अठम तपस्वियों का किया अभिनंदन, कोचर व नाहर का किया सम्मान

बीकानेर Abhayindia.com श्री जैन श्वेताम्बर तपागच्छ श्रीसंघ के तत्वावधान में बुधवार को रांगड़ी चौक स्थित पौषधशाला में सामूहिक अठम तपस्वियों का अभिनन्दन किया गया।

संघ के अध्यक्ष रिखबचंद सिरोहिया ने बताया कि अठम के तपस्वियों राजेन्द्र-मधु जैन बद्धाणी, शारदा कोचर, सोनू सिरोहिया, राजश्री कोचर, निधि कोचर, आंचल कोचर, शर्मिला बैद, शशि कोचर का रोशनलाल सुरेन्द्र कोचर परिवार द्वारा बहुमान किया गया। संघ द्वारा विलिपुरम चेन्नई से बीकानेर पधारे राजेन्द्र नाहर का तथा जयपुर तपागच्छ श्री संघ के नरेन्द्र कोचर का अभिनंदन किया गया।

जितेन्द्र कोचर ने बताया कि बुधवार की संघपूजा का लाभ राजेन्द्र नाहर खजवाना तथा मूलचंद माणकचंद राजेन्द्र कुमार कोचर परिवार द्वारा लिया गया। प्रवचन की शृंखला में साध्वी सौम्यदर्शना ने कहा कि मित्र वही जो कल्याण का मार्ग दिखाए, धर्म की बात करे। संसार में हर पल परिवर्तन होता है। शरीर भी बदलता रहता है, जो आज है वह कल नहीं रहेगा फिर भी शरीर के सुख के लिए छल-कपट करते रहना मूर्खता है। हर सुख के साथ दुख रहता ही है। इससे पूर्व साध्वी अक्षयदर्शना ने कहा कि परमात्मा ने प्रतिदिन प्रतिक्रमण करने को कहा है। प्रतिक्रमण कर हम अपने पापों का प्रायश्चित कर सकते हैं।