Thursday, July 18, 2024
Hometrendingनोखा मूल की भूमिका की दोहरी सफलता, नीट के बाद अब जेईई...

नोखा मूल की भूमिका की दोहरी सफलता, नीट के बाद अब जेईई एडवांस में करिश्‍मा

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

बीकानेर Abhayindia.com बीकानेर के नोखा मूल की छात्रा भूमिका बजाज ने नीट के बाद अब जेईई एडवांस में अच्‍छी रैंक हासिल कर दोहरा करिश्‍मा दिखा दिया है। भूमिका ने पिता मनोज बजाज (निदेशक, मैनेजमेंट सिंथेसिस) के सानिध्य से बेहतरीन शैक्षणिक वातावरण पाया और मां पदमा बजाज (डिप्‍टी डायरेक्‍टर, सिंथेसिस) के कारण समय का अनुशासन सीखा। सिंथेसिस में 8वीं क्लाश से प्रीफाऊन्डेशन के समय से ही अपने सुनहरे भविष्य की छाप छोड़नी शुरू कर दी थी। विभिन्न ओलम्पियाड में सलेक्शन से अपनी प्रतिभा में निखार शुरू कर दिया था। दसवीं के बाद सब्जेक्ट चयन में थोडा़ असमंजस हो रहा था कि बायोलॉजी लेवे या मैथ्स। चूंकि दोनों में समान रुझान था अतः अंतिम निर्णय लिया कि दोनों ही विषय ले लेते हैं।

भूमिका ने सीबीएसई बोर्ड की नयी फैसिलिटी के कारण वर्कलोड को थोडा़ कम करने के लिए हिंदी के समानांतर फिजिकल एजुकेशन की जगह मैथ्स को ले लिया। बारहवीं में 95.6% अंक प्राप्त किये। नीट यूजी में 700/720 अंकों के साथ 2259 आल इंडिया रैंक और आज घोषित जेईई एडवांस की परीक्षा में 9288 आल इंडिया रैंक हासिल की है। सिंथेसियन् सुरुचि कुमारी के बाद काफी वर्षों बाद भूमिका ने इस करिश्मे को पुनः दोहरा दिया है। अपनी सफलता पर भूमिका बताती है कि यह बेहतरीन काम सिंथेसिस के गुरुजनों के बिना संभव नहीं था।

आपको बता दें कि इस दोहरी सफलता के बाद भूमिका बजाज ने अन्य प्रतिभाशाली विधार्थियों के लिए एक नया रास्ता खोला है कि यदि आप दोनों विषय लेते हैं और इंस्टीट्यूट के सिस्टम को फोलो करते हैं तो 12वीं के साथ भी बेहतरीन आल इंडिया रैंक हासिल की जा सकती है।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
- Advertisment -

Most Popular