विधानसभा में ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे

687
file photo

अभय इंडिया डेस्क. जम्मू-कश्मीर विधानसभा के स्पीकर ने सुंजवान में सेना के शिविर पर हुए आतंकी हमले में रोहिंग्या के शरणार्थियों के हाथ होने का शक जताया है। कवींद्र गुप्ता ने शनिवार सुबह विधानसभा में कहा कि हमले के आसपास के क्षेत्र में रोहिंग्या शरणार्थी रहते हैं। ऐसे में आशंका है कि आतंकियों ने सेना के शिविर में घुसने के लिए इन शरणार्थियों की सहायता ली हो।
गुप्ता की इस बात से नेशनल कांफ्रेंस के नेता भड़क उठे और वे शरणार्थियों को बेकसूर बताने लगे। इस दौरान नेशनल कांफ्रेंस के एक विधायक अकबर लोन ने विधानसभा भवन में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। उन्होंने कहा कि इसके पीछे मेरी निजी राय है मुझे नहीं लगता कि इस पर किसी को आपत्ति होनी चाहिए।
इसके बाद विधानसभा करीब पंद्रह मिनट के लिए स्थगित कर दी गई। उल्लेखनीय है कि सेना के जिस शिविर में आतंकी हमला हुआ, वहां से महज कुछ दूरी पर रोहिंग्या शरणार्थियों की बस्ती है। विधानसभा में भाजपा नेताओं ने पाकिस्तान के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बता दें कि सुरक्षा एजेंसियों ने भी पहले ही आगाह कर दिया था कि आतंकी अफजल गुरु की पांचवीं बरसी पर आतंकी कोई बड़े आत्मघाती हमले को अंजाम दे सकते हैं।