Thursday, July 18, 2024
Hometrendingचीन में कोविड के बाद अब नई "बीमारी" का खौफ, WHO ने...

चीन में कोविड के बाद अब नई “बीमारी” का खौफ, WHO ने डेटा मांगा

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

दुनिया डेस्‍क। चीन में अब सांस की बीमारी को लेकर आमजन चिंतित हो रहे हैं। यहां कोविड के बाद अब इस नई बीमारी के बढ़ने के कारण सतर्कता बरतने का आह्वान किया गया है। इस बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सरकार से रोग डेटा मांगा है और कहा कि कोई असामान्य या नए रोगजनकों का पता नहीं चला है।

इधर, राज्य परिषद ने कहा कि इस सर्दी और वसंत में इन्फ्लूएंजा अपने चरम पर होगा और भविष्य में कुछ क्षेत्रों में माइकोप्लाज्मा निमोनिया का संक्रमण भी फैल सकता है। साथ ही, कोविड संक्रमण के दोबारा बढ़ने के जोखिम के बारे में भी चेतावनी दी गई है। स्टेट काउंसिल ने एक बयान में कहा, “सभी इलाकों को संक्रामक रोगों पर सूचना रिपोर्टिंग को मजबूत करना चाहिए, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सूचना समय पर और सटीक तरीके से दी जाए।

आपको बता दें कि हालिया स्थिति के बारे में तब पता चला, जब WHO ने बच्चों में अज्ञात निमोनिया के समूहों पर प्रोग्राम फॉर मॉनिटरिंग इमर्जिंग डिजीज (ProMED) की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए चीन से अधिक जानकारी मांगी। चीन और WHO दोनों को 2019 के अंत में केंद्रीय शहर वुहान में सामने आए शुरुआती COVID-19 मामलों पर रिपोर्टिंग की पारदर्शिता के बारे में सवालों का सामना करना पड़ा है।

गुरुवार को, WHO ने कहा कि चीन ने उसके अनुरोध का जवाब दिया है और उसके द्वारा प्रदान किए गए डेटा से पता चलता है कि मामले माइकोप्लाज्मा निमोनिया जैसे ज्ञात रोगजनकों के प्रसार के साथ-साथ कोविड प्रतिबंधों को हटाने से जुड़े थे। असल में, माइकोप्लाज्मा एक सामान्य जीवाणु संक्रमण है, जो आमतौर पर बच्चों को प्रभावित करता है। इस महीने, अधिकारियों ने स्वास्थ्य सलाह जारी करना शुरू कर दिया और लोगों को चेतावनी देते हुए ज्यादा भीड़भाड़ वाले अस्पतालों में जाने से मना किया है।

हालांकि, अब तक कोविड काल जैसे मास्क पहनना और स्कूलों को बंद करने के आदेश लागू नहीं हुए हैं। मेलबर्न विश्वविद्यालय में मेलबर्न स्कूल ऑफ हेल्थ साइंसेज के प्रमुख ब्रूस थॉम्पसन ने कहा कि बहुत प्रारंभिक आंकड़ों से पता चलता है कि कुछ भी हैरान या परेशान करने वाला मामला सामने नहीं आया था। उन्होंने कहा, “ऐसा कुछ नहीं मिला है, जिसको लेकर कहा जाए कि यह कोविड का एक नया संस्करण हो सकता है।”

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
- Advertisment -

Most Popular