Tuesday, April 16, 2024
Hometrendingनर्सिंग एवं पैरामेडिकल भर्ती-2023 : दंत तकनीशियन एवं नेत्र सहायक की अंतिम...

नर्सिंग एवं पैरामेडिकल भर्ती-2023 : दंत तकनीशियन एवं नेत्र सहायक की अंतिम चयन सूची जारी

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad

जयपुर Abhayindia.com राजस्‍थान में युवाओं के भविष्य के दृष्टिगत चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में 20 हजार 500 से अधिक पदों पर नर्सिंग एवं पैरामेडिकल भर्ती-2023 का काम तेजी से जारी है। इसी कड़ी में रविवार को विभाग ने दंत तकनीशियन कैडर के 67 एवं नेत्र सहायक के 109 अभ्यर्थियों की अंतिम चयन सूचियां जारी कर दीं।

चिकित्सा मंत्री गजेन्द्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने नर्सिंग एवं पैरामेडिकल भर्ती-2023 को जारी रखने की सहमति दी थी। उसके बाद विभाग ने पूरी तत्परता और गंभीरता के साथ इस भर्ती के काम को गति दी और इसी का परिणाम है कि आज दंत तकनीशियन और नेत्र सहायक के 176 पदों के लिए अंतिम चयन सूचियां जारी कर दी गई है। इन सूचियों में 33 अभ्यर्थियों का परिणाम अन्य राज्यों से उनकी अंकतालिकाओं के सत्यापन के कारण रोका गया है। विभाग ने दस्तावेज सत्यापन के लिए संबंधित राज्यों के लिए टीमें रवाना कर दी हैं। सत्यापन होने के बाद जल्द ही इनकी अंतिम चयन सूचियां भी जारी की जाएंगी।

अतिरिक्त मुख्य सचिव, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, शुभ्रा सिंह ने बताया कि चिकित्सा मंत्री ने प्रक्रियाधीन भर्तियों की अंतिम चयन सूचियां शीघ्र जारी करने के निर्देश दिए थे। इसकी पालना में  विभाग में प्रक्रियाधीन 8 कैडरों की भर्ती में से नेत्र सहायक एवं दंत तकनीशियन की अंतिम चयन सूची आज सीफू द्वारा जारी कर दी गई है। ईसीजी कैडर की सूची भी जल्द जारी कर दी जाएगी।

सिंह ने बताया कि टीमें भेजकर दस्तावेज सत्यापन कराने के पीछे राज्य सरकार की मंशा है कि फर्जी दस्तावेज के आधार पर एक भी अभ्यर्थी का चयन नहीं हो। उन्होंने बताया कि शेष कैडरों की अंतिम चयन सूचियां तैयार करने का काम भी तेजी से किया जा रहा है। इसके लिए सीफू में टीमों का विगत दिनों गठन कर दिया गया था। महाधिवक्ता की राय के अनुरूप भर्ती प्रक्रिया पर संवेदनशीलता, पारदर्शिता एवं मुस्तैदी के साथ काम किया जा रहा है।

आपको बता दें कि नर्सिंग एवं पैरामेडिकल की इस बहुप्रतीक्षित भर्ती के काम को गति मिलने से युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। साथ ही, भर्ती प्रक्रिया के पूर्ण होने से प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाओं का ढांचा मजबूत होगा एवं गांव-ढाणी तक बेहतरीन स्वास्थ्य सेवाएं सुगमतापूर्वक मिल सकेंगी।

Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad Ad
Ad
- Advertisment -

Most Popular