Sunday, March 3, 2024
Hometrendingआतंकी मसूद अजहर के छोटे भाई अम्मार का कबूलनामा, बालाकोट में ऐसी...

आतंकी मसूद अजहर के छोटे भाई अम्मार का कबूलनामा, बालाकोट में ऐसी खाई मार…

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

पाकिस्तान की सरजमीं पर पल रहे आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद की तरफ से यह स्वीकारोक्ति आ गई है कि भारतीय वायु सेना की तरफ से बालाकोट में जो हमला किया गया था उससे उनका एक बड़ा ट्रेनिंग सेंटर नष्ट हो गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह स्वीकारोक्ति जैश के सरगना मसूद अजहर के छोटे भाई अम्मार ने की है जो खुद ही जैश की जिहाद संबंधी गतिविधियों से जुड़ा हुआ है। बालाकोट स्थित जिहाद की जो फैक्ट्री चलाई जा रही थी उसमें अम्मार की अहम भूमिका होती थी। साथ ही वह जैश के तमाम आतंकी प्रशिक्षण केंद्रों में कश्मीर के नाम पर युवकों में हिंदुस्तान के प्रति नफरत भरने का काम भी करता है।

पाकिस्तान में अभिनंदन का हुआ मानसिक उत्पीडऩ, अब भारत…

आपको बता दें कि भारतीय वायु सेना ने बालाकोट पर 26 फरवरी को सुबह में हमला किया था। उसके 2 दिन बाद 28 फरवरी को पेशावर में एक जलसे में अम्मार ने अपना दुखड़ा रोया है। भारतीय खुफिया एजेंसियों को अम्मार के इस भाषण को उन बलूची लोगों ने उपलब्ध कराया है, जो वहां मौजूद थे। इसमें उसने भारतीय वायु सेना के हमले को दुश्मन की तरफ से ऐलान-ए-जंग करार दिया है।

उसने यह भी कहा कि भारतीय वायु सेना ने जैश के हेडक्वार्टर पर हमला नहीं किया, बल्कि यह हमला उस जगह पर किया गया है जहां जैश के अधिकारियों की बैठक हुआ करती थी और जिहाद की तालीम दी जाती थी। उसने यह भी पोल खोल दी है कि उस केंद्र पर जिहादी कश्मीर के नाम पर ही इकठ्ठे होते थे। उसके भाषण से साफ है कि कश्मीर के हालात को लेकर बालाकोट स्थित आतंकी प्रशिक्षण केंद्र में वहां आए लोगों को खूब भड़काया जाता था।

भारत के प्रति बेहद नफरत भरे भाषण में उसने यह भी धमकी दी है कि अब चींटी के पर निकल आए हैं और यह बालाकोट तक पहुंच गई है। ऐसे में अब इस चींटी को अपने पैरों तले कुचलने का वक्त आ गया है। इसके अलावा भी उसने भारत को सीधे तौर पर चुनौती देने वाले अंदाज में कहा है कि अब जैश के कारकून हिंदुस्तान में घुस कर उनके सैनिकों पर हमला करेंगे और लाल किले पर अपना झंडा लहराएंगे।

…इस तरह जोधपुर और बीकानेर से जुड़ा हैं अभिनंदन का नाता

Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
- Advertisment -

Most Popular