागीय अधिकारी पूर्ण गंभीरता से कार्य करें, जिससे आमजन को अधिक से अधिक लाभ मिल सके। जिला कलक्टर सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में साप्ताहिक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता में कर रहे थे। उन्होंने अभियान की अब तक की प्रगति पर असंतोष व्यक्त किया तथा कहा कि सभी संबंधित विभागों के अधिकारी शिविरों में मौजूद रहकर आपसी समन्वय के साथ कार्य करें। उन्होंने इंदिरा गांधी शहरी क्रेडिट कार्ड योजना के तहत सभी पात्र लोगों को लाभान्वित करने के निर्देश दिए। साथ ही नगर निगम को आवारा पशुओं की धरपकड़ तथा पॉलिथीन जब्ती अभियान में और अधिक गति लाने के लिए निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि डेंगू और अन्य मौसमी बीमारियों के मध्यनजर नगर निगम द्वारा फोगिंग नियमित रूप से की जाए।

जिला कलक्टर ने नगर विकास न्यास, नगर निगम और सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा शहरी सड़कों के दुरुस्तीकरण कार्यों की प्रगति जानी तथा कहा कि तीनों विभागों के अधिकारी इन कार्यों की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें तथा यह सुनिश्चित करें कि नवंबर अंत तक पेचवर्क के सभी कार्य पूर्ण हो जाएं। उन्होंने आरयूआईडीपी द्वारा गंगाशहर में करवाई जा रही सीवरेज कनेक्शन के प्रगति के बारे में समीक्षा की तथा इस में गति लाने के निर्देश दिए।

जिला कलक्टर ने बजट घोषणाओं का समयबद्ध क्रियान्वयन करने के निर्देश दिए। संपर्क पोर्टल के लंबे समय से लंबित प्रकरणों को गंभीरता से लेते हुए इनके अविलंब निस्तारण के निर्देश दिए। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग को श्रीगंगानगर रोड सहित अन्य स्थानों पर पाइप लाइन लीकेज की शिकायतों को शीघ्र निस्तारण करने के लिए कहा।

इस दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) बलदेव राम धोजक, अतिरिक्त जिला कलक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा, नगर विकास न्यास सचिव नरेंद्र सिंह राजपुरोहित, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओम प्रकाश, नगर निगम उपायुक्त पंकज शर्मा, सहायक निदेशक (लोक सेवाएं) सविना बिश्नोई सहित अनेक विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

पीबीएम अस्‍पताल के कंट्रोल रुम इंचार्ज पर गंभीर आरोप, नर्स से अभद्र भाषा में बात करने पर गिरफ्तार  

गहलोत मंत्रिमंडल में मिलेगा आधी आबादी को प्रतिनिधित्‍व, प्रियंका की घोषणा का होगा असर!