परशुराम जयंती पर अवकाश घोषित, बीकानेर में मनाई खुशियां

541
परशुराम जयंती पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने पर बीकानेर में खुशियां मनाते ब्राह्मण समाज के लोग।
परशुराम जयंती पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने पर बीकानेर में खुशियां मनाते ब्राह्मण समाज के लोग।

जयपुर/बीकानेर (अभय इंडिया न्यूज)। सर्व ब्राह्मण समाज की मांग पर को देखते हुए मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने परशुराम जयंती के उपलक्ष्य में 18 अप्रैल को पूरे राज्य में सार्वजनिक अवकाश घोषित किया है। यह अवकाश अब प्रतिवर्ष परशुराम जयंती पर रहेगा। वहीं बीकानेर में अवकाश की घोषणा पर ब्राह्मण समाज के लोगों ने गुलाल उड़ा कर खुशी का इजहार किया तथा मिठाइयां बांटी।

उल्लेखनीय है कि प्रदेश के सर्व ब्राह्मण समाज की लम्बे समय से परशुराम जयंती पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने की मांग थी। इस संबंध में एक प्रतिनिधिमंडल भी कुछ समय पहले मुख्यमंत्री से मिला था। परशुराम जयंती पर घोषित ऐच्छिक अवकाश के स्थान पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने की मांग की थी। राजे ने सर्व ब्राह्मण समाज की भावनाओं का सम्मान करते हुए इस संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिये थे। मुख्यमंत्री के निर्देशों के बाद सामान्य प्रशासन विभाग ने बुधवार को आदेश जारी कर कलेण्डर वर्ष 2018 के घोषित अवकाशों की सूची में संशोधन कर परशुराम जयंती को सार्वजनिक अवकाश घोषित कर दिया।

इधर, बीकानेर में परशुराम जयंती पर सार्वजनिक अवकाश घोषित करने पर बीकानेर ब्राह्मण समाज की ओर से गुलाल उड़ाई और मिठाइयां बांटी। बीकानेर ब्राह्मण समाज के संभागीय संयोजक के. के. शर्मा ने बताया कि अनाज मंडी स्थित सारस्वत एग्रो प्रतिष्ठान पर आयोजित धन्यवाद कार्यक्रम में भगवान परशुराम के तैल चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलन कर महा आरती का आयोजन किया गया। आरती के उपरांत मिठाई बांटकर तथा एक दूसरे के गुलाल लगाकर खुशियां मनाई गई।

सारस्वत कुण्डीय समाज के प्रदेशाध्यक्ष श्यामसुंदर तावनियां ने बताया कि गत दिनों मोती डूंगरी गणेश मंदिर के महंत कैलाश शर्मा, गौड़ सनाढ्य फाउंडेशन के राष्ट्रीय संयोजक अनुराग शर्मा, देवस्थान मंडल अध्यक्ष राज्य मंत्री एस. डी. शर्मा के नेतृत्व में सप्तर्षि मंडल के प्रतिनिधियों ने मुलाकात की थी। इस प्रतिनिधि मंडल में बीकानेर ब्राह्मण समाज से के. के. शर्मा, श्यामसुंदर तावनियां, देवेंद्र सारस्वत तथा श्यामसुंदर आसोपा भी सम्मिलित हुए। सारस्वत महासभा प्रदेश महामंत्री देवेन्द्र सारस्वत ने बताया कि भगवान परशुराम जन्मोत्सव पर सार्वजनिक अवकाश की घोषणा कर ब्राह्मण समाज का स्वाभिमान बढाया है।
धन्यवाद कार्यक्रम को पार्षद भगवती प्रसाद गौड़, श्रीछ:न्याति ब्राह्मण महासंघ उपाध्यक्ष गोविंद पारीक, सारस्वत महासभा उपाध्यक्ष हंसराज सारस्वा, गौड़ सनाढ्य फाउंडेशन युवा जिलाध्यक्ष दिनेश शर्मा, सुभाष ओझा, सुनील तावनियां, श्रीसर्व ब्राह्मण महासभा युवा अध्यक्ष लालचंद सारस्वा, जयनारायण व्यास, श्रीछ:न्याति ब्राह्मण महासंघ के मंत्री रुपचंद सारस्वत, गोवर्धन चौमाल, तुलसीराम सारस्वत, बलदेव राज तथा मनीराम सारस्वा मालासर ने संबोधित किया। महा आरती में छगनलाल सारस्वत, कन्हैयालाल पारीक, ओमप्रकाश सारस्वत, शिवरतन सारस्वा, ललित शर्मा, सत्यनारायण सारस्वत, मालचंद तावनियां तथा ओमप्रकाश सारस्वत पातलीसर सहित बड़ी संख्या में ब्राह्मण समाज के गणमान्य लोग उपस्थित थे।

इसी तरह विप्र फाउंडेशन की महिला प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष सुनीता गौड़ ने परशुराम जयंती पर अवकाश घोषित करने पर मुख्यमंत्री और राज्यपाल को पत्र भेजकर आभार जताया है। गौड़ ने कहा है कि गत पांच वर्षो से लगातार राज्यपाल एवं मुख्यमंत्री से ब्राह्मण समाज के प्रतिनिधि मंडल के साथ भगवान परशुराम जन्मोत्सव के दिन सरकारी अवकाश घोषित करने की मांग की जा रही थी। इस संबंध में कई बार कलक्टर के माध्यम से मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन भी दिए गए।