स्कूल में जांच हुई तो पता चला इनकी आंखों को हैं तत्काल इलाज की दरकार

155

बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। बहुरंगी दुनिया दिखाने वाली आंखों की कमजोरी आजकल आम बात हो गई है। टीवी, मोबाइल सरीखे उपकरणों से चिपके रहने की आदत के चलते आंखें रोगग्रस्त होती जा रही है। ऐसे में बच्चों की आंखों में कमजोरी होना बहुत चिंताजनक है। क्योंकि उन्हें तो अभी पूरा जहान देखना है…। हम बात कर रहे हैं कोठारी अस्पताल के पास स्थित आर्यन पब्लिक स्कूल व बीकानेर रोटरी क्लब मरूधरा के संयुक्त तत्वावधान में आर्यन पब्लिक स्कूल प्रांगण में बुधवार को ज्योति कलश नेत्र जाँच शिविर के दूसरे चरण के तहत आयोजित नेत्र जांच शिविर के संदर्भ में।

इस शिविर में नेत्र चिकित्सक डॉ. अनन्त शर्मा की अगुवाई व डॉ. राहुल हर्ष के मार्गदर्शन में रोटरी आई रिफ्लेक्टोमीटर मशीन से 326 बच्चों के नेत्रों की जांच की गई। शिविर में आश्चर्यजनक बात यह सामने आई कि लगभग 44 बच्चों के नेत्र से संबंधित अतिरिक्त जांच की आवश्यकता है। इस सम्बन्ध में संबंधित छात्र-छात्राओं के अभिभावकों को अवगत करवाया गया।

नेत्र विशेषज्ञ डॉ. अनन्त शर्मा ने इस चिंताजनक स्थिति में अभिभावकों से अपील की है कि नेत्र संबंधी आहार-व्यवहार पर बच्चों के अभिभावकों को विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है। इससे बच्चों की जिन्दगी को बहुरंगी बनाया जा सके। इस शिविर का उद्घाटन वरिष्ठ समाजसेवी एवं आरटीआई कार्यकर्ता गोविन्द नारायण किराडू एवं उद्योगपति दिनेश व्यास व संस्था सचिव अमित व्यास ने किया।

इस कार्यक्रम में बीकानेर रोटरी क्लब मरूधरा के अध्यक्ष पुनीत हर्ष, सचिव राजेश बावेजा, पूर्व अध्यक्ष डॉ. विनय गर्ग, आनन्द आचार्य तथा कोषाध्यक्ष पंकज पारीक, शकील अहमद, ऋषि धामू एवं अनीस अहमद ने अपना योगदान दिया। स्कूल प्रशासन की ओर से पूजा मूंधड़ा, प्रियंका भटड़, लक्ष्य टाक, पूजा मदान, हरिप्रकाश व्यास, रीतू पारीक, वीणा जोशी आदि ने सहयोग दिया। शिविर समापन पर आर्यन पब्लिक स्कूल परिवार ने इस अवसर पर बीकानेर रोटरी क्लब मरूधरा के चिकित्सक डॉ. अनन्त शर्मा का अभिनन्दन किया एवं समस्त सदस्यों का आभार जताया।